अपना शहर चुनें

States

SBI के योनो मर्चेंट ऐप से 2 करोड़ यूजर्स को होगा फायदा, जानें कैसे करेगा काम

एसबीआई जल्‍द योनो मर्चेंट ऐप पेश करने वाला है.
एसबीआई जल्‍द योनो मर्चेंट ऐप पेश करने वाला है.

देश का सबसे बड़ा कर्जदाता स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) अगले दो साल में पूरे देश में डिजिटल पेमेंट (Digital Payment) का तेजी से विस्तार करने की योजना पर काम कर रहा है. एसबीआई की सहयोगी एसबीआई पेमेंट्स (SBI Payments) कारोबारियों को कम लागत वाला डिजिटल पेमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध कराने के लिए योनो मर्चेंट ऐप (YONO Merchant App) पेश करने वाला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 6:58 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश के सबसे बड़े कर्जदाता स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) की सहयोगी कंपनी एसबीआई पेमेंट्स (SBI Payments) खुदरा और ऑद्योगिक क्षेत्र के करोड़ों कारोबारियों की मदद के लिए जल्‍द ही योनो मर्चेंट ऐप (SBI YONO Merchant App) पेश करने वाली है. एसबीआई के नए प्‍लेटफॉर्म की मदद से कारोबारी मोबाइल आधारित तकनीक के जरिये डिजिटल पेमेंट्स ले सकेंगे. इससे जुड़े इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को मजबूत करने के लिए एसबीआई पेमेंट्स ने वीजा (VISA) से हाथ मिलाया है. एसबीआई ने कहा कि ये सुविधा हाल में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की घोषणा के आधार पर शुरू की जा रही है.

पेमेंट्स स्‍वीकारने के साथ ही मर्चेंट्स को मिलेंगी कई सुविधाएं
एसबीआई ने कहा, 'आरबीआई ने हाल में कहा था कि देश के अंदरूनी हिस्‍सों में प्‍वाइंट ऑफ सेल (POS) इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर उपलब्‍ध कराने और प्रोत्‍साहित करने के लिए पेमेंट्स इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर डेवलपमेंट फंड (PIDF) बनाया जा रहा है.' इसे ध्‍यान में रखते हुए अब एसबीआई ने योनो मर्चेंट ऐप को लॉन्‍च करने की योजना पर काम में तेजी ला दी है. इस ऐप की मदद से कारोबारी ना सिर्फ पेमेंट्स स्‍वीकार कर पाएंगे बल्कि लेनदेन का ब्‍योरा निकालने, रिपोर्ट बनाने जैसे काम भी आसानी से कर पाएंगे. वहीं, कारोबारी लेनदेन को प्रॉसेस करने के लिए योनो मर्चेंट ऐप के जरिये जानकारी अपलोड भी कर पाएंगे.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: गोल्‍ड के दाम में तेजी, चांदी की कीमतों में भी इजाफा, फटाफट देखें लेटेस्‍ट भाव
पूरी तरह लागू होने पर 20 करोड़ कारोबारियों को फायदा


देश के सबसे बड़े कर्जदाता बैंक ने अगले 2 साल में कम कीमत वाले पेमेंट्स एसेप्‍टेंस इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को पहुंचाने की योजना बनाई है. बैंक का दावा है कि इससे देश के 20 करोड़ कारोबारियों को फायदा मिलेगा. एसबीआई का कहना है कि अब ज्‍यदातर उपभोक्‍ता और कारोबारी ऑनलाइन पेमेंट्स को तरजीह दे रहे हैं. ऐसे में हम डिजिटल पेमेंट्स की सुविधा को जारी रखने के लिए बिना रुकावट वाली सुरक्षित सुविधा सुनिश्चित कराएंगे. तीन साल पहले शुरू हुए योनो प्‍लेटफॉर्म के इस समय 3.58 करोड़ रजिस्‍टर्ड यूजर्स हैं. एसबीआई के चेयरमैन दिनेश कुमार खारा ने कहा कि योनो मर्चेंट इसी का विस्‍तार होगा. इसे हमारे कारोबारी यूजर्स की सुविधा के लिए पेश किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- बाजार में बड़ी गिरावट, Sensex 1145 अंक टूटा, निवेशकों को हुआ 3.3 लाख करोड़ का नुकसान

मर्चेंट्स के मोबाइल फोन्‍स को पीओएस में करेंगे अपग्रेड
खारा ने कहा कि अगले 2-3 साल के भीतर हम अपने करोड़ों मर्चेंट्स के मोबाइल फोन्‍स को पीओएस डिवाइस में अपग्रेड कर देंगे. यही नहीं, उन्‍हें एक क्लिक पर बैंक की दूसरी सुविधाएं भी मिलेंगी. हम 2-3 साल के भीतर अपने मर्चेंट टच प्‍वाइंट्स को बढ़ाकर 50 लाख से 1 करोड़ तक पहुंचाने का लक्ष्‍य लेकर चल रहे हैं. एसबीआई पेमेंट्स के एमडी व सीईओ गिरी कुमार नायर ने कहा कि योनो एसबीआई मर्चेंट ऐप खुदरा और एंटरप्राइज मर्चेंट्स को बेहतर अनुभव उपलब्‍ध कराएगा. योनो मर्चेंट ऐप देश में कारोबारियों के डिजिटलीकरण को बढ़ावा देगा. एसबीआई ने कहा कि यह उत्तर-पूर्वी शहरों समेत टियर तीन और चार शहरों में डिजिटल पेमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर का विस्तार करने में मददगार होगा. योनो मर्चेंट ऐप एक सॉफ्ट पीओएस (Point of Sale) सॉल्यूशन के रूप में कार्य करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज