कोरोना की वजह से इस शेयर से निवेशक हुए मालामाल, एक साल की कमाई जानकार हैरान रह जाएंगे आप

मोरपेन लैबोरेटरीज शेयर ने 19 साल के उच्चतम स्तर को भी छुआ है.

मोरपेन लैबोरेटरीज शेयर ने 19 साल के उच्चतम स्तर को भी छुआ है.

स्मॉलकैप फॉर्मा कंपनी मोरपेन लैबोरेटरीज (Morepen Laboratories) के शेयर ने एक साल में दिया 365 फीसदी रिटर्न

  • Share this:

नई दिल्ली. कोविड-19 महामारी (Covid-19 pandemic) की दूसरी लहर कहर देश में बरपा रही है. कई राज्यों में पाबंदियों के कारण बाजार में उतारचढ़ाव का दौर है. लेकिन एक शेयर िनवेशकों को लगातार मालामाल बना रहा है. बीते साल से अब तक इसमें 365 फीसदी का उछाल आ चुका है.

स्मॉलकैप फॉर्मा कंपनी मोरपेन लैबोरेटरीज (Morepen Laboratories) का शेयर पिछले कुछ हफ्तों से कुलांचे मार रहा है. यह शेयर पिछले साल 22 मई को अपने 52 हफ्ते के न्यूनतम स्तर पर पहुंच चुका था लेकिन उसके बाद से इसमें 365 फीसदी तेजी आई है. इस प्रोसेस में इस शेयर ने 19 साल के उच्चतम स्तर को भी छुआ है.

यह भी पढ़ें : Success Story : माता-पिता की देखभाल के लिए नौकरी छोड़ टीपीए बिजनेस किया, अब 3000 करोड़ का पोर्टफोलियो


रेवेन्यू में 40 फीसदी की उछाल

मार्च तिमाही में कंपनी का नेट प्रॉफिट दोगुना बढ़कर 26.76 करोड़ रुपए रहा जो पिछले साल समान तिमाही में 11.02 फीसदी था. इस दौरान कंपनी का कंसोलिडेटेड रेवेन्यू 290.76 करोड़ रुपए रहा जो पिछले साल के मुकाबले 39.53 फीसदी अधिक है. Morepen Laboratories 3,000 करोड़ रुपये की फार्मा और हेल्थकेयर प्रॉडक्ट्स कंपनी है. जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के चीफ इनवेस्टमेंट स्ट्रैटजिस्ट वीके विजयकुमार ने कहा कि फार्मा इंडस्ट्री के लिए स्थिति बेहतर हुई है और इससे Morepen Labs को फायदा होगा.

यह भी पढें : नौकरी की बात : टेक्नोलॉजी की वजह से इन जगहों पर नौकरियों की भरमार, जानें सबकुछ 



तरजीही शेयरों के जरिए 433 करोड़ रुपए जुटाने की योजना

अप्रैल के अंतिम हफ्ते में कंपनी के बोर्ड ने तरजीही शेयरों के जरिए 433 करोड़ रुपए जुटाने की योजना को मंजूरी दी. इसी महीने सिक्योरिटीज अपीलेट ट्रिब्यूनल ने सेबी के उस आदेश को खारिज कर दिया था जिसमें बाजार नियामक ने मोरपेन के पूंजी जुटाने पर एक साल का प्रतिबंध लगा दिया था. गौरतलब है कि मंगलवार को तिमाही नतीजों की घोषणा से पहले इसका शेयर 72.05 रुपये पर पहुंच गया था लेकिन फिर यह 5 फीसदी का लोअर सर्किट छू गया. बुधवार को भी यह 5 फीसदी की गिरावट के साथ 62 रुपये पर आ गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज