चंद पैसों में शुरू कर सकते हैं दाल मिल का बिजनेस, हर महीने हो सकेगी 50 हजार की कमाई

चंद पैसों में शुरू कर सकते हैं दाल मिल का बिजनेस, हर महीने हो सकेगी 50 हजार की कमाई
कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान अगर कोई क्षेत्र सुरक्षित है तो वह सिर्फ कृषि और इससे जुड़े सेक्टर हैं. यह बात खुद RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कही. ऐसे में सवाल यह आता है कि जिनके पास खेती-किसानी के लिए जमीन नहीं है वो क्या करें. तो आज हम आपको ऐसा ही एक कारोबार के बारे में बता रहे हैं. ये कारोबार है दाल मिल का..

कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान अगर कोई क्षेत्र सुरक्षित है तो वह सिर्फ कृषि और इससे जुड़े सेक्टर हैं. यह बात खुद RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कही. ऐसे में सवाल यह आता है कि जिनके पास खेती-किसानी के लिए जमीन नहीं है वो क्या करें. तो आज हम आपको ऐसा ही एक कारोबार के बारे में बता रहे हैं. ये कारोबार है दाल मिल का..

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान अगर कोई क्षेत्र सुरक्षित है तो वह सिर्फ कृषि और इससे जुड़े सेक्टर हैं. यह बात खुद RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कही. ऐसे में सवाल यह आता है कि जिनके पास खेती-किसानी के लिए जमीन नहीं है वो क्या करें. वो कृषि सेक्टर से जुड़ा कोई छोटा बिजनेस शुरू कर सकते हैं. भारत में दाल और उससे बने उत्पाद को बड़ा पसंद करते हैं. इसलिए पिछले कुछ सालों से इसकी मांग लगातार बढ़ती जा रही है. जिसकी बदौलत इसके दाम में भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं. ऐसा ही एक कारोबार है दाल मिल का जिसके बारे में हम आज आपको बता रहे हैं.

दाल मिल शुरू करने के लिए क्या चाहिए?
दाल मिल का बिजनेस शुरू करने के लिए कम से कम 25 से 30 वर्गफिट की जगह चाहिए. अगर जगह आपकी अपनी है तो आप 3HP मशीन से शुरुआत कर सकते हैं. इसके लिए 4 लाख रुपए का निवेश करना होगा. अगर आप 8HP की मशीन इस्तेमाल करते हैं तो आपको 8 लाख रुपए का निवेश करना होगा.

चाहिए होंगे ये लाइसेंस



>> दुकान चलाने और बिजनेस करने के लिए आपको जीएसटी नंबर चाहिए होगा. जीएसटी नंबर जीएसटी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद मिल जाएगा. खुली दाल या प्लास्टिक पैक दाल पर जीएसटी नहीं लगता. यदि आप अपना ब्रांड बनाकर दाल बेचते हैं तब आपको जीएसटी की आवश्यकता पड़ती है ब्रांडेड दाल बेचने पर 5 फीसदी जीएसटी लगता है.



>> अगर आप अपने प्रोडक्ट की ब्रांडिंग खुद करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको खाद्य मंत्रालय से अनुमति लेनी होगा. अगर आपके पास PAN और करंट अकाउंट है तभी आपको इसकी सुविधा मिलेगी.

>> अगर किराए की दुकान पर कारोबार कर रहे हैं तो रेन्ट एग्रीमेंट चाहिए होगा. एमसीडी से दुकान चलाने का लाइसेंस भी लेना होगा.

>> दाल मिल शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले अपनी कंपनी का रजिस्ट्रेशन करा कर लाइसेंस लेना होगा. आप MSMES से भी लाइसेंस ले सकते हैं.

>> इसके अलावा फूड लाइसेंस सरकारी फूड अथॉरिटी एफएसएसएआई से लेना होगा.

कितना है फायदा?
दालों का बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको शुरुआत में काम से अकम 5 से 6 लाख रुपए की आवश्यकता होगी. 5-6 लाख रुपए के इन्वेस्टमेंट में हर महीने 50 हजार रुपए तक आसानी  से कमाए जा सकते हैं. दाल के  दाम बढ़ने के बावजूद भी इसकी मांग बढ़ी है. इसलिए इसकी बिक्री अच्छी हो जाती है. यदि हम मार्जिन की बात करें तो होलसेल बाजार या मिलों से लेकर रिटेल में 100 रुपए की सेल में 10 से 25 रुपए का मार्जिन मिलता है.

अपना ब्रांड बना कर शुरू कर सकते हैं कंपनी
यदि आप अपने व्यवसाय को बड़ा करना चाहते हैं तो इसके लिए आप अपना ब्रांड नाम भी तैयार कर सकते हैं इसके लिए पैकेजिंग मशीन खरीदकर ब्रांड नाम के साथ भी दालें बेच सकते हैं. दालों की गुणवत्ता अच्छी होने पर लंबे समय में इसका फायदा मिलता है जिससे आपका व्यापार दोगुना हो जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading