सेंसेक्स में 1600 अंकों की बड़ी गिरावट, निफ्टी भी 14700 के नीचे, बैंकिंग सेक्टर में बिकवाली

शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजार लाल निशान पर खुला है.

शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजार लाल निशान पर खुला है.

Share Market Today: वैश्विक बाजार में बिकवाली का असर घरेलू शेयर बाजार में भी देखने को मिल रहा है. शुक्रवार को सेंसेक्स 1600 अंक से ज्यादा टूटकर 50 हजार के नीचे कारोबार कर हा है. निफ्टी 50 भी 3 फीसदी से ज्यादा गिरावट के साथ कारोबार कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2021, 12:17 PM IST
  • Share this:
मुंबई: कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत गिरावट के साथ हुई. सप्ताह के अंतिम कारोबारी सत्र में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 900 से ज्यादा अंक लुढ़ककर 50,120 के आसपास खुला. निफ्टी भी 167 अंक यानी 1.77 फीसदी की गिरावट के साथ 14,829 के स्तर पर खुला है. शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 30 के सभी शेयर्स लाल निशान पर कारोबार करते नज़र आए. पीएसयू बैंकों और मेटल सेक्टर में दबाव देखने को मिला.

दोपहर 12 बजे: सेंसेक्स 1600 अंक  यानी 3.14 फीसदी से ज्यादा लुढ़ककर 50 हजार के नीचे पहुंच चुका है. ​फिलहाल यह 49,437 अंक के आसपास कारोबार करते नज़र आ रहा है. निफ्टी में भी आज ​बड़ी बिकवाली देखने को मिल रही है. निफ्टी 464 अंक यानी 3.08 फीसदी की गिरावट के साथ 14600 के आसपास ट्रेड कर रहा है.

हालांकि, निफ्टी फार्मा अभी भी हरे निशान पर कारोबार करते नज़र आ रहा है. यह इंडेक्स 0.24 फीसदी की बढ़त के साथ ट्रेड कर रहा है. बीएसई 500 स्टॉक्स में सबसे खराब प्रदशर्न बैंक ऑफ महाराष्ट्र के शेयरों में देखने को मिल रही है. इसमें 6.66 फीसदी की गिरावट देखने को मिल रही है. इसके अलावा श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस, इंडियन आवेरसीज बैंक और न्यू इंडिया एश्योरेंस कंपनी के शेयरों में गिरावट नज़र आ रहा है



मिडकैप और स्मॉलकैप इंडेक्स में भी गिरावट देखने को मिल रही है. सीएनएक्स मिडकैप भी 172 अंक लुढ़ककर कारोबार कर रहा है. आज शुरुआती कारोबार में सभी सेक्टर्स लाल निशान पर कारोबार कर रहे हैं. इनमें बैंकिंग, कैपिटल गुड्स, रियल एस्टेट, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, फार्मा, एफएमसीजी, आईटी, मेटल, ऑयल एंड गैस, पीएसयू और टेक्स सेक्टर्स हैं. सबसे ज्यादा गिरावट बैंकिंग स्टॉक्स में देखने को मिल रही है.
शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में कोल इंडिया, मारुति सुजुकी इंडिया, नेस्ले, आईओसीएल, डॉ रेड्डीज लैब्स, एचयूएल और सन फार्मा के स्टॉक्स में तेजी देखने को मिल रही है. वहीं, इंडसइंड बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी, टाटा मोटर्स और एचडीएफसी बैंक के स्टॉक्स में गिरावट देखने को मिल रही है.

यह भी पढ़ें: मार्च में शेयर बाजार देगा जबरदस्त कमाई का मौका, IPO की तैयारी में 16 कंपनियां

एशियाई बाजारों में गिरावट
शुक्रवार को एशियाई इंडेक्स लाल निशान पर खुल थे. टेक सेक्टर्स के स्टॉक्स में गिरावट के बाद वॉल स्ट्रीट भी लाल निशान पर कारोबार करते नजर आया था. इसके बाद एशियाई बाजार में भी दबाव देखने को मिला. आज अधिकतर इंडेक्स लाल निशान पर ही हैं. एसजीएक्स निफ्टी, निक्केई 225, स्ट्रेट टाइम्स, हैंगसेंग, ताइवान इंडेक्स, को​स्पी और शंघाई इंडेक्स में गिरावट नजर आई.

अमेरिकी बाजार की बात करें तो गुरुवार के कारोबार में यह भी गिरावट के साथ बंद हुआ है. ​फीसदी के हिसाब से नैस्डेक कम्पोजिट बीते 4 महीने में सबसे बड़ी गिरावट दर्ज किया. अमेरिकी बॉन्ड यील्ड में इजाफे की वजह से वाल स्ट्रीट पर दबाव देखने को मिला. डाओ जोंस 1.75 फीसदी, एसएंडपी 500 इंडेक्स 2.45 फीसदी और नैस्डेक कम्पोजिट 3.52 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ.

F&O में 16 नये स्टॉक्स
आज से मार्च सीरीज के लिए 16 स्टॉक्स फ्युचर एंड ऑप्शंस (F&O) में ट्रेड करेंगे. अभी तक F&O लिस्ट में 146 स्टाक्स थे, जोकि अब बढ़कर 156 हो जाएंगे. एलेम्बिक फार्मा, एल्केम लैबोरेटरीज, एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक, सिटी यूनियन बैंक, दीपक नाइट्राइट, ग्रेन्युल इंडिया, गुजरात गैस, आईआरसीटीसी, एलएंडटी टेक्नोलॉजी सर्विसेज, एलएंडटी इन्फोटेक, नवीन फ्लोरिन, निप्पोन लाइफ, फाइज़र, पीआई इंडस्ट्रीज और ट्रेंट इसमें शामिल किए जाएंगे.

यह भी पढ़ें: नीरव मोदी प्रत्यर्पण: क्या है अब तक की कहानी और भारतीय बैंकों पर इसका क्या असर होगा?

कच्चे तेल में मिलाजुला रुख
वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के भाव में मिलाजुला रुख रहा है. अमेरिकी कच्चा तेल 2019 के बाद से उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है. हालांकि, ब्रेंट के भाव में गिरावट देखने को मिली. माना जा रहा है कि चार महीने तक लाभ के बाद उत्पादक आउटपुट बढ़ाने का फायदा ले सकते हैं. अप्रैल डिलीवरी के लिए ब्रेंट का भाव 0.2 फीसदी गिरकर 66.88 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया है. जबकि, डब्ल्यूटीआई 0.5 फीसदी की बढ़त के साथ 63.53 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया है.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर मौजूद प्रोविजनल आंकड़ों से पता चलता है कि विदेशी संस्थागत​ निवेशकों ने गुरुवार को 188.08 करोड़ रुपये के शेयर्स खरीदे. जबकि, घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 746.57 करोड़ रुपये के शेयर्स बेचे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज