लाइव टीवी

ऑटो सेक्‍टर में सुस्‍ती खत्‍म होने के संकेत, 3 महीने में मारुति ने बेचीं 4 लाख से ज्‍यादा कारें

पीटीआई
Updated: January 28, 2020, 4:30 PM IST
ऑटो सेक्‍टर में सुस्‍ती खत्‍म होने के संकेत, 3 महीने में मारुति ने बेचीं 4 लाख से ज्‍यादा कारें
मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड ने चालू वित्‍त वर्ष की अक्‍टूबर-दिसंबर तिमाही की नतीजे घोषित कर दिए हैं.

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (Maruti Suzuki India) ने अक्‍टूबर-दिसंबर तिमाही (December Quarter) के शुद्ध मुनाफे (Net Benefit) में 4 फीसदी से ज्‍यादा का उछाल दर्ज किया है. इस दौरान कंपनी ने कुल 4,37,361 कारें (Vehicle) बेची हैं.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में पिछले कुछ महीनों से आर्थिक सुस्‍ती (Economic Slowdown) की चर्चा आम है. ये चर्चा कारों की बिक्री घटने के साथ शुरू हुई थी. अब ऑटो सेक्‍टर (Auto Sector) में सुस्‍ती का दौर खत्‍म होने के संकेत मिल रहे हैं. दरअसल, देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति ने वित्‍त वर्ष 2019-20 की अक्‍टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान 1587.4 करोड़ के शुद्ध मुनाफे (Net Benefit) की घोषणा की है़, जो पिछले साल की समान अवधि से 4.13 फीसदी ज्‍यादा है. पिछले वित्‍त वर्ष की अक्‍टूबर-दिसंबर तिमाही में कंपनी को 1524.5 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था. मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड (MSIL) का कहना है कि उसने ये मुनाफा कच्‍चे माल की कीमतों में कमी और कॉरपोरेट टैक्‍स घटाए जाने के कारण दर्ज किया है. चूंकि मारुति सुजुकी की इंडियन पैसेंजर कार सेक्‍टर में 53 फीसदी हिस्‍सेदारी है. ऐसे में मारुति के बढ़े हुए मुनाफे के आधार पर कहा जा सकता है कि ऑटो सेक्‍टर में सुस्‍ती खत्‍म हो रही है.

कंसॉलिडेटेड रिवेन्‍यू में पांच फीसदी से ज्‍यादा बढ़ोतरी
एमएसआईएल ने मौजूदा वित्‍त वर्ष की अक्‍टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान कुल 4,37,361 कारें बेची हैं. इसमें कंपनी ने 23,663 कारों का निर्यात (Export) किया, जबकि 4,13,698 कारों की बिक्री घरेलू बाजार (Domestic Market) में की. घरेलू बाजार में इस बार हुई कारों की बिक्री पिछले वित्‍त वर्ष की इसी तिमाही के मुकाबले 2 फीसदी ज्‍यादा है. परिचालन (Operations) से होने वाले कंसॉलिडेटेड रिवेन्‍यु (Consolidated Revenue) के मामले में भी मारुति ने 5.29 फीसदी की बढ़ोतरी हासिल की है. जहां मौजूदा वित्‍त वर्ष की तीसरी तिमाही में कंपनी का कंसॉलिडेटेड रिवेन्‍यु 20721.8 करोड़ रुपये रहा. वहीं, पिछले साल की इसी तिमाही में ये आंकड़ा 19680.7 करोड़ रुपये रहा था.

ऑटो सेक्‍टर बदलाव के दौर से भी गुजर रहा है. एक तरफ कंपनियां BS-IV से BS-VI का रुख कर रही हैं तो दूसरी ओर उन पर इलेक्ट्रिक व्‍हीकल को लेकर भी दबाव है.


'नतीजे उत्‍साहजनक नहीं, लेकिन खत्‍म हो गए बुरे दिन'
कैपिटल सिंडिकेट के मैनेजिंग पार्टनर पशुपति सुब्रमण्यम का कहना है, 'मारुति के तिमाही आंकड़े बहुत उत्‍साहित करने वाले तो नहीं हैं, लेकिन ये कहा जा सकता है कि ऑटो सेक्‍टर के बुरे दिन खत्‍म हो चुके हैं. मौजूदा वित्‍त वर्ष के बाकी समय में अभी ऑटो सेक्‍टर में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है. इस सेक्‍टर में असली रिकवरी अप्रैल-जून 2020 तिमाही में देखने को मिलेगी.' साथ ही कहा कि केंद्र सरकार (Central Government) का पूरा ध्‍यान डीजल (Diesel) और पेट्रोल (Petrol) व्‍हीकल्‍स को हटाकर इलेक्ट्रिक व्‍हीकल (EV) को बढ़ाने पर है. बजट में भी इलेक्ट्रिक व्‍हीकल को लेकर सरकार का आक्रामक रुख नजर आ सकता है. वहीं, ऑटो सेक्‍टर बदलाव के दौर से भी गुजर रहा है. एक तरफ कंपनियां BS-IV से BS-VI का रुख कर रही हैं तो दूसरी ओर उन पर इलेक्ट्रिक व्‍हीकल को लेकर भी दबाव है.

मारुति सुजुकी इंडिया ने मौजूदा वित्‍त वर्ष की तीसरी तिमाही में बिक्री बढ़ाने के लिए विज्ञापन पर जमकर खर्च किया.
कंपनी ने कहा- उम्‍मीद से कम हुआ मुनाफा
मारुति सुजुकी इंडिया ने बताया कि हमने बिक्री बढ़ाने के लिए प्रमोशन पर भारी-भरकम खर्च किया था. कंपनी का कहना है कि तीसरी तिमाही के दौरान लागत में कटौती करने, ऑपरेटिंग खर्च घटाने, कच्‍चे माल की कीमतों में कमी होने और कॉरपोरेट टैक्‍स घटने के कारण मुनाफे में इजाफा हुआ. हालांकि, हमारा मुनाफा उम्‍मीद के मुकाबले कम रहा. हमने उम्‍मीद की थी कि हमारा शुद्ध मुनाफा 1647 करोड़ रुपये के आसपास रहेगा. हालांकि, मौजूदा वित्‍त वर्ष की तीसरी तिमाही में कंपनी को ऑटो लोन (Auto Loan) की सख्‍त शर्तों और इंश्‍योरेंस कॉस्‍ट (Insurance Cost) में बढ़ोतरी के बावजूद हुआ है. बता दे कि कुछ कार निर्माताओं ने आर्थिक सुस्‍ती के मद्देनजर या तो प्रोडक्‍शन में कटौती कर दी थी या रोक दिया था.

ये भी पढ़ें:

अब पोस्‍ट ऑफिस से ही हो जाएंगे आपके ये सारे काम, मोबाइल और डीटीएच रिचार्ज भी होगा

एअर इंडिया की बिक्री में कर्मचारियों को भी मिलेगा हिस्‍सा, हर स्‍थायी कर्मी को मिलेंगे 1 लाख से ज्‍यादा शेयर

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 4:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर