लाइव टीवी

मोदी सरकार का बड़ा फैसला! जल्द ये 6 Airports हो सकते हैं प्राइवेट

hindi.moneycontrol.com
Updated: September 25, 2019, 1:09 PM IST

सरकारी सम्पतियों को निजी कंपनियों (private companies) को बेचने की योजना के तहत सरकार अब 6 और एयरपोर्ट को निजी हाथों में सौंपेगी (Airport Privatization). सूत्रों के मुताबिक 6 और एयरपोर्ट को निजी हाथों में सौंपने के लिए अगले चरण की शुरुआत हो गई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार जल्द 6 और एयरपोर्ट को निजी हाथों में सौंपने (Airport Privatization) की तैयारी में है. CNBC आवाज़ को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 6 और एयरपोर्ट को निजी हाथों में सौंपने के लिए अगले चरण की शुरुआत हो गई है. दूसरे चरण में 6 और एयरपोर्ट की पहचान की गई है इसमें वाराणसी, रायपुर, इंदौर, भुवनेश्वर, अमृतसर, तिरची शामिल हैं. अभी एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया इन एयरपोर्ट को ऑपरेट करती है. आपको बता दें कि पहले चरण में 6 एयरपोर्ट की निलामी हो चुकी है. सरकार को भरोसा है कि जिस तरह पहले चरण में सरकार ने कंपनियों को खरीदने में दिल्चापसी दिखाई थी उसी तरह दूसरे चरण में भी ये निजी कंपनियां दिलचस्पी दिखा सकती हैं.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! 6 करोड़ PF खाताधारकों मिलेगा पहले से ज्यादा ब्याज

पहले चरण में अदानी, जीएमआर, जीवीके जैसी कंपनियों से अच्छा रिस्पॉन्स मिला था. अदानी एंटरप्राइजेज को 6 एयरपोर्ट का जिम्मा मिला था. दूसरे चरण में भी ये निजी कंपनियां दिलचस्पी दिखा सकती हैं. सरकारी कंपनियों के एसेट मॉनेटाइजेशन पर बनी कमेटी ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. कैबिनेट सचिव ने भी इस प्रस्ताव को मंजूरी दी है.

फरवरी में हुआ था पहला निजीकरण

पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत देश छह हवाई अड्डों के संचालन का ठेका अडाणी समूह को मिला. इस समूह को यह ठेका 50 साल तक के लिए मिला है. सरकार ने पिछले साल नवंबर में एएआई द्वारा परिचालित किए जाने वाले छह हवाई अड्डों को पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत चलाने की अनुमति दी थी. इसके लिए मंगाई गई बोलियां बीते 25 फरवरी को खोली गईं. सभी छह अहमदाबाद, तिरुवनंतपुरम, लखनऊ, मेंगलुरु, जयपुर और गुवाहाटी हवाई अड्डों के परिचालन के लिए अडाणी समूह ने सबसे ऊंची बोली लगाई थी.

ये भी पढ़ें: टेंशन में पाकिस्तानी! अब इस वजह से निकाह करने के लिए तरस रहे हैं आम लोग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 25, 2019, 12:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...