लाइव टीवी

सिर्फ 1 घंटे में 10 हजार रुपये तक कमाने का शानदार मौका! जानिए क्या है शर्त

News18Hindi
Updated: December 8, 2019, 7:24 PM IST
सिर्फ 1 घंटे में 10 हजार रुपये तक कमाने का शानदार मौका! जानिए क्या है शर्त
इस नौकरी में हर घंटे के लिए 10 हजार रुपये की कमाई होती है.

अगर आप भी कम से कम समय में ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाना चाहते हैं तो आप इन स्किल्स को सीखकर अपने सपने पूरे कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 8, 2019, 7:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हर किसी की चाहत होती है कि वो कम से कम समय में अधिक से अधिक पैसा कमा सके. आमतौर पर लोगों को 9 से 5 वाली ऑफिस की नौकरी किसी बोरियत भरे काम से कम नहीं लगती है. हाल ही में एक रिपोर्ट में कहा गया था कि देश के सबसे बड़े तकनीकी शिक्षण संस्थान यानी IIT के अधिकतर छात्रों की ​रुचि नौकरी नहीं बल्कि स्टार्टअप की तरफ अधिक बढ़ रही है. ऐसे में अगर आप भी कम से कम समय में अधिक पैसा कमाना चाहते हैं तो परेशान न हों. हम आपको ऐसी ही एक नौकरी के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां आपको मात्र एक घंटे काम करने के लिए 10,000 रुपये मिलेंगे.

मनीकंट्रोल ने अपनी एक रिपोर्ट में इस बारे में जानकारी दी है. दरअसल, डाटा माइनिंग, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और क्लाउड सिक्योरिटी की मांग सबसे तेजी से बढ़ रहा है. पूरी दुनियाभर में तेजी से आर्टिफिशियल इंटे​लीजेंस (Artificial intelligence) की मांग बढ़ रही है. जाहिर है कि इस सेक्टर में ​टीचर्स की मांग भी बढ़ रही है. कई कंपनियां अपने कर्मचारियों को इस स्किल्स की ट्रेनिंग देना चाहती हैं. इसी बढ़ते मांग की वजह से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की ट्रेनिंग देने के लिए 50,000 रुपये से लेकर 7 लाख रुपये तक चार्ज किए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: घर बैठे Post Office में खुलवाएं खाता, अकाउंट में पैसे नहीं होने पर भी नहीं देना होगा कोई चार्ज

क्या करना होता है? 

अपने लर्निंग एंड डेवलपमेंट प्रोग्राम (Learning and Development Program) के तहत कंपनियां ऐसे टीचर्स को छोटी अवधि के लिए हायर करती हैं. इसमें खासतौर पर वो लोग होते हैं, जिन्होंने पहले इस क्षेत्र में काम कर लिया या फिर इसी थ्योरी के बारे में उन्हें पूरी जानकारी है. आमतौर पर इस तरह के स्किल्स को सीखने के लिए 30-60 घंटों की जरूरत होती है. इसमें थ्योरी और प्रैक्टिकल, दोनों के बारे में ट्रेनिंग दी जाती है.

इसमें क्या है भविष्य?
आईटी, ई-कॉमर्स, बैंकिंग, एफएमसीजी और ई-लर्निंग के सेक्टर की कंपनियां इस तरह के लोगों की हायरिंग करती हैं. मौजूदा समय में ऐसे में लोगों की कुल सप्लाई करीब 10 हजार है, जबकि 10 लाख लोगों की मांग है. अन्य प्रोफेशनल्स की तरह ही इस इन इंस्ट्रक्टर को भी अपने आपको लगातार अपडेट करते रहना होता है और दुनियाभर के बाजार पर नजर बनाए रखना होता है. कुछ कोडिंग तकनीक और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जो इंडिया में अभी है भी नहीं, उनके बारे में भी जानकारी होनी जरूरी होती है.ये भी पढ़ें: सावधान! 31 दिसंबर से बंद होने जा रहा है 2 हजार रुपये का नोट? जानें इस खबर का सच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 5:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर