Home /News /business /

Mutual Funds: बाजार की तेजी पर SIP में निवेश जारी रखें या प्रॉफिट बुक करें, जानें क्या करें

Mutual Funds: बाजार की तेजी पर SIP में निवेश जारी रखें या प्रॉफिट बुक करें, जानें क्या करें

SIP का एसेट्स अंडर मैनेजमेंट (AUM) बढ़कर 5.44 लाख करोड़ रुपये हो गया है.

SIP का एसेट्स अंडर मैनेजमेंट (AUM) बढ़कर 5.44 लाख करोड़ रुपये हो गया है.

Mutual Fund Investment में एक बात कही जाती है कि बाजार में गिरावट के समय म्यूचुअल फंड में निवेश करने का अच्छा मौका होता है. लेकिन अब जब बाजार में तेजी है तो निवेशक क्या करें. मार्केट एक्सपर्ट कहते हैं कि बाजार का हर दिन निवेश का दिन होता है, इसलिए वे बाजार में बने रहने की सलाह देते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    Mutual Funds Update News: शेयर बाजार (stock market) में जबरदस्त उछाल है. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (National Stock Exchange) का संवेदी सूचकांक निफ्टी (NIFTY) इन दिनों 18,000 से ऊपर ट्रेड कर रहा है तो बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( Bombay Stock Exchange) का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स (SENSEX) भी 60,000 से ऊपर के स्तर पर चल रहा है. निवेशक खूब मुनाफा कमा रहे हैं.

    बाजार की तेज चाल पर म्यूचुअल फंड में एसआईपी (Systematic Investment Plan) के माध्यम से निवेश करने वाले निवेशकों के लिए बाजार की यह बुल रन थोड़ा विचलित करने वाली होती है. निवेशकों के मन में उथल-पुथल रहती है कि बाजार में बने रहें या फिर मुनाफा लेकर निकल लें.

    क्योंकि म्‍यूचुअल फंड निवेश (Mutual Fund Investment) में एक बात कही जाती है कि बाजार में गिरावट के समय म्यूचुअल फंड में निवेश करने का अच्छा मौका होता है. अगर आप पहली बार म्यूचुअल फंड में निवेश करने जा रहे हैं तो बाजार के गिरने का इंतजार करें. लेकिन अब जब बाजार में तेजी है तो निवेशक क्या करें.

    म्यूचुअल फंड एसआईपी में निवेशकों का रुझान लगातार बढ़ रहा है. लेकिन इस समय निवेश क्या करें, इस पर मार्केट एक्सपर्ट कहते हैं कि अगर आप एसआईपी के माध्यम से म्यूचुअल फंड में निवेश कर रहे हैं तो बाजार में तेजी के बावजूद निवेश जारी रखना चाहिए.

    एसआईपी लॉन्ग टर्म निवेश के लिए है. इसलिए सिस्टमेटिक इनवेस्टमेंट प्लान (SIP) को सिर्फ ट्रेडिंग के हिसाब से नहीं देखना चाहिए. इसलिए लॉन्‍ग टर्म के नजरिए से SIP जारी रखनी चाहिए.

    बिना कुछ किए भी अमीर बन सकते हैं! बस अपनाने होंगे ये टिप्स

    शेयर बाजार (Share Market) एक रोलरकॉस्टर की तरह होता है. आज ऊंचाई पर तो कल नीचे भी आएगा. बाजार में तेजी से उछाल और गिरावट आती है.

    इसलिए भले ही बाजार में रिकॉर्ड तेजी हो, नए निवेशक भी SIP के जरिए म्‍यूचुअल फंड में एंट्री कर सकते हैं. क्योंकि एसआईपी के माध्यम से हम बहुत मामूली रकम म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं. हां, अगर आप एकमुश्त राशि म्यूचुअल फंड में निवेश करने का प्लान कर रहे हैं तो फिलहाल अपने प्लान को टाल दें. लेकिन एसआईपी के जरिए निवेश कर सकते हैं और आपका पहले से ही एसआईपी चल रहा है तो उसे जारी रखें.

    प्रॉफिट बुक करना चाहिए या नहीं
    अब सवाल आता है कि अगर आप लंबे समय से एसआईपी में निवेश करते आए हैं तो क्या इस तेजी का फायदा उठाते हुए प्रॉफिट बुक करना चाहिए या नहीं.

    मार्केट एक्सपर्ट कहते हैं कि आप लंबे समय से निवेश कर रहे हैं तो बाजार की इस तेजी का फायदा उठाना चाहिए और प्रॉफिट बुक कर सकते हैं. प्रॉफिट बुक करके आपको डेट फंड में निवेश कर देना चाहिए.

    SIP में 10 हजार करोड़ से ज्यादा का निवेश
    बता दें कि एसआईपी की तरफ निवेशकों का रुझान लगातार बढ़ रहा है और इसकी खास वजह है बैंकों के एफडी और छोटी बचत योजनाओं पर घटती ब्याज दर. जबकि म्यूचुअल फंड में निवेश पर हर साल 10-12 परसेंट का रिटर्न आसानी से मिल जाता है. और यही वजह है कि म्यूचुअल फंड के SIP के जरिये निवेश करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है.

    पिछले महीने सितंबर में म्यूचुअल फंड SIP में पहली बार 10 हजार करोड़ से ज्यादा का निवेश हुआ. पिछले महीने रिकॉर्ड 26.8 लाख नए एसआईपी खाते खुले हैं.

    एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल लॉकडाउन से पहले मार्च, 2020 में एसआईपी में 8,641 करोड़ रुपये का निवेश हुआ था. और एक साल के भीतर यह निवेश 8 हजार करोड़ से बढ़कर 10,351.3 करोड़ रुपये हो गया है. SIP का एसेट्स अंडर मैनेजमेंट (AUM) बढ़कर 5.44 लाख करोड़ रुपये हो गया, जोकि अगस्‍त में 5.26 लाख करोड़ रुपये था.

    ध्यान रखें कि किसी भी तरह के निवेश या फिर निवेश संबंधी कोई भी फैसला लेने से पहले बाजार की अच्छी तरह से स्टडी जरूर कर लें. वित्त सलाहकार से सलाह जरूर ले लें. अपनी जरूरतों को देखते हुए निवेश संबंधी कोई भी फैसला सोच-समझ कर करें. किसी को देखकर निवेश से जुड़े फैसले ना लें.

    Tags: Mutual funds, Stock market, Systematic Investment Plan

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर