• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • कचरे का बिज़नेस शुरू कर ये लोग कमा रहे हैं करोड़ों, आपके पास भी है मौका

कचरे का बिज़नेस शुरू कर ये लोग कमा रहे हैं करोड़ों, आपके पास भी है मौका

नया बिज़नेस आईडिया

नया बिज़नेस आईडिया

नया बिज़नेस शुरू करने के लिए पैसे से ज्यादा जरूरी एक अच्छा बिज़नेस आइडिया जरूरी है. कुछ ऐसा ही एक आइडिया अहमदाबाद के संदीप पटेल और उनके 3 दोस्तों को मिला. इसके जरिए ये दोस्त करोड़ों कमा रहे हैं.

  • Share this:
    नया बिज़नेस शुरू करने के लिए पैसे से ज्यादा जरूरी एक अच्छा बिज़नेस आइडिया है. कुछ ऐसा ही एक आइडिया अहमदाबाद के संदीप पटेल और उनके 3 दोस्तों को मिला. सड़कों पर बिखरे कूड़े से उन्होंने पैसा कमाने का आइडिया ढूंढ निकाला. संदीप, ध्रुमिन, चिराग और रवि की कंपनी नेपरा रिसोर्स मैनेजमेंट सोसाइटी अहमदाबाद में विभिन्न टाउनशिप्स और कलेक्शन सेंटर के जरिये ड्राय वेस्ट इकट्टठा करती हैं और इस कचरे को प्रोसेसिंग प्लांट में डालकर मटीरियल बनाया जाता है. इस मटीरियल को पेपर, प्लास्टिक, स्टेशनरी बनाने वाली मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियों को बेचा जाता है.

    आइए जानें इसके बारे में...

    आइडिया को बनाया बिजनेस
    नेपरा अपने ब्रैंड लेट्स रिसाइकल के जरिये वेस्ट मैनेजमेंट का काम करती है. प्रोसेस किए गए इस मटीरियल को पेपर, प्लास्टिक, स्टेशनरी बनाने वाली मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियों को बेचा जाता है और यहीं से कंपनी रेवेन्यू का बड़ा हिस्सा आता है. कचरे को इकट्ठा करने के लिए कंपनी नगर निगम के साथ तो काम करती ही है. साथ ही कूड़ा उठाने वालों की भी मदद लेती है. कंपनी इसके जरिए इन बेहद गरीब लोगों को ऑर्गनाइस्ड सेक्टर में लाने का प्रयास कर रही है.(ये भी पढ़ें- बिजनेस के लिए इन कंपनियों से ले सकते हैं लोन, आइडिया पसंद आने पर देती हैं पैसा)

    ऐसे चला कारोबार-कंपनी ने 6 साल के अपने सफर में सबसे ज्यादा अपना इंफ्रास्ट्रकचर खड़ा करने में निवेश किया है. प्रोसेसिंग प्लांट में शुरुआती निवेश 1 करोड़ रुपये का रहा जो एक दिन में 100 मेट्रिक टक कचरे को प्रोसेस करने की क्षमता रखता है. कंपनी अपने साथ करीब 1800 वेस्ट पिकर को जोड़ चुकी है और 2500 कलेक्शन प्वाइंट सेटअप किए जा चुके हैं. इंफ्रास्ट्रक्चर की बढ़ती मजबूती के साथ कंपनी रेवेनयू में भी अच्छी ग्रोथ देख रही है.(ये भी पढ़ें: मोदी सरकार के 100 दिन का प्लान तैयार!नौकरियां बढ़ाने पर फोकस)

    5 साल में 1000 करोड़ की आमदनी का लक्ष्य-3 साल में 25 शेहरों तक पहुंचाने का लक्ष्य है. कंपनी ने इसके लिए आविष्कार और आशा इम्पैक्ट से 44 करोड़ रुपये की सीरीज बी फंडिंग भी जुटा ली है. कंपनी ने अगले 5 साल में 1000 करोड़ की आमदनी का लक्ष्य रखा है. (ये भी पढ़ें: 5 लाख में घर से शुरू करें मसालों का बिज़नेस, कमाएं 60 हजार रुपए महीना)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज