जल्द ही​ किसी को फोन लगाने से पहले करना होगा ये काम, लैंडलाइन को लेकर TRAI और दूरसंचार विभाग में ठनी

जल्द ही किसी को फोन करने से पहले आपको शून्य (0) लगाना होगा.
जल्द ही किसी को फोन करने से पहले आपको शून्य (0) लगाना होगा.

लैंडलाइन ब्रॉडबैंड को लेकर रेग्युलेटर TRAI और दूरसंचार विभाग (Department of Telecom) में ठन गई है. इसके अलावा फिलहाल ट्राई ने मोबाइल नंबर को 11 डिजिट को करने का प्रस्ताव को ठुकरा दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कम लैंडलाइन ब्रॉडबैंड को लेकर टेलिकॉम रेग्युलेटर ने TRAI दूरसंचार विभाग को जिम्मेदार ठहराया है. CNBC-आवाज़ को सूत्रों से इस बारे में जानकारी मिली है. TRAI ने इस संबंध में प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) में चिट्ठी ​भी लिखी है. इसमें कहा गया है कि दूरसंचार विभाग ने ब्रॉडबैंड बढ़ाने की सिफारिश को अनदेखी कर दिया है.

4 साल से अटकी है ट्राई की सभी सिफारिशें
कम लैंडलाइन ब्रॉडबैंड को लेकर ट्राई दूरसंचार विभाग से नाराज है जिसके चलते DoT, TRAI की सिफारिशें मंजूर नहीं कर रहा है. बता दें कि TRAI ने 2017 में ब्रॉडबैंड बढ़ाने की सिफारिश की थी लेकिन पिछले 4 साल से TRAI की सभी सिफारिशें अटकी है.

यह भी पढ़ें: इन 3 सरकारी बैंकों को बड़ा झटका! RBI ने लगाया 6 करोड़ रु से ज्यादा का जुर्माना





केवल 2 करोड़ लोगों के पास ही लैंडलाइन ब्रॉडबैंड
केबल टीवी से इंटरनेट कनेक्शन की सिफारिश अटकी है. साथ ही पब्लिक wifi हॉटस्पॉट से ब्रॉडबैंड की सिफारिश को मंजूर नहीं किया गया है. TRAI ने PMO को चिट्टी लिखकर इस बात की शिकायत की है. भारत में मात्र 2 करोड़ लोगों के पास लैंडलाइन ब्रॉडबैंड है. गौरतलब हो कि भारत में 65 करोड़ लोग इंटरनेट के यूजर्स है.

ट्राई ने 11 डिजिट के मोबाइल नंबर के प्रस्ताव को ठुकराया
वहीं, अब जल्द ही किसी को फोन करने से पहले आपको शून्य (0) लगाना होगा. टेलीकॉम रेगुलेटर TRAI ने दूरसंचार विभाग से ये सिफारिश की है. इसके अलावा फिलहाल ट्राई ने मोबाइल नंबर को 11 डिजिट को करने का प्रस्ताव को ठुकरा दिया है. नंबर रिसोर्स को लेकर TRAI की नई तैयारी शुरु है जिसके बाद मोबाइल नंबर 6, 4 , 3, 2 डिजिट से भी शुरू होगा. Machine-to-machine 13 डिजिट के नंबर का इस्तेमाल कर सकेंगे.

यह भी पढ़ें: Google, Microsoft, RBI की चेतावनी! कोरोना के दौरान बढ़ रही है ऑनलाइन धोखाधड़ी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज