अपना शहर चुनें

States

शेयर बाजार में पैसा लगाने वालों के लिए बड़ी खबर, आज से बदल गए नियम, जानिए सबकुछ

आज से शेयर बाजार में कारोबार के बदल गए नियम
आज से शेयर बाजार में कारोबार के बदल गए नियम

मार्केट रेगुलेटर सेबी ने अपनी बोर्ड बैठक से पहले एक बड़ा फैसला लिया है. कैश मार्केट में पैसा लगाने वाले निवेशकों को SEBI ने राहत देने का फैसला लिया है. सेबी ने कैश मार्केट के नॉन F&O शेयरों के लिए बढ़ाया हुआ मार्जिन वापस लेने का फैसला किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2020, 10:34 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: मार्केट रेगुलेटर सेबी ने अपनी बोर्ड बैठक से पहले एक बड़ा फैसला लिया है. कैश मार्केट में पैसा लगाने वाले निवेशकों को SEBI ने राहत देने का फैसला लिया है. सेबी ने कैश मार्केट के नॉन F&O शेयरों के लिए बढ़ाया हुआ मार्जिन वापस लेने का फैसला किया है. देशभर में फैले कोरोना संकट के बीच मार्च में जब बाजार पर बहुत ज्यादा प्रेशर था उस वक्त सेबी ने कैश मार्केट के लिए इंडिविजुअल स्टॉक्स पर मार्जिन बढ़ाने का फैसला लिया था. फिलहाल इन सभी नियमों को अब रोल बैक कर लिया गया है. हालांकि कुछ बढ़ोतरी जो वायदा कारोबार के लिए हुई वह अभी अपनी जगह पर ही बरकरार रहेगी.

20 से 40 फीसदी तक मार्जिन का फैसला वापस लिया
CNBC आवाज ने ट्वीट करके इस बारे में जानकारी दी है. मार्केट रेगुलेटर SEBI ने कैश शेयरों में मार्जिन नियमों में राहत दी है. बता दें 20 से 40 प्रतिशत तक मार्जिन का फैसला वापस लिया है. वायदा बैन पर भी थोड़ी नरमी दिखाई है. अब शेयर 95 प्रतिशत पोजिशन पर ही बैन में जाएगा.

यह भी पढ़ें: शेयर बाजार में कमाई करने के लिए ऐसे खोले खास खाता, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें




अब बदल जाएगा ट्रेडिंग का नियम
आपको बता दें मार्जिन घटाने का मतलब है कि अब लोग ज्यादा ट्रेड कर पाएंगे उनकी लिमिट भी थोड़ी बढ़ जाएंगी. इसके अलावा मिडकैप और स्मॉलकैप में लिक्विडिटी भी काफी बेहतर होगी.

आज से बदल गए नियम
कैश शेयरों के लिए बढ़ाए मार्जिन पर SEBI ने बड़ा फैसला लेते हुए कैश मार्केट के नॉन F&O के लिए मार्जिन हटाया है. ये फैसला 26 नवंबर की क्लोजिंग से लागू होगा. ये मार्जिन 20 मार्च को बढ़ाया था जिसके तहत कई चरणों में 40 प्रतिशत तक मार्जिन लगा था. इसमें 20 प्रतिशत सर्किट वाले शेयरों पर ज्यादा मार्जिन लगा था लेकिन अब मार्केट फीडबैक के बाद सेबी ने ये फैसला लिया.

आपको बता दें सेबी के नए फैसले के बाद से F&O शेयरों में वायदा बैन के नियमों में थोड़ी राहत मिलेगी. इसके अलावा 95 पोजिशन पर ही शेयर बैन में रहेगा. फिलहाल अभी 5 दिन में 15 प्रतिशत चढ़ने पर 50 प्रतिशत पोजिशन पर ही बैन में जाता है. इसके अलावा F&O में डायनेमिक प्राइसिंग लागू रहेगी और सर्किट पर 15 मिनट का कूलिंग ऑफ रहेगा.

ओवरऑल मार्जिन में नहीं होगा कोई बदलाव
बता दें एक अलग प्रक्रिया के तहत जो ओवरऑल मार्जिन कलेक्ट की जानी है उसको 1 दिसंबर से बढ़ाया जाएगा. यह सेबी का एक अलग सर्कुलर तो वो अपनी जगह पर कायम है उसमें कोई बदलाव नहीं होगा. इसका इंपेक्ट आप कैश और वायदा बाजार में अपनी जगह पर देखेंगे.

यह भी पढ़ें: PM Kisan: 1 दिसंबर से आपके खाते में पैसा ट्रांसफर करेगी सरकार, इस तरह चेक करें लिस्ट में अपना नाम

निवेशकों को बता दें मार्च में देश में फैले कोरोना संकट की वजह से सेबी ने बाजार में जो टैम्प्रेरी बदलाव किया था उसमें राहत दी है. कोरोना की वजह से बाजार में काफी वॉलेटिलिटी देखने को मिली थी, जिसकी वजह से सेबी ने कैश मार्केट के लिए मार्जिन बढ़ा दिए थे. फिलहाल इस फैसले को अब वापस ले लिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज