आज ही शुरू करें यह कारोबार, सीधे करोडों में होगी कमाई, दुनियाभर में है डिमांड, ये बन चुके हैं करोड़पति...

इस सब्जी की विदेशों में बहुत भारी डिमांड है.

इस सब्जी की विदेशों में बहुत भारी डिमांड है.

Hop-Shoots Cultivation: अगर आप नौकरी से परेशान है या किसी कारणवश नौकरी चली गई है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है. आप अपना कारोबार शुरू कर सकते हैं. इससे आपको करोड़ों की कमाई होगी. आज हम आपको एक ऐसी खेती के बारे में बता रहे हैं जिसे करके आप हजारों-लाखों को दूर की बात है करोड़ों में कमाई करेंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप नौकरी से परेशान है या किसी कारणवश नौकरी चली (job loss) गई है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है. आप अपना कारोबार (How to start own business) शुरू कर सकते हैं. इससे आपको करोड़ों की कमाई होगी. आज हम आपको एक ऐसी खेती (Farming) के बारे में बता रहे हैं जिसे करके आप हजारों-लाखों को दूर की बात है करोड़ों में कमाई करेंगे. यह खेती आपकी किस्मत बदल सकती है. दरअसल, हॉप शूट्स (hop shoots Farming) की खेती से बिहार के एक किसान ने करोड़ों की कमाई कर रहे हैं. यह किसान ने विदेशी सब्जी हॉप शूट्स (hop shoots)की खेती करके दुनियाभर में मशहूर हो गए हैं. यह पहली बार भारत में उगाया गया है. हाल ही में इस सब्जी के बारे में एक आईएएस अफसर ने ट्वीट करके जानकारी दी है. इस सब्जी की एक किलोग्राम की कीमत लगभग एक लाख रुपये हैं. आप भी इसकी खेती करके करोड़ो में कमा सकते हैं. तो आइए जानते हैं कैसे होती है इसकी खेती-

हॉप शूट्स का वैज्ञानिक नाम ह्यूमुलस ल्यूपुलस

हॉप शूट्स का वैज्ञानिक नाम है ह्यूमुलस ल्यूपुलस (humulus lupulus). यह बारहो महीने उगता है. यह पौधा मूल रूप से नॉर्थ अमेरिका और यूरोप में उगाया जाता है. इसकी उपयोगिता जानने से पहले उसे खर-पतवार की तरह माना जाता था, जिसका जीवन में कोई उपयोग नहीं था. वेबसाइट एग्रीफार्मिंग डॉट इन के मुताबिक, इसका इस्तेमाल एंटीबैक्टेरियल असर के लिए होता है. इसका इस्तेमाल एंटीबॉयोटिक दवा बनाने में होता है. बताया जाता है कि टीबी के इलाज में हॉप शूट्स से बनी दवा कारगर साबित होती है. इसके फूलों का इस्तेमाल बीयर बनाने के काम में किया जाता है.

ये भी पढ़ें- कभी नोटबंदी से नाखुश होकर उर्जित पटेल ने दिया था RBI गवर्नर पोस्ट से इस्तीफा! अब संभालेंगे ये कंपनी
यूरोप के देशों में भारी डिमांड है

हॉप शूट्स का सबसे बड़ा खरीदार अमेरिका है. इस सब्जी की यूरोप के देशों में भारी डिमांड है. यूरोप के कई देशों में इस सब्जी की खेती भी होती है. ब्रिटेन, आयरलैंड, स्कॉटलैंड, जर्मनी आदी यूरोपिय देशों के लोगों की यह पसंदीदा सब्जी है. इस सब्जी में कई तरह के एंटीबायॉटिक पाये जाते हैं. एंटीबायॉटिक की मौजूदगी से इसका इस्तेमाल दवा बनाने में भी किया जाता है.

बिहार के किसान ने शुरू की Hop Shoots की खेती



बिहार के औरंगाबाद के करमडीह गांव के किसान अमरेश सिंह हॉप शूट्स की खेती शुरू किया है. उन्होंने काशी स्थित भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान के कृषि वैज्ञानिक की देखरेख में 5 गुंथों की भूमि पर प्रायोगिक आधार पर इसकी खेती शुरू की है.

साल भर उगाई जा सकती है यह सब्जी

वैसे तो यह सदाबहार सब्जी है जो साल भर उगाई जा सकती है, लेकिन ठंडी के मौसम को इसके लिए ठीक नहीं माना जाता है. मार्च से लेकर जून तक इसकी खेती के लिए आदर्श समय माना जाता है. इसके लिए नमी और सूर्य के प्रकाश की जरूरत होती है. इस माहौल में इसका पौधा तेजी से बढ़ता है और एक दिन में इसकी टहनियां 6 ईंच तक बढ़ जाती हैं. शुरुआत में इसकी टहनियां बैंगनी रंग की होती हैं लेकिन बाद में हरी हो जाती हैं.

ये भी पढ़ें- Bank Holidays: बैंक 4 अप्रैल तक रहेंगे बंद! इस महीने 15 दिनों की रहेगी छुट्टी, घर से निकलने से पहले चेक करें पूरी लिस्ट

खेती के लिए चिकनी दोमट मिट्टी होनी चाहिए

हॉप्स की खेती के लिए उपजाऊ, अच्छी जल निकासी वाली रेतीली दोमट मिट्टी से चिकनी दोमट मिट्टी होनी चाहिए. हॉप शूट्स की खेती के लिए आप पौधे बीज से या कलम दोनों ही तरह से तैयार कर सकते हे लेकिन कलम , लेयर द्वारा तैयार पौधे ही सबसे अच्छे रहते हे इसकी खेती के लिए कलम पौधे ही काम में लेने अच्छे होते हे

हॉप शूट्स की प्रोसेसिंग

हॉप शूट्स के शंकुओं की तुड़ाई के बाद प्रोसेसिंग के समय तापमान की आवश्यकता विशेष होती है. इनको सूखने के लिए शुरूआती तापमान 35 डिग्री के लगभग की आवश्यकता होती है जलधि सुखाने के लिए आप मात्रा के अनुसार तापमान को बड़ा सकते है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज