होम /न्यूज /व्यवसाय /634 अंक लुढ़का सेंसेक्स, निफ्टी भी 11500 के नीचे फिसला, निवेशकों के डूबे 2.37 लाख करोड़ रुपये

634 अंक लुढ़का सेंसेक्स, निफ्टी भी 11500 के नीचे फिसला, निवेशकों के डूबे 2.37 लाख करोड़ रुपये

वैश्विक बाजार के बाद घेरलू शेयर बाजार में भी गिरावट दर्ज की गई.

वैश्विक बाजार के बाद घेरलू शेयर बाजार में भी गिरावट दर्ज की गई.

Share Market Update: शुक्रवार को दिनभर के कारोबार के बाद BSE Sensex 634 अंक लुढ़ककर 38,357 अंक पर बंद हुआ. NSE निफ्टी भ ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    मुबई. सप्‍ताह के अंतिम कारोबारी दिन घरेलू शेयर बाजार (Share Market) में गिरावट देखने को मिली. दिनभर के कारोबार के बाद बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज (BSE) पर सेंसेक्स 600 से ज्यादा ​अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ. शुक्रवार को बैंकिंग, फाइनेंशियल और मेटल स्टॉक्स में सबसे ज्यादा बिकवाली देखने को मिली. इसके बाद निवेशकों को करीब 2,36,937.69 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ. 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स BSE सेंसेक्स (Sensex) 634 अंक लुढ़ककर 38,357 अंक पर बंद हुआ. जबकि, NSE निफ्टी भी 11,500 के नीचे बंद हुआ.

    सेंसेक्स के 30 में 28 स्टॉक्स लाल निशान पर बंद
    शुक्रवार को सप्ताह के अंतिम कारोबारी दिन एक्सिस बैंक, टाटा स्टील, एनटीपीसी, भारती एयरटेल, एसबीआई और सन फार्मा में सबसे ज्यादा बिकवाली देखने को मिली. इन शेयरों में 3.68 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई. सेंसेक्स में 30 में 28 स्टॉक्स लाल निशान पर बंद हुए. बीएसई सेंसेक्स में केवल मारुति और टीसीएस के शेयरों में 1.96 फीसदी तक की तेजी दर्ज की गई.

    निफ्टी में भी गिरावट
    नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE- National Stock Exchange) की बात करें तो यहां पर निफ्टी पीएसयू बैंक, मेटल बैंक और फाइनेंशियल सर्विसेज के स्टॉक्स में 2.83 फीसदी की​ गिरावट रही. ट्रेडर्स का मानना है बीते दिन वैश्विक बाजार में बड़ी गिरावट के बाद घरेलू बाजार में भी इसका असर देखने को मिला.

    यह भी पढ़ें: कोरोना महामारी के बीच शनिवार को भी खुलेंगे बैंक! राज्य सरकार ने दी अनुमति

    क्यों लुढ़के बैंकिंग स्टॉक्स?
    बीते गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने बैंकों को निर्देश दिया था कि वो उन लोन्स को एनपीए न घोषित करें जो अगस्त महीने के अंत तक स्टैंडर्ड थे. सर्वोच्च न्यायालय ने कहा था कि बैंकों को अगले आदेश तक इसका पालन करना होगा. इसके बाद शुक्रवार को बैंकिंग स्टॉक्स में बिकवाली देखने को मिली.

    वैश्विक बाजार में भी गिरावट
    वैश्विक स्तर पर देखें तो गुरुवार को वॉल स्ट्रीट में बड़ी गिरावट देखने को मिली. यहां सबसे ज्यादा गिरावट टेक सेक्टर की कंपनियों में रही. एप्पल के शेयर्स 8 फीसदी तक लुढ़के.

    इस बीच डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार दो दिन की गिरावट के बाद आज इसमें तेजी देखने को मिली. प्रोविजनल तौर पर रुपये का भाव 73.14 प्रति डॉलर पर है. एक्सचेंज आंकड़ों से पता चलता है कि विदेशी संस्थागत निवेशकों ने गुरुवार तक 7.72 करोड़ रुपये के घरेलू इक्विटी खरीदे हैं.

    यह भी पढ़ें: देश में बढ़ रही है बेरोजगारों की फ़ौज! अगस्त महीने में गांवों में इस वजह से नहीं मिली लोगों को नौकरी, बढ़ी बेरोजगारी

    निवेशकों के 2.36 लाख करोड़ रुपये स्वाहा
    इसके साथ ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज की बात करें तो गुरुवार को दिनभर के कारोबार के बीएसई का मार्केट कैप (BSE Market Cap) 1,56,86,990.06 करोड़ रुपये था. लेकिन, शुक्रवार को बिकवाली के बाद अब यह घटकर 1,54,50,052.37 करोड़ रुपये पर आ गया है. इस प्रकार शुक्रवार को दिनभर के कारेाबार के बाद निवेशकों करीब 2,36,937.69 करोड़ रुपये का नुकासान हुआ है.

    Tags: Bombay stock exchange, Business news in hindi, Sensex, Share market, Stock market

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें