होम /न्यूज /व्यवसाय /Share Market Closing: कमजोर ग्लोबल ट्रेंड से बाजार में दबाव, सेंसेक्स 208 अंक टूटा, निफ्टी 18,650 के नीचे हुआ बंद

Share Market Closing: कमजोर ग्लोबल ट्रेंड से बाजार में दबाव, सेंसेक्स 208 अंक टूटा, निफ्टी 18,650 के नीचे हुआ बंद

Share Market Today

Share Market Today

Today Share Market: कारोबार के अंत में सेंसेक्स 208.24 अंक की गिरावट के साथ 62,626.36 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी 5 ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

सेंसेक्स 0.33 फीसदी की गिरावट के साथ 62,626.36 के स्तर पर बंद
निफ्टी 0.31 फीसदी की गिरावट के साथ 18,642.80 के स्तर पर बंद

मुंबई. वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख और कच्चे तेल की कीमतों में तेजी के बीच मंगलवार को स्थानीय शेयर बाजार गिरावट के रुख के साथ खुले. आज के कारोबार में मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में दबाव देखने को मिल रहा है. पीएसयू बैंक, एफएमसीजी और एनर्जी शेयरों में तेजी रही. हालांकि आईटी, मेटल, और फार्मा शेयरों में बिकवाली देखने को मिला. वहीं रियल्टी और ऑटो शेयरों में दबाव रहा. वहीं, कारोबार के अंत में बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 208.24 अंक यानी 0.33 फीसदी की गिरावट के साथ 62,626.36 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 58.20 अंक यानी 0.31 फीसदी की गिरावट के साथ 18,642.80 के स्तर पर बंद हुआ.

टॉप-5 लूजर और गेनर
मंगलवार के कारोबार में BPCL, Tata Steel, Hindalco Industries, Dr Reddy’s Laboratories और UPL  निफ्टी के टॉप लूजर हैं. वहीं Adani Enterprises, HUL, Bajaj Auto, Nestle India और Power Grid Corporation निफ्टी के टॉप गेनर हैं.

ये भी पढ़ें- Uniparts India Ipo: यूनिपार्ट्स इंडिया के शेयरों की ग्रे मार्केट में धूम, निवेशकों को होगा जबरदस्त मुनाफा!

सोमवार को लाल निशान पर बंद हुए थे बाजार
इससे पहले सोमवार को वौलेटिलिटी के बीच सेसेंक्स-निफ्टी सपाट बंद हुए थे. कारोबार के अंत में सेंसेक्स 33.90 अंक यानी 0.05 फीसदी की गिरावट के साथ 62,834.60 के स्तर पर बंद हुआ था. वहीं निफ्टी 4.90 अंक यानी 0.03 फीसदी की गिरावट के साथ 18,701 के स्तर पर बंद हुआ था.

ये भी पढ़ें- शेयर बाजार में विदेशी निवेशकों की खरीदारी बढ़ी, FPI ने नवंबर में किया ₹36,329 करोड़ का निवेश

भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर, World Bank ने ग्रोथ का अनुमान बढ़ाया
विश्व बैंक ने वित्त वर्ष 23 के लिए भारत के जीडीपी अनुमान को रिवाइज करते हुए उसे बढ़ा दिया है. विश्व बैंक ने 2022-23 के लिए भारत के वृद्धि दर के अपने अनुमान को 6.5% से बढ़ाकर 6.9 % कर दिया है. बैंक ने कहा है कि अमेरिका, यूरो क्षेत्र और चीन के घटनाक्रमों से भारत प्रभावित हुआ है. इसके अलावा विश्व बैंक का कहना है कि भारत सरकार 6.4% के राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को हासिल करने की ओर है. वर्ल्ड बैंक ने अनुमान लगाया है कि जारी वित्त वर्ष में मुद्रास्फीति 7.1% रहेगी.

Tags: BSE, Nifty, NSE, Sensex, Share market

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें