भारत से बिजनेस समेट रही है ये एयरलाइन! एशिया में की थी सस्‍ती उड़ान सेवा की शुरुआत

मलेशिया की एयरलाइन भारत से अपना कारोबार समेटने की तैयारी कर रही है.
मलेशिया की एयरलाइन भारत से अपना कारोबार समेटने की तैयारी कर रही है.

एयर एशिया की भारतीय कंपनी एयर एशिया इंडिया (Air Asia India) में टाटा ग्रुप (Tata Group) की बहुलांश हिस्‍सेदारी (Majority Stake) है. हालांकि, कंपनी की ओर से एयर एशिया के भारत में कारोबार बंद करने को लेकर अब तक कोई बात नहीं कही गई है. मलेशिया की एयर एशिया को कभी क्षेत्र में सस्ती विमानन सेवा में आई क्रांति की शुरुआत करने वाली कंपनी के तौर पर पहचाना जाता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 11:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एशिया में किफायती उड़ान सेवा (Affordable flights) उपलब्‍ध कराने की शुरुआत करने वाली एयरलाइन कंपनी एयर एशिया (Air Asia) भारत से अपना बिजनेस समेट रही है. केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने खुद बताया कि भारत में एयर एशिया अपना कारोबार बंद करने वाली है. साथ ही कहा कि एयर एशिया की पेरेंट कंपनी में ही कोई दिक्‍कत है, जिसकी वजह से ऐसा हो रहा है. दरअसल, उनसे चंडीगढ़ से एयर एशिया की फ्लाइट्स बंद होने की वजह पूछी गई थी. हालांकि, बाद में हरदीप सिंह पुरी के कार्यालय ने कहा कि उनकी बात को सही तरह से पेश नहीं किया गया.

टाटा ग्रुप के पास हैं ए‍यर एशिया इंडिया के मैजॉरिटी स्‍टेक
एयर एशिया की भारतीय कंपनी एयर एशिया इंडिया (Air Asia India) में टाटा ग्रुप (Tata Group) की बहुलांश हिस्‍सेदारी (Majority Stake) है. हालांकि, कंपनी की ओर से एयर एशिया के भारत में कारोबार बंद करने को लेकर अब तक कोई बात नहीं कही गई है. नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Civil Aviation Ministry) के एक प्रवक्ता ने कहा कि पुरी के बयान को संदर्भ से हटाकर पेश किया गया, जबकि उन्होंने तुरंत इसका स्पष्टीकरण भी दे दिया था. बता दें कि एयर एशिया की मूल कंपनी एयर एशिया ग्रुप बीएचडी (AirAsia Group Bhd) है. मलेशिया की एयर एशिया को कभी क्षेत्र में सस्ती विमानन सेवा में आई क्रांति की शुरुआत करने वाली कंपनी के तौर पर पहचाना जाता था.

ये भी पढ़ें- केंद्र ने उठाया बड़ा कदम! अब स्ट्रीट फूड की भी होगी होम डिलिवरी, वेंडर्स की होगी आर्थिक मदद
टाटा संस 100% हिस्‍सेदारी खरीदने की कर रही तैयारी


कोरोना संकट के बीच एविएशन सेक्टर (Aviation Sector) पर बहुत बुरा असर पड़ा है. ऐसे में एयर एशिया कई देशों में अपना कारोबार बंद करने की योजना बना रही है. इसी क्रम में कंपनी जापान (Japan) में अपना कारोबार बंद करने पर विचार कर रही है. एयर एशिया इंडिया ने 2014 में ऑपरेशंस शुरू किया था. हालांकि, कंपनी कभी मुनाफे में नहीं आई. भारत में इसकी बाजार हिस्सेदारी 6.8 फीसदी है. देश में इसके कर्मचारियों की संख्या 3,000 से ज्‍यादा है. टाटा संस की एयर एशिया इंडिया में 51 फीसदी हिस्सेदारी है. अब वह मलेशियाई साझेदार की 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने पर विचार कर रही है. एयर एशिया इस ज्‍वाइंट वेंचर में ज्यादा निवेश करने को तैयार नहीं है. कंपनी चाहती है कि एयर एशिया इंडिया कर्ज लेकर अपना बिजनेस संभाले.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज