होम /न्यूज /व्यवसाय /

SpiceJet के पायलटों के वेतन में हो सकता है इजाफा, 20 फीसदी तक बढ़ सकती है सैलरी

SpiceJet के पायलटों के वेतन में हो सकता है इजाफा, 20 फीसदी तक बढ़ सकती है सैलरी

स्‍पाइसजेट ने कुछ दिन पहले ही अपने 80 पायलट्स को बिना वेतन 3 महीने की छुट्टी पर भेज दिया था.

स्‍पाइसजेट ने कुछ दिन पहले ही अपने 80 पायलट्स को बिना वेतन 3 महीने की छुट्टी पर भेज दिया था.

स्‍पाइजेट (SpiceJet) अपने सभी कर्मचारियों का टीडीएस (TDS) भी अगले दो-तीन सप्‍ताह में जमा करा देगी और कर्मचारियों के बकाया ईपीएफ (EPF) का बड़ा हिस्‍सा भी जल्‍द ही डिपॉजिट करेगी. स्‍पाइसजेट ने कुछ दिन पहले ही अपने 80 पायलट्स को बिना वेतन 3 महीने की छुट्टी पर भेज दिया था.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

स्‍पाइजेट अपने सभी कर्मचारियों का टीडीएस (TDS) भी अगले दो-तीन सप्‍ताह में जमा करा देगी.
स्पाइसजेट के कर्मचारियों को अभी भी कोरोना के पूर्व स्‍तर से कम वेतन मिल रहा है.
कंपनी 20 करोड़ डॉलर पूंजी जुटाने के लिए जल्द इनवेस्टमेंट बैंकर की नियुक्ति करेगी.

नई दिल्‍ली. विमानन कंपनी स्‍पाइसजेट (SpiceJet) अपने पायलटों की वेतन में जल्‍द ही बढ़ोतरी कर सकती है. इस मामले की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया कि कंपनी कैप्‍टन और सीनियर फर्स्ट ऑफिसर्स के वेतन में वृद्धि करेगी. यह बढ़ोतरी 20 फीसदी तक हो सकती है. सूत्रों को कहना है कि बढ़ी हुई सैलरी अक्‍टूबर से मिलने लगेगी. इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम (ECLGS) के तहत कंपनी को पेमेंट का पहला हिस्सा मिला है. दूसरा हिस्सा जल्द मिल जाने की उम्मीद है.

मनीकंट्रोल की एक रिपोर्ट के अनुसार, स्‍पाइजेट अपने सभी कर्मचारियों का टीडीएस भी अगले दो-तीन सप्‍ताह में जमा करा देगी और कर्मचारियों के बकाया ईपीएफ का बड़ा हिस्‍सा भी जल्‍द ही डिपॉजिट करेगी. पायलट्स की सैलरी बढ़ाने का यह फैसला स्पाइसेट के उस फैसले के कुछ ही दिन बाद आया है, जिसमें उसने 80 पायलट्स को बिना वेतन 3 महीने की छुट्टी पर भेज दिया था. कंपनी का कहना है कि खर्च घटाने के लिए उसने पायलटों को अवकाश पर भेजा है.

ये भी पढ़ें-  अब गूगल सर्च से बुक होगा ट्रेन का टिकट! इंटरसिटी बसों के लिए भी आएगा ऐसा ही ऑप्शन

कोरोना पूर्व स्‍तर से कम है सैलरी
स्पाइसजेट के कर्मचारियों को अब भी कोरोना के पूर्व स्‍तर से कम वेतन मिल रहा है. कंपनी का कहना है कि तेल की लागत बढ़ने और घरेलू सेवाओं के अब भी लिमिट में ही चलने के कारण वह कर्मचारियों की सैलरी नहीं बढ़ा पाई है. इसलिए स्‍पाइसजेट के कर्मचारियों को सैलरी में वृद्धि के लिए अभी और इंतजार करना पड़ सकता है. वहीं, देश की दूसरी प्रमुख एयरलाइन इंडिगो के पायलट्स, केबिन क्रू और ग्राउंड हैंडलिंग स्टाफ की सैलरी सितंबर के अंत तक कोरोना से पहले के स्तर तक होने की उम्‍मीद है.

भारत में मिलता है कम वेतन
भारत में ज्यादातर पायलट्स, केबिन क्रू और ग्राउंड हैंडलिंग स्टाफ की सैलरी अन्‍य देशों के एयरलाइंस स्‍टॉफ को मिलने वाले वेतन के मुकाबले कम है. इसके अलावा इंडियन एयरलाइंस स्टाफ को स्टैंडर्ड से ज्यादा काम करना पड़ता है. भारत में अकासा एयरलाइन और जेट एयरवेज की एंट्री के बावजूद एयरलाइंस कंपनियों के कर्मचारियों के वेतन में अभी इजाफा होने की उम्‍मीद कम ही है.

ये भी पढ़ें-  Rupay Credit Card on UPI: भीम ऐप पर पीएनबी समेत 3 बैंकों के रूपे क्रेडिट कार्ड हुए लाइव, ऐसा करेगा काम

फंड जुटाने में लगी है स्‍पाइसजेट
स्पाइसजेट ने पिछले महीने कहा था कि वह भविष्‍य को लेकर पॉजिटिव है. भविष्य की योजनाओं को पूरा करने के लिए कंपनी के बोर्ड ने नई पूंजी जुटाने का प्लान बनाया है. कंपनी 20 करोड़ डॉलर पूंजी जुटाने के लिए जल्द इनवेस्टमेंट बैंकर की नियुक्ति करेगी. स्पाइसजेट का इरादा हिस्सेदारी बेचकर भी पैसे जुटाने का है. इसके लिए वह संभावित निवेशकों की तलाश में है.

Tags: Aviation News, Business news, Business news in hindi, Spicejet

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर