5 साल बाद 7 फ्रीक्‍वेंसी बैंड में 3.92 लाख करोड़ के स्‍पेक्‍ट्रम की नीलामी शुरू, मिलीं 77 हजार करोड़ से ज्‍यादा की बोलियां

देश में स्पेक्ट्रम की नीलामी (Spectrum auctions) 1 मार्च 2021 यानी सोमवार को शुरू हो गई.

देश में स्पेक्ट्रम की नीलामी (Spectrum auctions) 1 मार्च 2021 यानी सोमवार को शुरू हो गई.

टेलीकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने कहा कि नीलामी के पहले दिन 77,146 करोड़ रुपये के स्पेक्ट्रम (Spectrum Auction) के लिए बोली लगी. हालांकि, प्रीमियम 700 और 2500 मेगाहर्ट्ज बैंड्स में एयरवेव्स के लिए कोई बोलीदाता नहीं मिला. स्‍पेक्‍ट्रम नीलामी कल यानी मंगलवार को भी जारी रहेगी. अभी तक 800 MHz, 900 MHz, 1800 MHz, 2100 MHz और 2300 MHz स्‍पेक्‍ट्रम के लिए बोलियां (Bids) मिली हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 2, 2021, 12:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में स्पेक्ट्रम की नीलामी (Spectrum auctions) 1 मार्च 2021 यानी सोमवार को शुरू हो गई. कुल 3.92 लाख करोड़ रुपये मूल्य के 2,251.25 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम को नीलामी के लिए रखा गया है. टेलीकॉम सेवाओं (Telecom Services) के लिए 700 मेगाहर्ट्ज, 800 मेगाहर्ट्ज, 900 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज, 2300 मेगाहर्ट्ज और 2500 मेगाहर्ट्ज के 7 फ्रीक्वेंसी बैंड में स्पेक्ट्रम की नीलामी जारी है. हालांकि, स्पेक्ट्रम की मौजूदा दौर की नीलामी में 3300-3600 मेगाहर्ट्ज की फ्रीक्वेंसी शामिल नहीं की गई है.

नीलामी शामिल नहीं किया गया स्‍पेक्‍ट्रम 5G सेवाओं में होगा इस्‍तेमाल
नीलामी में शामिल नहीं किया गया 3300-3600 मेगाहर्ट्ज फ्रीक्वेंसी का स्पेक्ट्रम 5G सेवाओं के लिए इस्तेमाल होना है. इसके लिए नीलामी बाद में अलग से की जाएगी. सफल बोलीदाताओं (Successful Bidders) के पास पूरी बोली की राशि का भुगतान एकबार में करने या निश्चित राशि यानी 700 मेगाहर्ट्ज, 800 मेगाहर्ट्ज, 900 मेगाहर्ट्ज में जीते गए स्पेक्ट्रम के लिए 25 प्रतिशत का भुगतान शुरू में करने का विकल्प होगा. इसके अलावा बोलीदाताओं को 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज, 2300 मेगाहर्ट्ज और 2500 मेगाहर्ट्ज में हासिल स्पेक्ट्रम के लिए एकबार में 50 फीसदी भुगतान करना होगा.

Youtube Video

ये भी पढ़ें- GST Collection: जनवरी 2021 के मुकाबले गिरावट, फिर भी फरवरी में लगातार 5वें महीने 1 लाख करोड़ के पार पहुंचा जीएसटी



सफल बोलीदाताओं को नीलामी में हासिल स्‍पेक्‍ट्रम की वैधता 20 साल
सफल बोलीदाताओं को शेष राशि का भुगतान दो साल की रोक के बाद अधिकतम 16 मासिक किस्तों (EMI) में किया जा सकता है. इस नीलामी में हासिल स्पेक्ट्रम की वैधता 20 साल की होगी. निजी क्षेत्र की दूरसंचार कंपनियों रिलायंस जियो (Reliance Jio), भारती एयरटेल (Bharti Airtel) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) ने स्पेक्ट्रम नीलामी के लिए 13,475 करोड़ रुपये की शुरुआती राशि (Earnest Money Deposit, EMD) जमा कराई है. जियो ने नीलामी के लिए सबसे ज्‍यादा 10,000 करोड़ रुपये की ईएमडी जमा कराई है.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोने के दाम में तेजी, फिर भी 46 हजार से बना हुआ है नीचे, चांदी हुई महंगी, देखें लेटेस्‍ट भाव

'प्रीमियम बैंड्स में एयरवेव्‍स के लिए नहीं मिला कोई बोलीदाता'
टेलीकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने कहा कि पहले दिन 77,146 करोड़ रुपये के स्पेक्ट्रम की बोली लगी. हालांकि, प्रीमियम 700 और 2500 MHz बैंड्स (Premium Bands) में एयरवेव्स के लिए कोई बोलीदाता नहीं मिला. उन्होंने कहा कि नीलामी कल यानी मंगलवार को भी जारी रहेगी. बोलियां 800 MHz, 900 MHz, 1800 MHz, 2100 MHz और 2300 MHz में मिली थीं. स्पेक्ट्रम में नीलाम किया जा रहा लगभग एक तिहाई स्पेक्ट्रम 700 MHz बैंड में है, जो 2016 की नीलामी के दौरान अनसोल्ड (Unsold) रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज