Home /News /business /

SEZ से निर्यात 2.15 लाख करोड़ रुपये पर पहुंचा, जून 2021 तिमाही में हुई 41 फीसदी से ज्‍यादा बढ़ोतरी

SEZ से निर्यात 2.15 लाख करोड़ रुपये पर पहुंचा, जून 2021 तिमाही में हुई 41 फीसदी से ज्‍यादा बढ़ोतरी

देश के स्‍पेशल इकोनॉमिक जोंस से निर्यात में बढ़ोतरी हुई है.

देश के स्‍पेशल इकोनॉमिक जोंस से निर्यात में बढ़ोतरी हुई है.

केंद्र सरकार ने 427 स्‍पेशल इकोनॉमिक जोन (SEZ) को मंजूरी दी है. इनमें 267 सेज काम कर रहे हैं. इन सेज में 30 जून 2021 तक 6.25 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया गया है. इनमें कुल 24.47 लाख लोग वहां काम (Employees) कर रहे हैं.

    नई दिल्ली. औषधि, इंजीनियरिंग और रत्‍न व आभूषण क्षेत्र के निर्यात में अच्छी वृद्धि के कारण वित्त वर्ष 2021-22 की अप्रैल-जून तिमाही में विशेष आर्थिक क्षेत्रों से निर्यात (SEZ Export) लगभग 41.5 फीसदी बढ़कर 2.15 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया. स्‍पेशल इकोनॉमिक जोन देश के कुल निर्यात में करीब एक-चौथाई योगदान देते हैं. वाणिज्य मंत्रालय (Ministry of Commerce) के आंकड़ों के अनुसार, इन क्षेत्रों से निर्यात वित्‍त वर्ष 2020-21 में घटकर 7.56 लाख करोड़ रुपये रह गया था, जो वित्‍त वर्ष 2019-20 में 7.97 लाख करोड़ रुपये रहा था.

    सेज में 24 लाख से ज्‍यादा लोगों को मिला हुआ है रोजगार
    केंद्र सरकार की ओर से 427 स्‍पेशल इकोनॉमिक जोन को मंजूरी दी गई है. इनमें से 30 जून 2021 तक 267 सेज काम कर रहे थे. आंकड़ों से पता चला है कि 30 जून तक इन क्षेत्रों में 6.25 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया गया है. इनमें कुल 24.47 लाख लोग वहां काम कर रहे हैं. निर्यात इकाई और विशेष आर्थिक क्षेत्र निर्यात संवर्धन परिषद (EPCES) इन क्षेत्रों से निर्यात को बढ़ावा देने के लिए वाणिज्य मंत्रालय के अधीन काम करने वाला शीर्ष निकाय है.

    ये भी पढ़ें- Wipro ने दी खुशखबरी! कर्मचारियों के वेतन में इसी हफ्ते से लागू होगी बढ़ोतरी, साल में दूसरी बार बढ़ाई Salary

    अमेरिका समेत इन देशों को सेज से किया जाता है निर्यात
    ईपीसीईएस ने भुवनेश सेठ को अपना नया अध्यक्ष और श्रीकांत बडिगा को नया उपाध्यक्ष नियुक्त करने की घोषणा की है. सेठ ने कहा कि परिषद वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान देश के निर्यात को 400 अरब डॉलर तक ले जाने की दिशा में काम करेगी. स्‍पेशल इकोनॉमिक जोन के प्रमुख निर्यात स्थलों में संयुक्त अरब अमीरात (UAE), अमेरिका (America), ब्रिटेन (Britain), ऑस्ट्रेलिया और सिंगापुर (Singapore) शामिल हैं.

    Tags: Business news in hindi, Employment opportunities, Indian export, Manufacturing and exports

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर