सेंसेक्स 155 अंक टूटकर बंद, इन 3 कारणों से बाजार में रही बिकवाली

सेंसेक्स 155 अंक टूटकर बंद, इन 3 कारणों से बाजार में रही बिकवाली
कमजोर ग्लोबल संकेतों से शेयर बाजार में दबाव

सोमवार को शेयर बाजार (Share Market) में शुरुआती बिकवाली रही. हालांकि दिनभर के कारोबार के बाद घरेलू शेयर बाजार हल्की रिकवरी के साथ बंद हुआ. बीएसई सेंसेकस (BSE Sensex) 155 अंक टूटकर 38,667 और निफ्टी 28 अंक टूटकर 11,474 के स्तर पर बंद हुआ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2019, 4:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कमजोर वैश्विक संकतों (Weak Global Cue) और बैंकिंग सेक्टर (Banking Sector) में भारी बिकवाली के बाद सोमवार को सप्ताह के पहले कारोबारी दिन घरेलू शेयर बाजार (Share Market) गिरावट के साथ बंद हुआ. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर दिनभर के कारोबार बाद प्रमुख इंडेक्स सेंसेकस (Sensex) 155 अंक यानी 0.40 फीसदी की गिरावट के बाद 38,667 के स्तर पर बंद हुआ. निफ्टी 50 भी 38 अंक यानी 0.33 फीसदी की गिरावट के बाद 11474 के स्तर पर बंद हुआ. हालांकि, शुरुआती कारोबार में भारी बिकवाली के बाद बाजार में हल्की रिकवरी देखने को मिली.

सोमवार को दिनभर के कारोबार के बाद FMCG, IT, तेल और गैस और टेक सेक्टर्स को छोड़कर अन्य सभी सेक्टर्स लाल निशान पर बंद हुए. मिडकैप व स्मॉलकैप इंडेक्स भी लाल निशान पर बंद हुए.

बढ़त के साथ बंद होने वाले दिग्गज शेयरों में भारती एयरटेल, एचसीएल टेक्नोलॉजी, यूपीएल, आईटीसी, इंफोसिस और टीसीएस के शेयर्स शामिल रहे. वहीं, गिरावट के साथ बंद होने वाले दिग्गज शेयरों में यस बैंक​, इंडसइंड बैंक, एसबीआई, आईसीआईसीआई और सिप्ला के शेयर्स रहे.



ये भी पढ़ें: आज खुल गया IRCTC का IPO, निवेश करना होगा फायदेमंद, एक्सपर्ट्स ने भी दी सलाह
इन ​3 वजहों से बाजार में हावी रही बिकवाली

>> दुनिया की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच चल रहा ट्रेड वॉर (Trade War) अभी भी निर्णायक मोड़ पर नहीं पहुंच सका है. ट्रंप प्रशासन चीन में अमेरिकी पोर्टफोलियो को सीमित करना चाह रहा. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका इस बात पर भी विचार कर रहा कि अमरीकी स्टॉक एक्सचेंज (US Stock Exchange) से चीनी कंपनियों (Chinese Companies) को डिलीस्ट कर दिया जाए. हाल ही डोनाल्ड ट्रंप ने कहा यूनाइटेड नेशन्स (United Nations) में कहा था कि अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड डील लोगों की उम्मीद से पहले पूरा हो जाएगा. ऐसे में 10 अक्टूबर को दोनो देशों के बीच होने वाली बैठक पर सभी की नजर है.

>> ऑटो सेल्स: कल यानी 1 अक्टूबर को सितंबर माह के ऑटोमोबाइल्स सेल्स (Automobile Sales) के आंकड़े जारी होंगे. ऐसे में इसपर निवेशकों की इसपर कड़ी नजर रहेगी. अनुमान लगाया जा रहा है कि सितंबर माह में ओवरऑल सेल्स भी कमजोर ही रहेगी. आज कारोबारी सत्र के दौरान निफ्टी ऑटो इंडेक्स में एक फीसदी की गिरावट रही. सरकार द्वारा कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के बाद कई कंपनियों ने ऑफर देना शुरू कर दिया है.

>> RBI की बैठक से पहले बैकिंग स्टॉक्स में बिकवाली: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की अगली द्वैमासिक मौद्रिक समीक्षा नीति बैठक से पहले निवेशक सतर्क दिखाई दे रहे हैं. उम्मीद की जा रही है कि आरबीआई एक बार फिर नीतिगत ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की कटौती कर सकता है. रिजर्व बैंक ने 2019 में अब तक 110 आधार अंक यानी 1.10 फीसदी की कटौती की है. सोमवार को बाजार में बिकवाली का कारण बैंकिंग शेयरों में गिरावट भी रहा. आरबीआई की बैठक से ठीक पहले निफ्टी पीएसयू बेंक 3.5 फीसदी लुढ़क चुका है. प्राइवेट बैंक इंडेक्स भी 3 फीसदी फिसला है. बैंक निफ्टी भी 2.75 फीसदी लुढ़का है.

ये भी पढ़ें: 
3 अक्टूबर से भारत-22 ETF की चौथी किस्त में कर सकते हैं निवेश, जानिए खास बातें
सऊदी प्रिंस का बड़ा ऐलान, अगर ईरान के खिलाफ नहीं उठाया ये कदम तो आसमान छुएंगे तेल के दाम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज