Covid-19: मुकेश और नीता अंबानी ने संभाला मोर्चा, रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल की सुविधाओं में इजाफा

एनएससीआई में भर्ती सभी मरीजों का आरएएफ के माध्यम से बिल्कुल मुफ्त इलाज किया जा रहा है.

एनएससीआई में भर्ती सभी मरीजों का आरएएफ के माध्यम से बिल्कुल मुफ्त इलाज किया जा रहा है.

कोरोना के खिलाफ जंग में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी और रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन और संस्थापक नीता अंबानी ने मोर्चा संभाल लिया है.

  • Share this:

मुंबई. कोरोना के खिलाफ जंग में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी और रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन और संस्थापक नीता अंबानी ने मोर्चा संभाल लिया है. मुंबई में भविष्य में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि को देखते हुए तैयारियों को बढ़ाने के लिए सर एच एन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल यानी आरएफएच (Sir H N Reliance Foundation Hospital) ने शहर में वयस्कों और बच्चों के बेड के प्रबंधन की दिशा में अपने ऑपरेशंस को बढ़ा दिया है. इसके अलावा आरएफएच महाराष्ट्र सरकार और बीएमसी के प्रयासों को सपोर्ट करेगा.

वयस्कों और बच्चों के बीच कोरोना मामलों में हाल ही में वृद्धि को देखते हुए आरएफएच अपने पेडियेट्रिक कवरेज और विशेष चाइल्ड केयर सुविधाओं को बढ़ाने पर फोकस कर रही है. यह वर्तमान में नेशनल स्पोर्ट्स क्लब ऑफ इंडिया, वर्ली में 650 बेड्स का प्रबंधन और संचालन कर रहा है. 650 बेड्स में से 100 बेड्स बिना लक्षण वाले बच्चों के इलाज के लिए और 20 बेड्स आईसीयू केयर के लिए रखे गए हैं. आईसीयू बेड वेंटिलेटर, निगरानी उपकरणों, डायलिसिस सहायता और गंभीर रोगियों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति से लैस हैं.

सर एच एन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल

500 से अधिक फ्रंटलाइन वर्कस की एक टीम, जिसमें डॉक्टर, नर्स और गैर-चिकित्सा पेशेवर शामिल हैं, रोगियों की लगातार निगरानी के लिए तैनात की गई है. बेड, मॉनिटर, बाल और वयस्क वेंटिलेटर और मेडिकल उपकरण सहित प्रोजेक्ट के लिए पूरा खर्च का वहन रिलायंस फाउंडेशन (Reliance Foundation) द्वारा किया जा रहा है. एनएससीआई में भर्ती सभी मरीजों का आरएएफ के माध्यम से बिल्कुल मुफ्त इलाज किया जा रहा है.
नीता अंबानी ने कहा, ''वे सभी लोग और परिवार जिन्होंने इस मुश्किल में गहरा दर्द, हानि और पीड़ा झेली है, के प्रति गहरी संवेदना है. कोरोना संकट को लेकर भारत की प्रतिक्रिया का समर्थन करने और उसे मजबूत करने के लिए हर संभव प्रयास करते रहेंगे. कोरोना मामलों में हाल की प्रवृत्ति को देखते हुए विशेष रूप से वयस्कों और बच्चों के लिए क्रिटिकल केयर सुविधाओं को बढ़ाना समय की आवश्यकता है. रिलायंस फाउंडेशन की ओर से एनएससीआई और हमारे द्वारा चलाए जा रहे अन्य कोविड केयर सुविधाओं में बेड्स, संसाधन और ऑक्सीजन आपूर्ति जारी रहेगा. हम साथ मिलकर इस चुनौती को पार कर सकते हैं."

(डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज