हर महीने 50 हज़ार की कमाई, इस गर्मी शुरू करें ये खास बिज़नेस

रेन वॉटर हार्वेस्टिंग एक्सपर्ट बनकर हजारों नहीं लाखों रुपये कमा सकते हैं. आइए जानें इसके बारे में...

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 11:32 AM IST
हर महीने 50 हज़ार की कमाई, इस गर्मी शुरू करें ये खास बिज़नेस
50 हजार की कमाई करने का तरीका
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 11:32 AM IST
देश की आधी आबादी यानी 60 करोड़ लोगों के पास पीने का पानी नहीं है और कई बड़े शहरों में ग्राउंडवॉटर केवल दो साल में ख़त्म हो जाएगा. ये हालात देश के सामने एक बड़े जल-संकट जैसे होंगे. इन सब को देखते हुए केंद्र और राज्य सरकार लगातार इस ओर अपना फोकस बढ़ा रही है. ऐसे में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग के एक्सपर्ट्स की जरूरत बढ़ती जा रही है. कुछ ऐसा ही दिल्ली के पांडव नगर में रहने वाले नीरज कुमार भी कर रहे है. पिछले पांच साल से वह इस तरह के प्रोजेक्ट्स बना रहे है. वो ज्यादातर डीडीए, और रेजिडेंशियल सोसाइटी के प्रोजेक्ट करते हैं. इसके अलावा कई जगह जाकर लोगों को वॉटर हार्वेस्टिंग के लिए सलाह भी देते हैं. इन सब कामों कर नीरज 50 हजार रुपये प्रति महीने तक कमा लेते हैं.



बन गए रेन वॉटर हार्वेस्टिंग एक्सपर्ट- नीरज पिछले पांच साल से रेन वॉटर हार्वेस्टिंग के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं. उन्होंने बाताया कि शुरुआत में वो कनवेंशनल (पुराने) तरीके से प्रोजेक्ट बनाते थे. इसमें एक पाइप को जमीन में बोरिंग करके डाला जाता था. बिल्डिंग में इस प्रोजेक्ट पर कुल खर्च 10-12 लाख रुपये आता था, लेकिन अब चीजें बदल गई है. फिलहाल मॉड्युलर रेन हार्वेस्टिंग होती है. इस टेक्नोलॉजी पर खर्च घटकर 8-9 लाख रुपए आ गया है. हालांकि, नीरज बताते हैं कि उन्होंने इसकी कोई पढ़ाई नहीं की है. ये सब जानकारी एक्सपीयरेंस के आधार पर आई है. फिलहाल इसके जरिए वह सालाना 6 लाख रुपये तक की कमाई कर लेते हैं. 

(ये भी पढ़ें- इस काम के लिए मोदी सरकार किसानों को देगी 24 लाख रुपये!)


आप भी कर सकते हैं कुछ ऐसा...


यहां मिलेगी शुरुआती जानकारी

Loading...

दिल्ली में सेंटर फॉर साइंस एंड इन्वॉयरमेंट इसके लिए पांच दिन का सर्टिफिकेट कोर्स करता हैं. इस कोर्ट में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग की प्लानिंग, डिजाइनिंग और कई अहम चीजें बताई जाती हैं. इस कोर्स की फीस 8800 रुपये हैं. आप भी इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं.


इसके लिए इन चीजों का जानना बेहद जरूरी
श्रम व्यय, इंजीनियर खर्च, मशीनरी खर्च, कानूनी और पंजीकरण खर्च, आय और बिक्री कर के मुद्दों, परमिट और लाइसेंस की जानकारी होना बेहद जरूरी है. आपको बता दें कि अगर आप भी ऐसे प्रोजेक्ट हासिल करना चाहते है तो आपकों पहले डीडीए, एमसीडी, पीडब्ल्यूडी, सीपीडब्ल्यूडी में रजिस्ट्रेशन करना होगा.

ये भी पढ़ें: हर महीने 50000 की कमाई, सिर्फ 4 लाख में शुरू होगा बिजनेस
First published: July 5, 2019, 10:42 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...