Home /News /business /

startups get up to 10 years for converting debt investment into equity decision likely to give relief to budding entrepreneurs kcnd

Startups में निवेश करने वालों को बड़ी राहत, सरकार ने दिया बड़ा अपडेट, जानें क्या होगा फायदा

डीपीआईआईटी ने एक नोट जारी कर यह जानकारी दी है.

डीपीआईआईटी ने एक नोट जारी कर यह जानकारी दी है.

Startups get Up To 10 Years Relief : स्टार्टअप के लिए कंपनी में किए गए डेट इन्वेस्टमेंट को इक्विटी शेयरों (Equity Shares) में बदलने की समय-सीमा को बढ़ाकर 10 साल कर दिया गया है. सरकार के इस फैसले से नए उद्यमियों को कोरोना महामारी के प्रभाव से उबरने में मदद मिलेगी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. सरकार ने स्टार्टअप (Startups) में निवेश करने वालों को बड़ी राहत दी है. ऐसे निवेशकों के लिए सरकार ने बड़ा अपडेट दिया है. दरअसल, स्टार्टअप के लिए कंपनी में किए गए डेट इन्वेस्टमेंट (Debt Investment) को इक्विटी शेयरों (Equity Shares) में बदलने की समय-सीमा को बढ़ाकर 10 साल कर दिया गया है. सरकार के इस फैसले से नए उद्यमियों (Budding Entrepreneurs) को कोरोना महामारी के प्रभाव से उबरने में मदद मिलेगी.

डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड यानी डीपीआईआईटी (DPIIT) ने एक नोट जारी कर यह जानकारी दी है. अभी तक परिर्वतनीय नोट्स (Convertible Notes) को इन्हें जारी करने की तारीख से पांच साल तक इक्विटी शेयरों में बदलने की अनुमति थी. यह समय-सीमा बढ़ाकर अब 10 साल कर दी गई है.

ये भी पढ़ें- क्रिप्टोकरेंसी को GST के दायरे में ला सकती है सरकार! जानिए कितना चुकाना होगा टैक्स

मांग सकते हैं इक्विटी
कोई भी निवेशक स्टार्टअप में परिवर्तनीय नोट के माध्यम से पैसे लगा सकता है. यह एक प्रकार का बॉन्ड/डेट प्रोडक्ट होता है. इस तरह के निवेश में निवेशक को सुविधा मिलती है कि अगर स्टार्टअप का प्रदर्शन अच्छा रहता है या भविष्य में वह कोई लक्ष्य हासिल करती है तो निवेशक अपने निवेश पर कंपनी से इक्विटी शेयर मांग सकता है.

ये भी पढ़ें- Petrol Diesel Prices Today: जारी हो गए पेट्रोल-डीजल के नए रेट, जानें आपके शहर का भाव

परिवर्तनीय नोट फंडिंग का आकर्षक माध्यम
स्टार्टअप कंपनी की ओर से डेट के रूप में मिले फंड के एवज में परिवर्तनीय नोट जारी किया जाता है. इसे स्टार्टअप कंपनी के इक्विटी शेयर में बदल सकते हैं. अब परिवर्तनीय नोट को जारी करने की तारीख से 10 साल के दौरान इक्विटी शेयर में बदल सकेंगे. विशेषज्ञों का कहना है कि परिवर्तनीय नोट स्टार्टअप के लिए शुरुआती चरण के फंडिंग का आकर्षक माध्यम बन चुके हैं.

कम होगा स्टार्टअप कंपनियों का बोझ
डेलॉय इंडिया के भागीदार सुमित सिंघानिया का कहना है कि परिवर्तनीय डिबेंचर/बॉन्ड (Convertible Debentures/Debts) के उलट परिवर्तनीय नोट इक्विटी में बदलने का आसान विकल्प देते हैं. इसमें पहले से ही परिवर्तनीय अनुपात तय करने की जरूरत नहीं होती. उनका कहना है कि परिवर्तनीय नोट को इक्विटी में बदलने की समय-सीमा को बढ़ाकार 10 साल करने से स्टार्टअप कंपनियों का बोझ घटेगा.

Tags: Central government, Government Policy, Indian startups, Startup Idea

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर