SBI ग्राहक ध्यान दें! एक मई में बदल जाएंगे सेविंग खाते के नियम, मिलेगा कम ब्याज!

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने ग्राहकों के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाया है. मई महीने से एसबीआई में सेविंग खाते पर मिलने वाले ब्याज के नियम बदल जाएंगे. आइए जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें...

News18Hindi
Updated: April 13, 2019, 10:38 AM IST
SBI ग्राहक ध्यान दें! एक मई में बदल जाएंगे सेविंग खाते के नियम, मिलेगा कम ब्याज!
SBI ग्राहक ध्यान दें! मई में बदल जाएंगे बैंक में सेविंग खाते पर ब्याज देने के नियम! मिलेगा कम मुनाफा!
News18Hindi
Updated: April 13, 2019, 10:38 AM IST
भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने ग्राहकों के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाया है. मई महीने से एसबीआई में सेविंग खाते पर मिलने वाले ब्याज के नियम बदल जाएंगे. बैंक ने अपने डिपॉजिट और लोन की ब्याज दरें भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की बेंचमार्क दर से जोड़ दिया हैं. इस नए फैसले से एक लाख रुपये से ज्यादा के डिपॉजिट और लोन की ब्याज दरों को रेपो रेट से जोड़ा गया है. मतलब साफ है कि आरबीआई के रेपो रेट में बदलाव होने पर बैंक की जमा दरों पर असर दिखेगा. इसीलिए अगले महीने से एसबीआई ने सेविंग रेट में भी बदलाव किया है.

आइए जानें इससे जुड़ी काम की बातें...



एक मई से क्या बदलेगा
>> 1 लाख रुपए तक के बैलेंस पर अब 3.5 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा. वहीं 1 लाख से ऊपर के बैंलेस पर ब्याज की दर 3.25 फीसदी होगी. ये नई दर 1 मई 2019 से लागू होगी.

>> 1 लाख से ऊपर के सभी कैश क्रेडिट और ओवरड्राफ्ट अकाउंट को एसबीआई ने रेपो रेट से लिंक कर दिया है. हाल ही में रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की कटौती की थी इसी को देखते हुए बैंक ने ये कटौती की है.

एसबीआई सेविंग बैंक अकाउंट, एसबीआई सेवा, एसबीआई सेविंग अकाउंट इंटरेस्ट रेट, एसबीआई टैक्स सेविंग स्कीम, एसबीआई खाता चेक करने का नंबर, एसबीआई खाता चेक, एसबीआई खाता कैसे चेक करें, एसबीआई खाता चेक करना है, एसबीआई खाता चेकिंग, एसबीआई बैंक खाता ब्याज दर, सेविंग अकाउंट ब्याज दर

नई व्यवस्था मई से होगी लागू
Loading...

>>
लंबे समय से लोगों की शिकायत थी कि आरबीआई के ब्याज दर घटाने के बाद बैंकों की ब्याज दर पर इसका असर नहीं दिखता है. इसलिए एसबीआई ने ग्राहकों की शिकायत दूर होगी.

>> बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने बताया है कि एक लाख रुपये से कम के लोन और डिपॉजिट MCLR यानी मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट से जुड़े रहेंगे. छोटे ग्राहकों को बाजार की उठापटक से बचाने के लिए ऐसा किया गया है.



किस तरह दरें होंगी तय
>> देश के सबसे बड़े बैंक ने बताया है कि मई से एक लाख रुपये से ज्यादा के सभी सेविंग बैंक डिपॉजिट और शॉर्ट-टर्म लोन आरबीआई के बेंचमार्क रेपो रेट से जोड़े जाएंगे.

>> रेपो रेट अभी 6 फीसदी है. बैंकों को रेपो रेट पर ही आरबीआई कर्ज देता है, जबकि सेविंग बैंक की दरें रेपो रेट से 2.75 फीसदी कम होंगी. वहीं, एक लाख रुपये से ज्यादा के छोटी अवधि के लोन पर रेपो रेट से 2.25 फीसदी अधि‍क ब्याज रखा जाएगा.

>> यह पहला मौका है जब बैंक ने बचत, छोटे लोन और डिपॉजिट रेट को सीधे रेपो रेट के साथ लिंक किया है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स   

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार