इस शख्स ने कम पैसों में शुरू किया ये कारोबार, 8 महीने में ₹30 लाख तक पहुंची कमाई, आप भी कर सकते हैं ये बिजनेस

इस कारोबार को आप कम पैसों में शुरू कर सकते हैं

इस कारोबार को आप कम पैसों में शुरू कर सकते हैं

क्या आफ नौकरी से ऊब चुके हैं और आप अपना कारोबार (How to start my own business) शुरू करना चाहते हैं. तो आज हम आपको एक ऐसे कारोबार के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे आप कम पैसे में शुरू कर सकते हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. क्या आप नौकरी से ऊब चुके हैं और आप अपना कारोबार (How to start my own business) शुरू करना चाहते हैं. तो आज हम आपको एक ऐसे कारोबार के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे आप कम पैसे में शुरू कर सकते हैं और बहुत जल्द मोटी रकम (Earn money) भी कमाने लगेंगे. ये कारोबार है- ई-व्हीकल का यानी कि इलेक्ट्रिक व्हीक्लस (Electrical vehicles Business). इन दिनों ई-व्हीकल का मार्केट (E-Cycle Market) काफी तेजी से आगे बढ़ रही है. एक तो पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतें (Petrol diesel price hike) और दूसरी ओर बढ़ते प्रदूषण (Pollution) के चलते ज्यादा से ज्यादा कंपनियां इलेक्ट्रिक व्हीकल पर जोर दे रही है. ऐसे में आप ई साइकिल का कारोबार कर सकते हैं. इसे शुरू करना बेहद आसान है. कोई भी स्टार्ट कर सकता है. बिहार के एक शख्स इस कारोबार से कम समय में लखपति बन गए. आइए जानते हैं कैसे?

8 महीने में बना दिया 250 साइकिल

बिहार के प्रशांत कुमार ने पिछले 8 महीने में 250 से ज्यादा ई साइकिल की सेल की है और 25 से 30 लाख रुपए का बिजनेस जेनरेट किया है. 52 साल के प्रशांत कुमार ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से मास्टर्स करने के बाद 10 साल तक सेल्स मार्केटिंग का काम किया. इसके बाद कुछ सालों तक मोटर बनाने वाली कंपनियों के साथ काम किया. फिर उनकी दिलचस्पी बढ़ी तो अलग-अलग मोटर्स को लेकर रिसर्च करना शुरू कर दिया. उन्होंने परमानेंट मैग्नेट जेनरेटर (PMG) भी डेवलप किया. इसकी कामयाबी के बाद इलेक्ट्रिक बाइक डेवलप करने को लेकर उन्होंने काम शुरू कर दिया.

ये भी पढ़ें- जानिए किसे मिलेगी रतन टाटा की कंपनी को संभालने की जिम्मेदारी, ये हैं दो प्रमुख दावेदार, पढ़ें इनके बारे में..
जानें कैसे करते हैं कारोबार?

प्रशांत के मुताबिक, वे E साइकिल तैयार करने के लिए रॉ मटेरियल दिल्ली से खरीदते हैं, फिर अपनी फैक्ट्री में उसे डेवलप करते हैं. एक साइकिल को बनाने में 20 से 22 हजार रुपए की लागत आती है. जबकि कस्टमर्स को वे 35 हजार रुपए में सप्लाई करते हैं. यह साइकिल मिड ड्राइव मोटर टेक्नोलॉजी पर बेस्ड है. इसका फायदा यह है कि इसे बैट्री और पैडल दोनों से चला सकते हैं. इससे बैट्री पावर की बचत होती है. इस साइकिल में 24 वोल्ट की लिथियम ऑयन बैट्री लगी है. इसे एक बार चार्ज करने पर 100 किलोमीटर तक का सफर किया जा सकता है. इसे आसानी से घर पर चार्ज कर सकते हैं.

कोई भी इसे आसानी से चला सकता है



प्रशांत के मुताबिक, यह साइकिल अधिकतम 25 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चल सकती है.इसके लिए किसी तरह के लाइसेंस या रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं होती है और न ही चालान कटने का डर है. कोई भी महिला, बुजुर्ग, यहां तक कि बच्चे भी आराम से इस साइकिल को चला सकते हैं.

ये भी पढ़ें- निवेशकों को खूब भा रहा ये फंड! लाॅन्च होते ही लगा दिए 1900 करोड़ रुपए, आप भी जानें इसके फायदे

जानें कैसे करते हैं मार्केटिंग?

बकौल प्रशांत फिलहाल दो तरह से अपने E साइकिल की मार्केटिंग कर रहे हैं. इसके लिए उन्होंने voltron.in.net नाम से एक ऑनलाइन वेबसाइट लॉन्च की है. देशभर में कहीं से भी इसके जरिए ऑर्डर किया जा सकता है. उन्होंने कुछ ट्रांसपोर्टिंग कंपनियों से टाइअप कर रखा है. 10 दिन के भीतर वे सप्लाई कर देते हैं. इसके लिए कस्टमर को एक यूजर गाइड दिया जाता है ताकि वे खुद इसे इंस्टॉल कर सकें. अगर किसी तरह की दिक्कत होती है तो उसे वीडियो कॉल के जरिए या लोकल स्टाफ भेजकर दूर करने की कोशिश होती है. इसके अलावा कई राज्यों में डीलरशिप चेन तैयार की है जहां से E साइकिल खरीदी जा सकती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज