SBI ग्राहक ध्यान दें! बिना टेंशन अब ऐसे बदले अपने खाते का पता, जानिए पूरा प्रोसेस

आप अपना घर बदलते हैं तो सबसे ज्यादा जरूरी काम अपने डॉक्युमेंट में एड्रैस चेंज करना होता है. अगर ऐसा नहीं करते तो फ्यूचर में आप अपने कई फायदों से हाथ धो बैठेंगे. क्योंकि सभी डॉक्युमेंट आपके पुराने रजिस्टर्ड पते पर पहुंचेंगे.

News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 10:54 AM IST
SBI ग्राहक ध्यान दें! बिना टेंशन अब ऐसे बदले अपने खाते का पता, जानिए पूरा प्रोसेस
आप अपना घर बदलते हैं तो सबसे ज्यादा जरूरी काम अपने डॉक्युमेंट में एड्रैस चेंज करना होता है. अगर ऐसा नहीं करते तो फ्यूचर में आप अपने कई फायदों से हाथ धो बैठेंगे. क्योंकि सभी डॉक्युमेंट आपके पुराने रजिस्टर्ड पते पर पहुंचेंगे.
News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 10:54 AM IST
आप अपना घर बदलते हैं तो सबसे ज्यादा जरूरी काम अपने डॉक्युमेंट में एड्रैस चेंज करना होता है. अगर ऐसा नहीं करते तो फ्यूचर में आप अपने कई फायदों से हाथ धो बैठेंगे. क्योंकि सभी डॉक्युमेंट आपके पुराने रजिस्टर्ड पते पर पहुंचेंगे. इसीलिए एक्सपर्ट्स हमेशा सलाह देते हुए कहते हैं कि पते में किसी भी बदलाव की सूचना बैंक और जहां भी आपने अपना पैसा लगाया है वहां तक पहुंचनी चाहिए. हालांकि, बैंक में आपके पास दो ऑप्शन होते हैं या तो पुरानी ब्रांच में ही खाता रखें और वहां अपना एड्रेस चेंज कर लें. दूसरा ऑप्शन यह है कि आप नई शाखा में अकाउंट शिफ्ट कर लें जो आपके घर के पास हो. देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई में अगर आपका खाता है तो आप अब आसानी से पता बदलाव सकते हैं. इसको लेकर बैंक ने पूरी जानकारी दी है.

आइए जानें इसके बारे में...
एसबीआई ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए बताया है कि अगर आप अपना अकाउंट पुराने ब्रांच के साथ ही रखना चाहते हैं तो एड्रेस चेंज का एक फॉर्म भरकर जमा करा दें. अगर ब्रांच बदलना हैं तो अकाउंट ट्रांसफर का फॉर्म भरकर जमा कराएं.

बैंक खाते में घर का पता बदलने के लिए- घर का पता चेंज करने के लिए आपको केवाईसी (नो योर कस्मटर) से जुड़े डॉक्युमेंट देने होंगे. बैंक की वेबसाइट पर दी गई जानकारी में बताया गया है कि एड्रैस बदलवाने के लिए पासपोर्ट, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, नरेगा कार्ड दे सकते हैं.

ये भी पढ़ें-SBI ग्राहकों को 10 दिन बाद से फ्री में मिलेगी ये सर्विसेज

एसबीआई ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए बताया है कि अगर आप अपना अकाउंट पुराने ब्रांच के साथ ही रखना चाहते हैं तो एड्रेस चेंज का एक फॉर्म भरकर जमा करा दें.


मतलब साफ है कि किसी भी डॉक्युमेंट पर अपना एड्रेस चेंज कराएं इसके बाद बैंक में जमा कर दें. इसमें सबसे ज्यादा ध्यान देने वाली बात जॉइंट अकाउंट को लेकर है. इस मामले में सभी खाताधारकों को एड्रेस चेंज के आवेदन में साइन करने की जरूरत है.
Loading...

अगर ग्राहक ने सिर्फ एड्रेस चेंज कराया है तो कोई भी नया कम्युनिकेशन नए एड्रेस पर किया जाता है.

SBI ने एड्रेस चेंज करने की जानकारी अपनी वेबसाइट पर जारी की है.


वहीं, अगर अकाउंट ट्रांसफर कराया है तो इस मामले में नए एड्रेस पर एक चेक बुक और नया एटीएम या डेबिट कार्ड ग्राहक को भेज जाता है.

अकाउंट ट्रांसफर करने पर क्या होगा- अगर  आप अकाउंट ट्रांसफर करा रहे हैं तो बैंक आपसे चेक बुक, एटीएम या डेबिट कार्ड रिटर्न करने के लिए बोल सकता है. अगर ग्राहक ने पुराने ब्रांच में केवाईसी संबंधी औपचारिकता पूरी नहीं की है तो नए ब्रांच में वह करना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें- SBI ग्राहक कर सकते हैं ATM से अनलिमिटेड फ्री ट्रांजेक्शन!

एक बार जब ग्राहक सारे दस्तावेज के साथ आवेदन बैंक में जमा कर देता है तो बैंक उसे वेरिफाई करता है. इसके बाद औपचारिकता शुरू हो जाती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 24, 2019, 10:15 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...