ट्रैफिक जाम से जल्द मिलेगी राहत! तेजी से हो रहा है उड़ने वाली टैक्स पर काम, देखें VIDEO

अक्सर जब हम ट्रैफिक जाम में फंसते हैं तो सोचते हैं कि काश हम उड़कर दफ्तर पहुंच पाते. अब आपकी ये सोच सच होने वाली है. जल्द आप सुनेंगे कि ओला और ऊबर ड्रोन से हमें और आपको फ्लाइंग टैक्सी की सर्विस देना चाहते हैं.

Cnbc-Awaaz
Updated: June 14, 2019, 12:57 PM IST
Cnbc-Awaaz
Updated: June 14, 2019, 12:57 PM IST
अक्सर जब हम ट्रैफिक जाम में फंसते हैं तो सोचते हैं कि काश उड़कर दफ्तर पहुंच पाते. अब आपकी ये सोच सच होने वाली है. भारत में टेक्नोलॉजी एडवांसमेंट जोरों पर है. लगातार नई टेक्नोलॉजी डेवलप हो रही है, यही वजह है कि आने वाले दिनों में आप और हम उड़कर दफ्तर जाएंगे. इससे आपका वक्त बचेगा और ट्रैफिक जाम से भी छुटकारा मिल जाएगा. इसके साथ ही पॉल्यूशन भी कम होगा.

हम ये आपको इसलिए बता रहे हैं क्योंकि पिछले दिनों दुबई में वोलोकॉप्टर का सफल परीक्षण किया गया है. अब आप ये सोच रहे होंगे कि वोलोकॉप्टर क्या है. ये असल में एक छोटा हेलीकॉप्टर है, बहुत ही छोटा, सिर्फ एक आदमी इसमें बैठ सकता है. इसी के बहाने हम भविष्य के पब्लिक और पर्सनल ट्रांसपोर्ट पर बात करेंगे. क्योंकि अब ऐसी उम्मीद लगाई जा रही है की उड़नखटोला बनेगा स्मॉर्ट पब्लिक ट्रांसपोर्ट का जरिया.



ओला और ऊबर ड्रोन से फ्लाइंग टैक्सी की सर्विस देंगे
अक्सर आप सुनते होंगे कि उबर ईट और स्विगी जैसी कंपनियां ड्रोन से खाना पहुंचाना चाहती हैं. अमेजन और फ्लिपकॉर्ट ड्रोन से सामान की जल्द और प्रीमियम डिलिवरी करना चाहते हैं. लेकिन जल्द आप सुनेंगे कि ओला और ऊबर ड्रोन से हमें और आपको फ्लाइंग टैक्सी की सर्विस देना चाहते हैं. कुछ दिनों पहले दुबई में वोलोकॉप्टर का सफल परीक्षण किया गया है. वोलोकॉप्टर एक छोटा हेलीकॉप्टर है, जिसमें सिर्फ एक आदमी बैठ सकता है. फ्यूल के नाम पर इसमें बैटरी लगी होगी और ये ड्रोन टेक्नोलॉजी से उड़ेगा.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार का नया प्लान 40 प्राइवेट एक्सपर्ट्स बनेंगे अफसर



फ्लाइंग टैक्सी छोटी से जगह में टेकऑफ और लैंड हो सकेगी
Loading...

वोलोकॉप्टर या फ्लाइंग टैक्सी सीधे टेकऑफ और लैंड करने में सक्षम है. इसके पंख इतने छोटे हैं कि इसे लैंड करने के लिए ज्यादा बड़ी जगह भी नहीं चाहिए. इसमें सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होंगे. अच्छी बात ये है कि ये टैक्सियां प्रदूषण नहीं फैलाएंगी. बैटरी से चलने के कारण इसमें आवाज भी कम होगी. वोलोकॉप्टर जर्मनी की एक कंपनी बना रही है. उसके मुताबिक अगले साल से वोलोकॉप्टर की सर्विस भी शुरू हो जाएगी.

ये भी पढ़ें: SBI में FD करवाने की सोच रहे हैं तो पहले यह पढ़ लें


एयर टैक्सी में 5 से 6 लोग बैठ पाएंगे 
इधर ऊबर ने भी अपनी एयर टैक्सी का ऑफिशियल वीडियो रिलीज किया है और 2023 तक इसका इस्तेमाल शुरू करने की बात की जा रही है. ऊबर की एयर टैक्सी में 5 से 6 लोग बैठ पाएंगे और विंग्स एडजस्टेबल होंगे. वहीं दूसरी तरफ ऊबर जुलाई से अपनी हेलीकॉप्टर सर्विस ऊबर कॉप्टर शुरू करने जा रही है. फिलहाल इसकी शुरुआत न्यूयॉर्क से होगी फिर इसे दूसरे देशों में भी शुरू किया जाएगा जिसमें भारत भी शामिल है.

ये भी पढ़ें: सरकारी मदद से 3 लाख में शुरू करें बिजनेस, 8000 महीने की कमाई

अब आपके घर ड्रोन से होगी खाने की डिलीवरी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स


 




 

Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...