• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • सॉफ्टवेयर कंपनी Freshworks ने बनाया कीर्तिमान, अमेरिका में लिस्ट होने वाली पहली भारतीय SaaS कंपनी

सॉफ्टवेयर कंपनी Freshworks ने बनाया कीर्तिमान, अमेरिका में लिस्ट होने वाली पहली भारतीय SaaS कंपनी

 Freshworks का कीर्तिमान, अमेरिका में लिस्ट होने वाली पहली भारतीय SaaS कंपनी

Freshworks का कीर्तिमान, अमेरिका में लिस्ट होने वाली पहली भारतीय SaaS कंपनी

भारतीय सॉफ्टवेयर-एज-ए-सर्विस (SaaS) कंपनी Freshworks ने एक नया कीर्तिमान बनाया है. फ्रेशवर्क्स ऐसी पहली भारतीय SaaS कंपनी बन गई है, जिसके शेयर अमेरिकी शेयर बाजार में लिस्ट हुए हैं. बुधवार को फ्रेशवर्क्स का आईपीओ Nasdaq ग्लोबल सेलेक्ट मार्केट पर लिस्ट हुए.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    मुंबई . भारतीय सॉफ्टवेयर-एज-ए-सर्विस (SaaS) कंपनी Freshworks ने एक नया कीर्तिमान बनाया है. फ्रेशवर्क्स ऐसी पहली भारतीय SaaS कंपनी बन गई है, जिसके शेयर अमेरिकी शेयर बाजार में लिस्ट हुए हैं. बुधवार को फ्रेशवर्क्स का आईपीओ Nasdaq ग्लोबल सेलेक्ट मार्केट पर लिस्ट हुए.

    इस मौके पर फ्रेशवर्क्स के कोफाउंडर गिरीश मात्रुबुतम ने कहा, “मुझे ऐसा लग रहा है जैसे किसी भारतीय ने 100 मीटर की रेस में ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीत लिया है.”

    साल 2021 का चर्चित आईपीओ
    बिजनेस सॉफ्टवेयर बनाने वाली फ्रेशवर्क्स का आईपीओ 2021 के सबसे चर्चित आईपीओ में से एक है. कोरोना महामारी के बाद वर्क फ्रॉम होम कल्चर में आई तेजी के चलते SaaS इंडस्ट्री में काफी ग्रोथ देखने को मिली है. फ्रेशवर्क्स और उसके को-फाउंडर गिरीश मात्रुबुतम को भारतीय SaaS इंडस्ट्री का चेहरा कहा जाता है.

    यह भी पढ़ें –  Fund of Funds: फंड ऑफ फंड्स क्या होते हैं, जानिए निवेश को लेकर जरूरी बातें

    Nasdaq मार्केटसाइट पर लिस्टिंग 
    Nasdaq मार्केटसाइट पर लिस्टिंग के समय आयोजित बेल सेरेमनी के दौरान गिरीश ने कहा, “हम दुनिया को यह दिखा रहे है कि भारत की एक ग्लोबल प्रोडक्ट कंपनी क्या हासिल कर सकती है. अमेरिकी मार्केट में ऐसा करने वाले हम पहले भारतीय है, इस एहसास ने हमें और खुशी दी है. यह फ्रेशवर्क्स के लिए एक नई शुरुआत है.”

    साल 2010 में कंपनी की शुरुआत
    बता दें कि कंपनी की शुरुआत 2010 में गिरीश मात्रुबुतम और शान कृष्णासामी ने Freshdesk के तौर पर की थी. इसे 2017 में बदलकर Freshworks किया गया था. इसके इनवेस्टर्स में एक्सेल, सिकोइया कैपिटल और टाइगर ग्लोबल शामिल हैं. आईपीओ से पहले Freshworks का वैल्यूएशन 10 अरब डॉलर से अधिक का हो गया था.

    कंपनी ने अपने आईपीओ के लिए 36 डॉलर प्रति शेयर का भाव तय किया था. फ्रेशवर्क के शेयरों में अमेरिकी समयानुसार बुधवार से ट्रेडिंग शुरू हो सकेगी. कंपनी का सिंबल “FRSH” है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज