Home /News /business /

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए सरकार दे रही 2.50 लाख रुपये, पहले ही दिन से होगी मोटी कमाई, जानिए कैसे

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए सरकार दे रही 2.50 लाख रुपये, पहले ही दिन से होगी मोटी कमाई, जानिए कैसे

सरकार दे रही इस बिजनेस के लिए मदद

सरकार दे रही इस बिजनेस के लिए मदद

अगर आप किसी बिजनेस की तलाश में हैं तो आज हम आपको एक ऐसा बिजनेस बता रहे हैं, जिसमें केंद्र सरकार आपको बेहतर कमाई करने का मौका दे रही है. आप मेडिकल सेक्टर में अपना भविष्य संवार सकते हैं. केंद्र सरकार ने जेनरिक दवाइयां मुहैया कराने के लिए प्रधानमंत्री जन औषधि केद्र (Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi) खोलने का मौका दे रही है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. अगर आप किसी बिजनेस की तलाश में हैं तो आज हम आपको एक ऐसा बिजनेस बता रहे हैं, जिसमें केंद्र सरकार आपको बेहतर कमाई करने का मौका दे रही है. आप मेडिकल सेक्टर में अपना भविष्य संवार सकते हैं. वैसे भी कोरोना काल के इस दौर में मेडिकल सेक्टर की डिमांड में तेजी आई है. केंद्र सरकार ने जेनरिक दवाइयां मुहैया कराने के लिए प्रधानमंत्री जन औषधि केद्र (Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi) खोलने का मौका दे रही है.

    इसके लिए सरकार आपकी मदद भी कर रही है और आप इस बिजनेस के जरिए अच्छी कमाई कर सकते हैं. सरकार जन औषधि केंद्रों की संख्या बढ़ाने पर जोर दे रही है. सरकार देशभर में मार्च 2024 तक प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्रों (Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi) की संख्या बढ़ाकर 10,000 करने का लक्ष्य रखा है.

    ये भी पढ़ें: EPFO: पीएफ अकाउंट बंद होने से बचाना है तो निपटा लें ये जरूरी काम, 30 नवंबर है डेडलाइन, जानें पूरी प्रक्रिया

    जानिए कौन खोल सकते हैं जनऔषधि केंद्र?
    जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए सरकार ने तीन कैटेगरी बनाई है. पहली कैटेगरी में कोई भी व्यक्ति, बेरोजगार फार्मासिस्ट, कोई डॉक्टर या रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर जन औषधि केंद्र खोल सकता है. वहीं, दूसरी कैटेगरी में ट्रस्ट, NGO, प्राइवेट अस्पताल, आदि आते हैं. तीसरी कैटेगरी में राज्य सरकारों की तरफ से नॉमिनेट की गई एजेंसियों को मौका मिलता है. यानी कि अगर आप जनऔषधि केंद्र खोलना चाहते हैं तो आपके पास डी फार्मा या बी फार्मा की डिग्री होनी चाहिए.

    अप्लाई करते समय डिग्री को प्रूफ के तौर पर सबमिट करना जरूरी है. PMJAY के तहत SC, ST एवं दिव्यांग आवेदकों को औषधि केंद्र खोलने के लिए 50,000 रुपये तक की दवा एडवांस रकम दी जाती है. प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र के नाम से दवा की दुकान खोली जाती है.

    कैसे करें अप्लाई?
    जन औषधि केंद्र खोलने के लिए सबसे पहले ‘रिटेल ड्रग सेल्स’ का लाइसेंस जनऔषधि केंद्र के नाम से लेना होता है. इसके लिए आधिकारिक वेबसाइट https://janaushadhi.gov.in/ से फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं. फॉर्म डाउनलोड करने के बाद आपको एप्लीकेशन को ब्यूरो ऑफ फॉर्मा पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग ऑफ इंडिया के जनरल मैनेजर (A&F) के नाम से भेजना होगा.

    ये भी पढ़ें: Gold Price Today: सोने के नए रेट हुए जारी, फटाफट चेक करें 22 कैरेट और 24 कैरेट Gold का भाव

    जानिए कितनी होगी कमाई?
    जन औषधि केंद्र में दवाओं की बिक्री पर 20 फीसदी तक कमीशन मिलता है. इस कमीशन के अलावा हर महीने होने वाली बिक्री पर अलग से 15 फीसदी तक का इंसेंटिव दिया जाता है. जो कि आपकी कमाई होगी. इस योजना के तहत दुकान खोलने के लिए फर्नीचर और अन्य सामानों के लिए सरकार की ओर से 1.5 लाख रुपये तक की मदद मिलती है. बिलिंग के लिए कंप्यूटर और प्रिंटर खरीदने में भी सरकार 50,000 रुपये तक की मदद करती है.

    Tags: Business at small level, Business from home, Business ideas, Business opportunities, Earn money

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर