रिपोर्ट में खुलासा: भारत में टैलेंट के मामले में महिलाओं से पिछड़े पुरुष, कंपनियों के लिए महिलाएं बनीं पहली पसंद

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को मिलेंगी अधिक नौकरी

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को मिलेंगी अधिक नौकरी

कोरोना महामारी के दौरान नौकरी के मामले में स्ट्रेटेजिक बदलावों को एक स्टडी में पता है कि टेक्नोलाॅजी की बढ़ती मांग के कारण युवा रोजगार में कमी आई है, लेकिन डिजिटल क्रांति के साथ महिलाओं की रोजगार में सुधार हुआ है. भारत में रोजगार के लिए महिलाएं पहली पसंद बनती जा रही हैं. पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा रोजगार मिल रहा है. इसका खुलासा इंडिया स्किल्स रिपोर्ट 2021 (Skills Report 2021)में किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2021, 12:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महिलाओं के हित में एक अच्छी खबर सामने आई है. कोरोना महामारी के दौरान नौकरी के मामले में स्ट्रेटेजिक बदलावों को एक स्टडी में पता है कि टेक्नोलाॅजी की बढ़ती मांग के कारण युवा रोजगार में कमी आई है, लेकिन डिजिटल क्रांति के साथ महिलाओं की रोजगार में सुधार हुआ है. भारत में रोजगार के लिए महिलाएं पहली पसंद बनती जा रही हैं. पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा रोजगार मिल रहा है. इसका खुलासा इंडिया स्किल्स रिपोर्ट 2021 (Skills Report 2021)में किया गया है.

महिलाओं के लिए अधिक नौकरी

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत के सिर्फ 45.9 प्रतिशत ग्रेजुएट ही नौकरी पाने के लायक है. ये आंकड़ा पिछले तीन सालों में सबसे कम रहा है. साल 2019-20 में यह 46.21 फीसदी थी और साल 2018-19 में 47.38 प्रतिशत था. इसबार चार से तीन प्रतिशत का गिरावट है. रिपोर्ट के मुताबिक, 45.9 प्रतिशत पुरुषों की तुलना में महिलाओं की रोजगार क्षमता 46.8 प्रतिशत है. रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत में पुरुषों के मुकाबले महिलाएं नौकरी के लिए पहली पसंद है और पुरुषों से ज्यादा महिलाएं नौकरी के लिए योग्य हैं. भारत में महिलाओं के योग्य और रोजगार योग्य मानव संसाधनों की आबादी को ध्यान में रखते हुए, भारतीय कंपनी इस साल अधिक संख्या में महिला एम्पलाूयज की भर्ती कर सकती हैं. अगर ऐसा होता है तो नौकरी में जेंडर गैप की समस्या काफी हद तक खत्म हो सकता है.

ये भी पढ़ें- हवाई सफर करने वालों के लिए जरूरी खबर, सरकार किराए समेत इन पाबंदियों को करेगी खत्म
टैलेंट के मामले में ये राज्य हैं आगे

राजस्थान और पश्चिम बंगाल रोजगार से जुड़ी प्रतिभाओं के मामले में शीर्ष 10 राज्यों में हैं. वहीं, ये राज्य कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, दिल्ली, तेलंगाना और गुजरात से नीचे हैं. हरियाणा कौशल विकास से जुड़े कई कार्यक्रम चलाए जाने के बावजूद इस लिस्ट में फिर से स्थान नहीं बना सका.

ये भी पढ़ें- घर खरीदारों के लिए बड़ी खुशखबरी: सालों से अटके फ्लैट्स का निर्माण कार्य पूरा, अप्रैल से होगी डिलिवरी..



इन शहरों में सबसे अधिक रोजगार महिलाओं को मिला

रिपोर्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश में महिलाओं को रोजगार देने में सबसे आगे हैं. इन तीनों राज्यों में महिलाओं को सबसे ज्यादा रोजगार मिला है. इसके बाद चौथे स्थान पर कर्नाटक और पांचवे स्थान पर आंध्र प्रदेश का है. बता दें कि यह रिपोर्ट व्हीबॉक्स द्वारा सीआईआई (CII),एआईसीटीई (AICTE), एआईयू (AIU) और यूएनडीपी (UNDP) के साथ मिलकर तैयार की गई है. इस रिपोर्ट में करीब 65,000 कैंडिडेट्स का आकलन किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज