Home /News /business /

start finance planning from first salary money making tips sip mutual fund investment ssnd

Investment Tips: कहां से शुरू करें अपनी फाइनेंशियल प्लानिंग, कहां करें पहला निवेश, जानें यहां

अपनी पहली सैलरी या अन्य साधनों से हुई इनकम से ही पहले निवेश की शुरूआत करनी चाहिए.

अपनी पहली सैलरी या अन्य साधनों से हुई इनकम से ही पहले निवेश की शुरूआत करनी चाहिए.

युवाओं को सबसे पहले इंश्योरेंस पर फोकस करना चाहिए. हेल्थ इंश्योरेंस, लाइफ इंश्योरेंस और टर्म प्लान, तीनों ही बीमा योजनाओं में निवेश करना चाहिए. इंश्योरेंस की जल्द शुरूआत करने का फायदा यह होता है कि इसमें कम प्रीमियम पर अच्छा कवरेज मिल जाता है.

अधिक पढ़ें ...

Investment Tips: महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है. अभी हम ठीक तरह से कोरोना महामारी की मार से उबर भी नहीं पाए हैं कि रूस और यूक्रेन के बीच छिड़े युद्ध ने दुनिया के बाजार के सामने एक और संकट खड़ा कर दिया है. इन तमाम घटनाओं से सबक लेते हुए हमें बचत पर अपना ध्यान फोकस करना चाहिए. जितनी जल्दी हो सके बचत शुरू करें और जितना ज्यादा बचा सकें उतना बचाएं. क्योंकि, संकट के समय आपकी बचत ही आपका सहारा बनती है. इसलिए जरूरी है कि कमाई की शुरूआत से ही हमें बचत भी शुरू कर देनी चाहिए.

प्रोफेशनल दुनिया में कदम रखते ही हमें भविष्य की प्लानिंग भी साथ-साथ करते रहना चाहिए. समझदारी तो इसी में है कि अपनी पहली सैलरी या अन्य साधनों से हुई इनकम से ही पहले निवेश की शुरूआत करनी चाहिए. लेकिन पहला निवेश कहां करें और कितना करें, इस बात को लेकर लोग अक्सर कन्फ्यूज रहते हैं. यहां हम बता रहे हैं कि निवेश की शुरूआत किस तरह से और कहां से करनी चाहिए-

इंश्योरेंस
एक्सपर्ट कहते हैं कि युवाओं को सबसे पहले इंश्योरेंस पर फोकस करना चाहिए. हेल्थ इंश्योरेंस, लाइफ इंश्योरेंस और टर्म प्लान, तीनों ही बीमा योजनाओं में निवेश करना चाहिए. इंश्योरेंस की जल्द शुरूआत करने का फायदा यह होता है कि इसमें कम प्रीमियम पर अच्छा कवरेज मिल जाता है.

यह भी पढ़ें- 35 पैसे के इस शेयर ने दिया 2 लाख फीसदी का रिटर्न, 6 महीने में 30,000 रुपए बने 7 करोड़

म्यूचुअल फंड
पहली सैलरी का एक हिस्सा म्यूचुअल फंड के लिए तय कर दें. एसआईपी यानी सिस्टैमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) से निवेश की शुरूआत कर सकते हैं. एसआईपी की जल्दी शुरूआत करने से जब तक आप जीवन की एक स्टेज पर पहुंचेंगे तो आपके पास अच्छा-खासा फंड इकट्ठा हो जाएगा. कमाई बढ़ने के साथ एसआईपी में निवेश भी बढ़ा दें.

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)
नौकरी की शुरूआत के साथ ही रिटायरमेंट प्लानिंग भी शुरू कर देनी चाहिए और इसके लिए सबसे अच्छा प्लान है पब्लिक प्रोविडेंट फंड. यह सरकार द्वारा चलाई जा रही स्कीम है. इसलिए इसमें पैसा सुरक्षित रहता है और तय रिटर्न मिलता है. पीपीएफ के माध्यम से आप कम समय में अच्छा फंड इकट्ठा कर सकते हैं. पीपीएफ में निवेश पर टैक्स छूट का फायदा भी मिलता है.

आवर्ती जमा (Recurring Deposit)
एसआईपी तरह आप आरडी भी शुरू कर सकते हैं. आवर्ती जमा की मदद से आप शॉर्ट टर्म टारगेट के लिए पैसा इकट्ठा कर सकते हैं. हर महीने एक तय रकम आपके बैंक खाते से कटती रहती है और आपके आरडी खाते में जमा होती रहती है. इससे आप सालाना इंश्योरेंस की किस्त या फिर कोई अन्य आर्थिक गोल को पूरा कर सकते हैं.

फिक्स्ड डिपॉजिट (FD)
फिक्स्ड डिपॉजिट भी निवेश का सुरक्षित विकल्प है. आप बिना किसी रिस्क के निवेश कर सकते हैं. हालांकि इसमें रिटर्न अन्य स्कीम की तुलना में कम मिलता है, फिर भी शॉर्ट टर्म गोल को पूरा करने के लिए यह भी एक अच्छा विकल्प है.

इमरजेंसी फंड
इमरेजेंसी फंड जरूर बनाकर चलें और इसकी शुरूआत जितना जल्दी करेंगे उतना ही अच्छा रहेगा. क्योंकि जीवन में तमाम उतार-चढ़ाव आते रहते हैं. ऐसे में इमरजेंसी फंड बहुत काम आता है. इस फंड का फायदा यह होता है कि आपको अपनी अन्य बचत योजनाओं को छेड़ना नहीं पड़ता. इमरजेंसी फंड कम से कम आपकी इनकम के 6 महीने के बराबर राशि होनी चाहिए.

Tags: Insurance, Investment tips, Money Making Tips, Personal finance

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर