IMF का अनुमान- 2020 में Indian Economy में होगी 10.3% की गिरावट, 2021 में चीन को छोड़ देगी पीछे

IMF के मुताबिक, 2021 में भारत चीन को पीछे छोड़ते हुए तेजी से बढ़ने वाली उभरती अर्थव्यवस्था का दर्जा फिर हासिल कर लेगा.
IMF के मुताबिक, 2021 में भारत चीन को पीछे छोड़ते हुए तेजी से बढ़ने वाली उभरती अर्थव्यवस्था का दर्जा फिर हासिल कर लेगा.

अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के अनुमान के मुताबिक, 2021 के दौरान भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था (Indian Economy) में 8.8 फीसदी का जबरदस्‍त उछाल आएगा. इस दौरान भारत चीन (China) को पीछे छोड़ते हुए तेजी से उभरती अर्थव्‍यवस्‍था का दर्जा फिर हासिल कर लेगा. वहीं, आईएमएफ ने इस साल अमेरिका की इकोनॉमी में भी बड़ी गिरावट का अनुमान जताया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 10:29 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) में 2020 के दौरान 10.3 फीसदी की बड़ी गिरावट आने का अनुमान है. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने मंगलवार को कहा कि इस दौरान वैश्विक अर्थव्यवस्था (Global Economy) में 4.4 फीसदी की गिरावट होगी. वहीं, 2021 के दौरान ग्‍लोबल इकोनॉमी में 5.2 फीसदी की जोरदार बढ़ोतरी अनुमान जताया गया है. ये रिपोर्ट आईएमएफ और वर्ल्‍ड बैंक (World Bank) की सालाना बैठक से पहले जारी की गई है.

2021 में इंडियन इकोनॉमी में आएगी 8.8 फीसदी की बढ़त
आईएमएफ ने कहा है कि 2021 के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था में 8.8 फीसदी की जोरदार बढ़त दर्ज की जाएगी. इसके साथ ही भारत चीन को पीछे छोड़ते हुए तेजी से बढ़ने वाली उभरती अर्थव्यवस्था का दर्जा फिर हासिल कर लेगा. आईएमएफ ने 2021 में चीन की अर्थव्‍यवस्‍था में 8.2 फीसदी की वृद्धि का अनुमान लगाया है. इससे पहले 2019 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 4.2 प्रतिशत रही. आईएमएफ ने अपनी 'विश्व आर्थिक परिदृश्य' पर जारी रिपोर्ट में कहा है कि 2020 में ग्‍लोबल इकोनॉमी में 4.4 फीसदी की गिरावट आएगी और 2021 में यह 5.2 फीसदी की वृद्धि हासिल करेगी.

ये भी पढ़ें- FM निर्मला सीतारमण की घोषणा के बाद केंद्रीय कर्मचारियों को 30 हजार का फायदा लेने के लिए खर्च करने होंगे 3 लाख रुपये




अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था में 5.8 फीसदी गिरावट का अनुमान
आईएमएफ की रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 में अमेरिका की अर्थव्यवस्था में 5.8 फीसदी गिरावट का अनुमान है, जबकि अगले साल इसमें 3.9 फीसदी की वृद्धि होगी. वर्ष 2020 के दौरान दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में केवल चीन ही अकेला देश होगा, जिसमें 1.9 फीसदी की वृद्धि दर्ज की जाएगी. रिपोर्ट में कहा गया है कि अनुमान में संशोधन के मामले में भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में दूसरी तिमाही अप्रैल- जून 2020 के दौरान अनुमान से कहीं बड़ी गिरावट दर्ज की गई है. आईएमएफ के मुताबिक, जलवायु परिवर्तन से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले देशों में भारत शामिल है. पिछले सप्ताह विश्व बैंक ने कहा था कि भारत की जीडीपी इस वित्त वर्ष में 9.6 फीसदी घटेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज