SEBI ने कोरोना महामारी के बीच कंपनियों को दी बड़ी राहत! चौथी तिमाही के नतीजे घोषित करने के लिए दी 45 दिन की छूट

SEBI ने कोरोना की दूसरी लहर के बीच कंपनियों को चौथी तिमाही के नतीजों की जानकारी देने के लिए अतिरिक्‍त समय दिया है.

SEBI ने कोरोना की दूसरी लहर के बीच कंपनियों को चौथी तिमाही के नतीजों की जानकारी देने के लिए अतिरिक्‍त समय दिया है.

पूंजी बाजार नियामक सिक्‍योरिटीज एंड एक्‍सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) ने कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच कंपनियों को राहत देते हुए अनुपालन (Compliance) जरूरतों को पूरा करने का समय बढ़ा दिया है. इसके तहत कंपनियों को चौथी तिमाही के नतीजे (Q4 Results) घोषित करने के लिए डेढ़ महीने का अतिरिक्‍त समय दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2021, 9:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पूंजी बाजार नियामक सिक्‍योरिटीज एंड एक्‍सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) ने कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों के बीच कंपनियों को बड़ी राहत देते हुए अनुपालन (Compliance) जरूरतों को पूरा करने का समय बढ़ा दिया है. इसके तहत कंपनियों को चौथी तिमाही (Q4 Results) के नतीजों की जानकारी देने के लिए 45 दिन की छूट दी गई है. साथ ही सालाना परिणाम (Annual Results) की घोषणा के लिए एक महीने अतिरिक्त समय दिया गया है. सेबी को कोविड महामारी और उसकी रोकथाम के लिए विभिन्‍न राज्यों में लगाई गई पाबंदियों के कारण सूचीबद्ध इकाइयों व उद्योग मंडलों से विभिन्‍न सूचनाओं की जानकरी देने तथा कुछ अनुपालन बाध्यताओं को पूरा करने की समयसीमा बढ़ाने के अनुरोध मिले थे. इसके बाद बोर्ड ने ये फैसला लिया है.

वित्‍त वर्ष 2021 के नतीजे घोषित करने का समय 30 जून तक बढ़ाया

सेबी ने सर्कुलर जारी कर कहा है कि कंपनियों को मार्च 2021 तिमाही के नतीजों की जानकारी देने के लिए 45 दिन यानी 30 जून, 2021 तक का समय दिया गया है. नियमों के तहत कंपनियों को तिमाही खत्‍म होने के 45 दिन के भीतर वित्तीय नतीजों की घोषणा करनी होती है. वहीं, पूरे वित्त वर्ष 2020-21 के वित्तीय नतीजों की जानकारी देने के लिए समय सीमा 30 जून तक बढ़ा दी गई है. सामान्य तौर पर सूचीबद्ध कंपनियों को सालाना परिणाम की घोषणा वित्त वर्ष समाप्त होने के 60 दिन के भीतर करनी होती है. साथ ही कंपनी कानून के तहत रिकॉर्ड से जुड़ी जानकारी देने की अवधि को भी 30 जून तक बढ़ा दिया गया है.

ये भी पढ़ें- ICICI Bank ने खुदरा कारोबारियों के लिए की बड़ी घोषणा! बिना पेपरवर्क मिलेगी 25 लाख तक के ओवरड्राफ्ट की सुविधा
फंड के इस्‍तेमाल में खामियों की जानकारी देने का समय भी बढ़ाया

बाजार नियामक ने वित्तीय नतीजों के अलावा कंपनियों को फंड के इस्‍तेमाल में खामियों या अंतर की सूचना देने के लिए 45 दिन का अतिरिक्त समय दिया है. वहीं, सालाना रिपोर्ट के मामले में एक महीना अतिरिक्त दिया गया है. सेबी ने एक अन्य सर्कुलर में उन कंपनियों के लिए भी अनुपालन नियमों में छूट दी है, जिन्होंने अपने बॉन्‍ड या कर्ज प्रतिभूतियों को सूचीबद्ध किया है. इसके तहत नियामक ने गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर (NCD), गैर-परिवर्तनीय विमोच्य तरजीही शेयर (NCRPS) और वाणिज्यिक पत्र के बारे में छमाही वित्तीय परिणाम की जानकारी देने की समयसीमा 45 दिन बढ़ा दी है. सालाना आय के बारे में सूचना देने के लिए 30 जून तक का समय दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज