इस राज्य में शुरू हुई स्मार्ट राशन कार्ड योजना, 1.41 करोड़ लाभार्थियों को ऐसे मिलेगा लाभ

इस राज्य में शुरू हुई स्मार्ट राशन कार्ड योजना, 1.41 करोड़ लाभार्थियों को ऐसे मिलेगा लाभ
पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने शनिवार को राज्य में स्मार्ट राशन कार्ड योजना शुरू की.

One Nation One Ration Scheme: पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt. Amarinder Singh) ने कहा, 'राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के तहत कवर नहीं किए गए 9 लाख लाभार्थियों को रियायती राशन प्रदान करने के लिए एक अलग राज्य वित्त पोषित योजना भी शुरू की जाएगी. इसके साथ ही राज्य में कुल लाभार्थियों की संख्या 1.50 करोड़ हो जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2020, 5:46 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Punjab Chief Minister Amarinder Singh) ने शनिवार को राज्य में स्मार्ट राशन कार्ड योजना (Smart Ration Card Scheme) शुरू कर दी. राज्य के 1.41 करोड़ लाभार्थियों को इस योजना से लाभ मिलेगा. राज्य में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना (One Nation One Ration Scheme) लागू हो जाने के बाद अब पंजाब में किसी भी डिपो से अनाज प्रप्त किया जा सकता है. अमरिंदर सिंह ने इस मौके पर एक अलग योजना का भी ऐलान किया. अमरिंदर सिंह ने कहा, 'राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के तहत कवर नहीं किए गए 9 लाख लाभार्थियों को रियायती राशन प्रदान करने के लिए एक अलग राज्य वित्त पोषित योजना भी शुरू की जाएगी. इसके साथ ही राज्य में कुल लाभार्थियों की संख्या 1.50 करोड़ हो जाएगी. सीएम ने कहा कि केंद्र ने लाभार्थियों की अधिकतम संख्या 1.41 करोड़ कर दी है और बार-बार अनुरोध के बावजूद एनएफएसए के तहत कवर नहीं किए गए 9 लाख लोगों को सब्सिडी वाले राशन प्रदान करने के लिए सहमत नहीं हुआ है.

पंजाब में स्मार्ट राशन कार्ड योजना शुरू
सिंह ने कहा, 'उनकी सरकार ने राज्य-वित्त पोषित योजना के तहत ऐसे सभी बचे हुए पात्र व्यक्तियों को शामिल करने का फैसला किया है. उन सभी का भी विवरण जल्द ही घोषित किया जाएगा. स्मार्ट राशन कार्ड योजना का शुभारंभ करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना से भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने में मदद मिलेगी और लाभार्थियों को अपने डिपो से खरीदारी करने की आजादी मिलेगी. उन्होंने इसे लाभार्थी को सशक्त बनाने की दिशा में एक बड़ा कदम बताते हुए कहा कि इससे बेईमान राशन डिपो धारकों द्वारा लाभार्थियों के शोषण को समाप्त किया जा सकेगा. यह योजना लाभार्थी को पंजाब राज्य के किसी भी राशन डिपो से खाद्यान्न प्राप्त करने का अधिकार देती है.





यह कार्यक्रम ऑनलाइन आयोजित की गई थी. लुधियाना में राज्य के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री भारत भूषण आशू ने ऑनलाइन सिस्टम द्वारा इस योजना की घोषणा करते हुए कहा, 'स्मार्ट राशन कार्ड योजना वर्ष 2013 में केंद्र की तत्कालीन मनमोहन सिंह सरकार ने बनाई थी. राज्य में 3,70,0000 कार्ड बनाए जाएंगे, जिससे डेढ़ करोड़ लोग लाभान्वित होंगे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार गरीबों की भलाई के लिए सदैव तत्पर रही है और आगे भी गरीबों की भलाई में काम करती रहेगी. आशू ने कहा कि जिस तरह वर्तमान समय में गेहूं वितरण में पारदर्शिता लाई गई है मशीन में पंच करने के बाद गेहूं का वितरण हो रहा है उसी तरह स्मार्ट राशन कार्ड के माध्यम से भी कार्ड धारकों को लाभ मिलेगा. स्मार्ट कार्ड से कोई कहीं से भी सामान ले सकता है.'

ये भी पढ़ें: Ration Card: जानें राशन कार्ड बनवाने का ऑफ लाइन और Online तरीका, कुछ राज्यों ने बदले नियम
अमरिंदर सिंह ने इस मौके पर चार लाभार्थियों को स्मार्ट राशन कार्ड सौंपे. जिसके बाद सभी मंत्रियों और विधायकों ने अपने-अपने जिलों और निर्वाचन क्षेत्रों में कार्ड वितरित किए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज