Home /News /business /

sri lanka bans sale of fuel except for essential services in the country appeals to india for help

श्रीलंका में आर्थिक संकट गहराया, आवश्यक सेवाओं को छोड़कर ईंधन की बिक्री पर लगी रोक

श्रीलंका ने आवश्यक सेवाओं को छोड़कर ईंधन की बिक्री पर लगाई रोक.

श्रीलंका ने आवश्यक सेवाओं को छोड़कर ईंधन की बिक्री पर लगाई रोक.

श्रीलंकाई सरकार ने ईंधन की बिक्री पर रोक लगा दी है. सरकार के एक मंत्री ने कहा है कि बचा हुआ ईंधन अस्पतालों को दिया जाएगा. देश के सरकारी स्टॉक में अब 3-4 का ईंधन की बाकी रह गया है.

नई दिल्ली. आर्थिक तंगी का सामना कर रहे श्रीलंका में अब आवश्यक सेवाओं को छोड़कर बाकी किसी को ईंधन नहीं बेचा जाएगा. सरकार के प्रवक्ता बंदुला गुणवर्धन ने इसकी घोषणा की है. खबरों के अनुसार, श्रीलंकाई सरकार के पास 9,000 टन डीजल और 6,000 टन पेट्रोल बचा है. वहीं, श्रीलंका में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन की लोकल यूनिट ने रॉयटर्स को बताया है कि उसके पास 22,000 टन डीजल और 7,500 टन पेट्रोल बचा है.

गौरतलब है कि श्रीलंका अपनी ट्रांसपोर्ट जरूरतों को पूरा करने के लिए प्रतिदिन 5,000 टन डीजल और 3,000 टन पेट्रोल का इस्तेमाल करता है. आईओसी श्रीलंका को उम्मीद है कि 13 जुलाई तक कुल 30,000 टन पेट्रोल और डीजल की शिपमेंट उसके पास पहुंच जाएगी. इसके अलावा श्रीलंकाई सरकार को कहीं से ईंधन की खेप की कोई उम्मीद नहीं है. देखा जाए तो श्रीलंकाई सरकार के स्टॉक में केवल 4-5 दिन का ईंधन बचा है. बंदुला गुणवर्धन ने कहा है कि यह ईंधन अस्पतालों को दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- Petrol Diesel Prices : 116 डॉलर के पार पहुंचा क्रूड का भाव, पेट्रोल-डीजल के रेट में आज क्‍या हुआ बदलाव?

अंतरराष्ट्रीय ईंधन कंपनियां पीछे हटीं
अंतरराष्ट्रीय ईंधन कंपनियों का कहना है कि वह श्रीलंका को स्थानीय बैंक की गारंटी के आधार पर ईंधन नहीं बेच सकती हैं. ऋणों का भुगतान नहीं कर पाने के कारण इन कंपनियों ने श्रीलंका को ब्लैकलिस्ट कर दिया गया है. कंपनियों का कहना है कि वह श्रीलंका को ईंधन केवल अंतरराष्ट्रीय गारंटी पर ही देंगी.

देश छोड़ने की कोशिश कर रहे लोग
श्रीलंका की नेवी ने सोमवार को पूर्वी तट से 54 लोगों को गिरफ्तार किया जो बोट की मदद से देश छोड़ने का प्रयास कर रहे थे. इससे पिछले हफ्ते भी भागने की कोशिश कर रहे 35 लोग गिरफ्तार किए गए थे. देश में स्कूलों के खुलने पर 1 हफ्ते की रोक लगा दी गई है. श्रीलंका के विद्युत प्राधिकरण ने कहा है कि वह ईंधन के आखिरी स्टॉक्स का इस्तेमाल कर रही है. श्रीलंका के पब्लिक यूटिलिटीज कमीशन के चेयरमैन जनका रतनायके के अनुसार, देश में पावर कट 3-4 घंटे का ही रखे जाने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन हालात को देखते हुए इसमें आगे बदलाव हो सकता है.

ये भी पढ़ें- केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा- भारत मुद्रास्फीति को कम करने में सफल, 9 साल में दोगुनी होगी अर्थव्यवस्था

भारत से मदद की गुहार
श्रीलंका के उच्चायुक्त मिलिंडा मोरागोडा पेट्रोल और डीजल आपूर्ति तत्काल प्राप्त करने की संभावना पर सोमवार को भारत के पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी से बातचीत की. इस पर केंद्रीय मंत्री ने उन्हें सकारात्मक प्रतिक्रिया दी. बता दें कि भारत ने श्रीलंका को करीब 4 अरब डॉलर की आर्थिक मदद दी है. उधर अमेरिका ने भी श्रीलंका को वित्तीय प्रबंधन के लिए तकनीकी सहायता मुहैया कराने का भरोसा दिया है.

Tags: Economic crisis, Economy, Srilanka

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर