अपना शहर चुनें

States

Sensex-Nifty: 14000 के नीचे बंद हुआ निफ्टी, सेंसेक्स भी 938 अंक टूटा, निवेशकों के डूबे 2.66 लाख करोड़ रुपये

शेयर बाजार आज लगातार चौथे दिन भी लाल निशान पर बंद हुआ.
शेयर बाजार आज लगातार चौथे दिन भी लाल निशान पर बंद हुआ.

Share Market Today: बुधवार को कारोबार के बाद घरेलू शेयर बाजार आज गिरावट के साथ बंद हुआ. 50 हजार के आंकड़े पर पहुचंने के बाद आज लगातार चौथ दिन रहा, जब सेंसेक्स लाल निशान पर बंद हुआ. निफ्टी भी 14,000 अंकों के नीचे फिसल चुका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 4:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सप्ताह के दूसरे कारोबारी सत्र यानी बुधवार को घरेलू शेयर बाजार में बड़ी गिरावट देखने को मिली. आज बैंकिंग, मेटल और फार्मा सेक्टर के स्टॉक्स में सबसे ज्यादा दबाव देखने को मिला. दि​नभर के कारोबार के बाद बीएसई सेंसेक्स 938 अंक टूटकर 47,410 के स्तर पर बंद हुआ. सेंसेक्स आज 48,387 अंक तक ही पहुंच सका, इसके बाद लगातार इसमें गिरावट देखने को मिली. निफ्टी 50 भी आज 271 अंक लुढ़ककर 13,967 के स्तर पर बंद हुआ. निफ्टी आज 14,237 उपर नहीं जा सका.

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों वाले इंडेक्स यानी सेंसेक्स में केवल 6 स्टॉक्स ही रहे निशान पर बंद होने में कामयाब रहे. दोपहर 2:30 बजे तक भारी बिकवाली के बीच सेंसेक्स 1000 अंक यानी 2.16 फीसदी से ज्यादा गिरकर 47,301 के स्तर पर कारोबार करते नजर आया. निफ्टी भी करीब 300 अंक यानी 2.10 फीसदी टूटकर 13,940 के आसपास ट्रेड करते नजर आया. इसके पहले शुरुआती कारोबार में ही सेंसेक्स 48,000 के नीचे फिसल चुका था.

इस साल पहला ऐसा मौका रहा है, जब यह 48,000 के नीचे ट्रेड करते दिखाई दिया. गेल इंडिया, एक्सिस बैंक, डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज, टाइटन कंपनी, ​इंडसइंड बैंक, एचडीएफसी बैंक और सन फार्मा के स्टॉक्स में बड़ी गिरावट देखने को मिली है. हालांकि, टेक महिंद्रा, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस, विप्रो, आईटीसी और पावर ग्रिड कॉरपोरेशन के स्टॉक्स में लिवाली देखने को मिली.



सभी सेक्टर्स लाल निशान पर
आज भारी बिकवाली ही कारण है कि सभी सेक्टर्स लाल निशान पर बंद हुए. सबसे ज्यादा गिरावट बैंकिंग और मेटल सेक्टर्स में देखने को मिला. फार्मा सेक्टर में भी दबाव देखने को मिला. एफएमसीजी सेक्टर ही आज हरे निशान पर कारोबार करने में कामयाब रहा. ब्रॉडर मार्केट की बात करें तो बीएसई स्मॉलकैप और मिड-कैप इंडेक्स में भी गिरावट देखने को मिला. सीएनएक्स मिडकैप भी 300 से ज्यादा प्वाइंट्स से ज्यादा की गिरावट के साथ बंद हुआ.

मिलेजुले वैश्विक संकेतों के बीच आज घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत गिरावट के साथ हुई थी. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर निफ्टी 50 आज 14,200 के नीचे खुला. सुबह 09:15 बजे BSE का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 281 अंक यानी 0.58 फीसदी की गिरावट के साथ 48,066 के स्तर पर खुला. जबकि, निफ्ट 81 अंक यानी 0.57 फीसदी लुढ़ककर 14,158 के स्तर पर खुला. Sensex के 50,000 के जादुई आंकड़े पर पहुंचने के बाद लगातार तीन सत्रों से बाजार में बिकवाली देखने को मिल रही है. एशियाई बाजार में आज मिलाजुला कारोबार दिख रहा थी. ब्रॉडर मार्केट में आज मामूली बढ़त के साथ कारोबार करते नजर आ रहा है. बीएसई मिड-कैप (BSE Mid-cap) और स्मॉलकैप (BSE Smallcap) इंडेक्स हरे निशान पर कारोबार कर रहे थे.

निवेशकों के डूबे 2.66 लाख करोड़ रुपये
इस प्रकार केवल आज के ही कारोबारी सत्र में निवेशकों को 2.66 लाख करोड़ रुपये कारोबार का नुकसान हुआ है. बुधवार को सेंसेक्स के 1,000 अंक तक लुढ़कने के बाद बीएसई का कुल मार्केट कैप 1,89,59,516.52 रुपये पर आ गया है. इसके पहले सोमवार को कारोबारी सत्र के बाद यह 1,92,26,221.53 करोड़ रुपये पर था. मंगलवार को गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य पर घरेलू शेयर बाजार बंद था.

एशियाई बाजार में मिलाजुला करोबार
अमेरिकी बाजार मामूली कमजोरी के साथ बंद हुए थे. एशियाई बाजारों से मिलेजुले संकेत नजर आ रहे हैं. SGX NIFTY में 100 अंक से ज्यादा मजबूती देखने को मिल रही है. बाइडेन सरकार पर राहत पैकेज को मंजूरी का दबाव बना हुआ है. 1.9 ट्रिलियन डॉलर के राहत पैकेज को मंजूरी करने का दबाव है. IMF का अनुमान इस साल ग्लोबल ग्रोथ 5.5% रह सकती है. APPLE, TESLA, FACEBOOK के नतीजों का इंतजार रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज