• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Cryptocurrency निवेशकों को झटका! RBI की नाराजगी पर बैंकों ने खींचे हाथ, मुश्किल में क्रिप्‍टो एक्सचेंज

Cryptocurrency निवेशकों को झटका! RBI की नाराजगी पर बैंकों ने खींचे हाथ, मुश्किल में क्रिप्‍टो एक्सचेंज

भारतीय बैंकों और बड़े पेमेंट गेटवेज ने किप्‍टो एक्‍सचेंजों के साथ साझेदारी तोड़नी शुरू कर दी है.

भारतीय बैंकों और बड़े पेमेंट गेटवेज ने किप्‍टो एक्‍सचेंजों के साथ साझेदारी तोड़नी शुरू कर दी है.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने भारतीय बैंकों (Indian Banks) को किप्‍टो एक्सचेंजों (Crypto Exchange) के साथ डीलिंग नहीं करने की अनौपचारिक सलाह दी थी. इसके बाद बैंकों ने उनके साथ अपनी साझेदारी खत्‍म करनी शुरू की दी है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. बिटक्‍वाइन और डॉगक्‍वाइन जैसी क्रिप्‍टोकरेंसी में निवेश करने वाले भारतीय निवेशकों को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के कारण झटका लगा है. दरअसल, देश में मौजूद क्रिप्‍टोकरेंसी एक्सचेंजों को लेनदेन के लिए सुरक्षित पेमेंट सॉल्यूशंस को लेकर मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. इंडस्ट्री से जुड़े सूत्रों ने बताया कि आरबीआई की ओर से चेतावनी दिए जाने के बाद बैंकों और पेमेंट गेटवेज ने क्रिप्‍टोकरेंसी एक्सचेंजों के साथ अपनी साझेदारी खत्म करनी शुरू कर दी है. आरबीआई ने कहा था कि वह क्रिप्‍टोकरेंसीज के पक्ष में नहीं है. इसका बड़ा कारण वित्तीय स्थिरता पर इनके असर को लेकर आशंका है. केंद्रीय बैंक ने भारतीय बैंकों से अनौपचारिक तौर पर इन एक्सचेंजों से दूरी बनाने को कहा था.

    पेमेंट गेटवेज सर्सि बंद होने से लेनदेन पर असर
    क्रिप्‍टोकरेंसी एक्सचेंजों को लेकर यूजर्स की शिकायतें बढ़ रही हैं. दरअसल, बड़े पेमेंट गेटवेज की सर्विसेज खत्‍म होने से लेनदेन पर असर पड़ा है. देश के पुराने क्रिप्‍टोकरेंसी एक्सचेंजों में से एक ज़ेबपे (ZebPay) के को-चीफ एग्जिक्यूटिव अविनाश शेखर ने बताया कि बैंक अब बिजनेस करने से हिचकिचा रहे हैं. हम बहुत से पेमेंट पार्टनर्स के साथ बातचीत कर रहे हैं , लेकिन इसमें कुछ खास सफलता नहीं मिली है. क्रिप्‍टोकरेंसी एक्सचेंज अब अन्य विकल्पों पर विचार कर रहे हैं. इनमें छोटे पेमेंट गेटवेज के साथ हाथ मिलाना, अपने पेमेंट प्रोसेसर बनाना और तुरंत सेटलमेंट को रोकना शामिल हैं.

    ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोने के दाम में दर्ज हुई अच्‍छी बढ़त, चांदी भी हो गई 1231 रुपये महंगी, देखें लेटेस्‍ट रेट्स

    दो क्रिप्‍टो एक्‍सचेंज ने की एयर-पे से साझेदारी
    रेजर-पे (Razorpay), पे-यू (PayU) और बिलडेस्क (BillDesk) जैसे बड़े पेमेंट गेटवेज ने किप्‍टोकरेंसी एक्सचेंजों के साथ साझेदारी तोड़ दी है. दरअसल, ये पेमेंट गेटवेज भी लेनदेन की प्रोसेसिंग के लिए बैंकों पर ही निर्भर हैं. दो क्रिप्‍टो एक्सचेंजों ने एक छोटी पेमेंट प्रोसेसिंग फर्म एयर-पे (AirPay) के साथ साझेदारी की है. बता दें कि इस समय देश में करीब 1.5 करोड़ क्रिप्‍टो इनवेस्टर्स है. इनके बीच दुनिया की सबसे ज्‍यादा पसंद की जानो वाली क्रिप्‍टोकरेंसी बिटक्‍वाइन और डॉगक्‍वाइन में निवेश को लेकर खासा क्रेज है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज