लाइव टीवी

झटका! अक्टूबर में लगातार दूसरे महीने सर्विस PMI गिरा, ये है वजह

भाषा
Updated: November 5, 2019, 8:02 PM IST
झटका! अक्टूबर में लगातार दूसरे महीने सर्विस PMI गिरा, ये है वजह
सर्विस सेक्टर में अक्टूबर में लगातार दूसरे महीने गतिविधियों में देखी गयी गिरावट

आईएचएस मार्किट इंडिया सर्विसेस बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स (PMI-Service) अक्टूबर में 49.2 अंक पर रहा. पीएमआई का 50 अंक से नीचे रहना गतिविधियों में गिरावट और 50 अंक से ऊपर रहना गतिविधियों में विस्तार को इंगित करता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. चुनौतीपूर्ण आर्थिक हालात के बीच देश के सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में लगातार दूसरे महीने अक्टूबर में भी गिरावट दर्ज की गयी है. एक मासिक सर्वेक्षण में यह बात सामने आयी है. आईएचएस मार्किट इंडिया सर्विसेस बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स (PMI-Service) अक्टूबर में 49.2 अंक पर रहा. यह कंपनियों के परचेजिंग मैनेजर के बीच किया जाने वाला मासिक सर्वेक्षण है. हालांकि पिछले माह के आधार पर गतिविधियों में मामूली बढ़त दर्ज की गयी है क्योंकि सितंबर में पीएमआई-सेवा 48.7 अंक था. पीएमआई का 50 अंक से नीचे रहना गतिविधियों में गिरावट और 50 अंक से ऊपर रहना गतिविधियों में विस्तार को इंगित करता है.

अक्टूबर में लगातार दूसरे माह गिरावट
मंगलवार को जारी पीएमआई-सेवा रिपोर्ट में अक्टूबर में लगातार दूसरे माह गिरावट देखी गयी है. वित्त वर्ष 2017-18 की दूसरी तिमाही के बाद यह पहला ऐसा मौका है जब इसमें लगातार दो माह तक गिरावट देखी गयी है. रिपोर्ट के अनुसार सितंबर में भी इसमें गिरावट देखी गयी थी. कंपनियों को नए ठेके मिलने का काम स्थिर रहा, वहीं रोजगार सृजन में भी नरमी देखी गयी. इसके अलावा चुनौतीपूर्ण आर्थिक हालातों ने कारोबारों की धारणा भी प्रभावित की और यह पिछले तीन साल में सबसे निचले स्तर के करीब है.

ये भी पढ़ें: रीयल्टी सेक्टर को मिल सकता बूस्टर डोज, वित्त मंत्री ने दिए संकेत

अक्टूबर के आंकड़ों का उदाहरण देते हुए रिपोर्ट में कहा गया है कि यह घरेलू बाजार में कमजोर मांग की ओर इशारा करता है. हालांकि निर्यातकों की अंतर्राष्ट्रीय बिक्री बढ़ी है. जबकि विदेशी बाजारों में मांग की तेजी सीमित रही और यह पिछले चार माह में सबसे कम है.

रिपोर्ट की लेखिका और आईएचएस मार्किट में प्रधान अर्थशास्त्री पॉलियाना डि लामा ने कहा कि यह चिंताजनक है कि भारत का सेवा क्षेत्र संकुचन के चक्र में फंस गया है. उन्होंने कहा कि इससे भी ज्यादा चिंता की बात यह है कि कंपनियों में भविष्य की उम्मीदों में सुधार को लेकर निराशा देखी गयी है. इससे निवेश, रोजगार सृजन इत्यादि को लेकर कारोबारी धारणा प्रभावित हुई है.

ये भी पढ़ें: 
Loading...

बड़ी राहत! PMC बैंक ग्राहक अब निकाल सकेंगे इतने रुपये तक का कैश
अब किसान खुद कर सकेंगे 6000 रुपए पाने के लिए रजिस्ट्रेशन, बस करना होगा ये काम!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 7:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...