Zomato से सुलह के मूड में नहीं है रेस्टोरेंट्स का संगठन

News18Hindi
Updated: September 3, 2019, 6:54 AM IST
Zomato से सुलह के मूड में नहीं है रेस्टोरेंट्स का संगठन
जोमैटो और रेस्टोरेंट मालिकों के बीच गतिरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है (फाइल फोटो)

जोमैटो (Zomato) के गोल्ड डिलिवरी (Gold Delivery) नाम का नया कदम उठाने के बाद उसके साथ जारी रेस्टोरेंट मालिकों (Restaurant Owners) का गतिरोध (Standoff) थमने के बजाए और भी ज्यादा गहराता गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2019, 6:54 AM IST
  • Share this:
रेस्टोरेंट मालिकों और उनके संगठन नेशनल रेस्टोरेंट्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (NRAI) और खाना डिलिवर करने वाले प्लेटफॉर्म जोमैटो (Zomato) के बीच एक विवादास्पद मेंबरशिप प्रोग्राम को लेकर विवाद चल रहा है. इस मामले में आठ घंटे लंबी बैठक के बाद भी किसी भी पक्ष के लिए राहत के कोई आसार नहीं नज़र आ रहे हैं. यह मीटिंग बिना किसी फैसले के ही खत्म हुई है.

दरअसल जोमैटो ने अपनी ऑनलाइन डिलिवरी के लिए गोल्ड मेंबरशिप स्कीम जारी की थी, जो इस विवाद की जड़ है. जोमैटो ने जुलाई में इनफिनिटी डाइनिंग प्रोग्राम नाम की यह स्कीम लॉन्च की थी. इसमें जोमैटो गोल्ड मेंबर्स ऐप के जरिए एक तय कीमत पर रेस्टोरेंट्स से असीमित मील्स ऑर्डर कर सकते हैं. रेस्टोरेंट्स का आरोप था कि इस तरह की लॉयल्टी स्कीमों से उनके प्रॉफिट पर असर पड़ रहा था.

मीटिंग से नहीं हुआ कोई फायदा
NRAI के सदस्य इस समस्या को लेकर स्विगी और जोमैटो जैसे फूड एग्रीगेटर्स के प्रतिनिधियों से मिले थे और जोमैटो को बताया था कि उनका यह कदम पूरी तरह से अस्वीकार्य है. NRAI ने इसके बारे में बताया कि, "जोमैटो के साथ मीटिंग की शुरुआत ही एक खराब स्थिति में हुई क्योंकि उन्होंने कहा कि वे गोल्ड ऑप्शन को अपने डिलिवरी वर्टिकल पर भी लाने वाले हैं जो कि हमें बिल्कुल स्वीकार नहीं है."

जोमैटो ने कहा, कर रहे हैं हल निकालने की कोशिश
जोमैटो ने हालांकि इस मामले को इतनी तवज्जो नहीं दी है. अख़बार इकॉनमिक टाइम्स को दी गई जानकारी के मुताबिक जोमैटो ने कहा है कि हमने NRAI के साथ एक मीटिंग में विस्तार से बातें की हैं, जहां हमने इंडस्ट्री से जुड़े सारे मुद्दों पर चर्चा की है और हमने एक ऐसे हल की तरफ साथ काम करने का फैसला किया है जो सभी को स्वीकार्य हो.

इसमें यह भी कहा गया है, "हममें संभावित हलों को निकालने और आगे बढ़ने के लिए जल्द ही फिर से मिलने की सहमति भी बनी है." इस मीटिंग में मौजूद लोगों ने बताया कि जोमैटो और NRAI के बीच चली इस लंबी मीटिंग में कई मुद्दों का हल निकल आने की आशा की जा रही थी. इन मुद्दों में कमीशन, ऑनलाइन डिलिवरी, सेवाओं के बंटवारे और क्लाउड किचन जैसे मुद्दे भी शामिल थे.
Loading...

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार का नया प्लान! अगर कटी बिजली, आपको पैसे देगी कंपनी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 6:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...