होम /न्यूज /व्यवसाय /Block Deal: सॉफ्टबैंक पॉलिसीबाजार में कम करेगी हिस्सेदारी, ब्लॉक डील के जरिए बेच सकती है 5% शेयर

Block Deal: सॉफ्टबैंक पॉलिसीबाजार में कम करेगी हिस्सेदारी, ब्लॉक डील के जरिए बेच सकती है 5% शेयर

पॉलिसीबाजार

पॉलिसीबाजार

सॉफ्टबैंक पॉलिसीबाजार में अपनी हिस्सेदारी कम करने की योजना बना रही है. सीएनबीसी-टीवी18 ने गुरुवार को सूत्रों के हवाले स ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. सॉफ्टबैंक पॉलिसीबाजार में अपनी हिस्सेदारी कम करने की योजना बना रही है. सीएनबीसी-टीवी18 ने गुरुवार को सूत्रों के हवाले से बताया कि सॉफ्टबैंक ग्रुप भारत की पीबी फिनटेक लिमिटेड में 5% हिस्सेदारी बेचने की योजना बना रहा है, जो ऑनलाइन बीमा एग्रीगेटर पॉलिसीबाजार की मूल कंपनी है. सीएनबीसी-टीवी18 ने एक ट्वीट में कहा, शुक्रवार को ब्लॉक डील 440 रुपये प्रति शेयर के बेस प्राइस पर हो सकती है. पीबी फिनटेक का शेयर गुरुवार को 461 रुपए पर बंद हुआ.

सॉफ्टबैंक ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. विनिमय डेटा के अनुसार, जापानी समूह सॉफ्टबैंक की पीबी फिनटेक में अपनी दो इकाइयों के माध्यम से 10% से अधिक हिस्सेदारी है.

ये भी पढ़ें: भारतीय रिजर्व बैंक के डिजिटल रुपये से व्‍यापारियों को कितना होगा फायदा? जानें

ब्लॉक डील के जरिए हिस्सेदारी बेचने के बाद सॉफ्ट बैंक के पास पॉलिसीबाजार में 5 फीसदी केवल हिस्सेदारी रह जाएगी. सीएनबीसी-टीवी18 के ट्वीट में कहा गया है कि इनमें से एक यूनिट, एसवीएफ इंडिया होल्डिंग्स, शेयरों को बेचेगी. माना जा रहा है कि गुरूवार एक दिसंबर को पॉलिसीबाजार के क्लोजिंग प्राइस से 5 फीसदी डिस्काउंट पर सॉफ्ट बैंक अपनी हिस्सेदारी बेचने जा रही है.

इससे पहले सॉफ्टबैंक ने पेटीएम में बेची हिस्सेदारी
इससे पहले सॉफ्टबैंक ने पेटीएम की मूल कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस में अपनी 4.5 प्रतिशत हिस्सेदारी खुले बाजार सौदे के जरिये 1,631 करोड़ रुपये में बेच दी थी. पेटीएम में निवेश करने वाले निर्गम-पूर्व निवेशकों के लिए लॉक-इन की अवधि समाप्त हो गई थी. एवीएफ इंडिया होल्डिंग्स (केमैन) लि. सॉफ्टबैंक की अनुषंगी है. इन शेयरों को 555.67 रुपये प्रति शेयर के भाव पर बेचा गया.

ये भी पढ़ें: Fixed Deposit: इन 2 बैंकों ने FD की ब्याज दरों में किया बदलाव, जानिए कितना होगा फायदा

लगातार नुकसान में कंपनी
सितंबर तिमाही में पेटीएम का कंसोलिडेटेड नेट लॉस बढ़कर ₹571 करोड़ हो गया. पिछले साल यह ₹472.90 करोड़ था. हालांकि, इस तिमाही सिक्वेंसली बेस्ड इसका टोटल नुकसान कम हुआ है. बता दें कि जून तिमाही में पेटीएम को ₹644.4 करोड़ का घाटा हुआ था. वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में पेटीएम का रेवेन्यू 76% बढ़ा है और यह बढ़कर 1,914 करोड़ रुपये हो गया. पिछले साल इसी तिमाही में यह 1,086 करोड़ रुपये था. वहीं, जून तिमाही के ₹1,679.60 करोड़ के मुकाबले पेटीएम का रेवेन्यू 14% ज्यादा है.

Tags: Business news in hindi, Share market

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें