RBI का बड़ा फैसला- रोकी इस बैंक के MD की सैलरी, नई ब्रांच खोलने पर रोक, ग्राहकों पर अब होगा ये असर

News18Hindi
Updated: September 9, 2019, 9:33 AM IST
RBI का बड़ा फैसला- रोकी इस बैंक के MD की सैलरी, नई ब्रांच खोलने पर रोक, ग्राहकों पर अब होगा ये असर
RBI ने रोकी इस बैंक के MD की सैलरी, लगाई नई ब्रांच खोलने पर रोक, ग्राहकों पर अब होगा ये असर

RBI (Reserve Bank of India) ने नियमों को नहीं मानने के चलते देश में चल रहे नए जमाने के इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक के MD और CEO की सैलरी पर रोक लगा दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 9, 2019, 9:33 AM IST
  • Share this:
RBI (Reserve Bank of India) के  नियमों को नहीं मानने के चलते देश में चल रहे नए जमाने के इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक (Equitas Small Finance Bank) के MD और CEO की सैलरी पर रोक लगा दी है. साथ ही, RBI ने अपने अगले आदेश तक बैंक की ओर से कोई भी नई ब्रांच नहीं खोलने का आदेश दिया है. आपको बता दें कि इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक ने RBI की ओर से जारी नियमों का पालन नहीं किया है. इस वजह से उस पर सख्ती की गई है.

क्या है मामला- RBI की ओर से जारी नियमों के मुताबिक, स्मॉल फाइनेंस बैंक का लाइसेंस पाने वाली कंपनी को 3 साल के अंदर IPO लाकर शेयर बाजार में लिस्ट करना होगा. लेकिन इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक इन शर्तों को पूरा नहीं कर पाई. इसीलिए RBI ने सख्ती दिखाते हुए बैंक के नए ब्रांच खोलने और MD और CEO की सैलरी पर रोक लगा दी है. आपको बता दें कि इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक की शुरुआत 5 सितंबर 2016 को हुई थी.

ये भी पढ़ें-सिर्फ 100 रुपये में खोलें खाता, बैंक से ज्यादा मिलेगा ब्याज



अब क्या होगा ग्राहकों का - एक्सपर्ट्स बताते हैं कि इस फैसले ग्राहकों पर कोई भी असर नहीं होगा. बैंक अपना काम नियमित तौर पर जारी रखेंगे. बैंक में जमा ग्राहकों का पैसा पूरी तरह से सुरक्षित है.

क्या होते है स्मॉल फाइनेंस बैंक- समॉल फाइनेंस बैंक अन्‍य कॉमर्शियल बैंकों की तरह ही है, लेकिन इसका दायरा अन्‍य बैंकों की अपेक्षा छोटा है. ये बैंक 75 फीसदी बिजनेस प्रॉयरिटी सेक्टर के साथ होगा. , जिसमें कृषि के क्षेत्र का दायरा ज्‍यादा होगा और उसको प्राथमिकता दी जाती है.


Loading...

खासकर उन क्षेत्रों में इसकी प्राथमिकता अधिक होगी है लेकिन बड़ें बैंकों की उपस्थि‍ति नहीं के बराबर है. इन बैंकों के खुलने से छोटे कारोबारी, किसानों और असंगठित क्षेत्र के लोगों को आसानी से कर्ज मिलता है.

आरबीआई ने स्‍मॉल बैंक को पैसा जमा करने और लोन देने की भी अनुमति भी दी है. दरअसल यह बैंक उन इलाकों में अपना कारोबार करते हैं जहां पर बड़े बैंकों की पहुंच न के बराबर होती है.

नियमों के मुताबिक, बैंकिंग लाइसेंस मिल जाने के बाद अब ये कंपनियां अन्‍य बैंकों की तरह डिपॉजिट लेने और होम लोन, एजुकेशन लोन, व्‍हीकल लोन, कृषि लोन आदि देने का भी काम करती है.

ये भी पढ़ें-वित्त मंत्री का बड़ा बयान 2014 से नहीं बढ़ी है महंगाई, लोगों का सवाल उठाना गलत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 9, 2019, 9:25 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...