SBI ग्राहक कर सकते हैं ATM से अनलिमिटेड फ्री ट्रांजेक्शन, लेकिन पूरी करनी होगी ये शर्त

SBI ग्राहकों को अनिलिमिटेड फ्री एटीएम ट्रांजैक्शन की सुविधा भी मिलती है. लेकिन इसके लिए ग्राहकों को बैंक की कुछ शर्तें पूरी करनी होगी...

News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 5:39 AM IST
SBI ग्राहक कर सकते हैं ATM से अनलिमिटेड फ्री ट्रांजेक्शन, लेकिन पूरी करनी होगी ये शर्त
SBI ग्राहक कर सकते हैं ATM से अनलिमिटेड फ्री ट्रांजेक्शन, लेकिन पूरी करनी होगी ये शर्त
News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 5:39 AM IST
देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) अपने ग्राहकों के महीने में 8 से 10 फ्री एटीएम ट्रांजैक्शन की सुविधा देता है. फ्री ट्रांजैक्शन की सीमा पार करने पर बैंक अपने ग्राहकों से हर ट्रांजैक्शन पर एक निश्चित चार्ज वसूलता है. SBI अपने ग्राहकों को अनिलिमिटेड फ्री एटीएम ट्रांजैक्शन की सुविधा भी देता है. लेकिन इसके लिए ग्राहकों को बैंक की कुछ शर्तों को पूरा करना होगा.

आइए जानते हैं कौन सी शर्त करनी होगी पूरी...

(1) खाते में रखना होगा मिनिमम बैलेंस- अगर आप अनलिमिटेड फ्री एटीएम ट्रांजैक्‍शन चाहते हैं तो आपको अपने अकाउंट में मंथली एवरेज बैलेंस 1 लाख रुपये रखना होगा. तभी आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ग्रुप (SBG) के एटीएम से अनलिमिटेड फ्री ट्रांजैक्शन कर पाएंगे. RBI ने एसबीआई को यह निर्देश दिया है कि वे अपने ग्राहकों को प्रति महीने एक निश्चित संख्‍या में फ्री एटीएम ट्रांजैक्‍शन की सुविधा उपलब्‍ध कराएं.

ATM से अनलिमिटेड फ्री ट्रांजेक्शन


(2) मंथली एटीएम ट्रांजैक्‍शन की यह है सीमा- अभी एसबीआई के खाताधारकों को मेट्रो सिटी में 8 फ्री एटीएम ट्रांजैक्शन की सुविधा हर महीने मिलती है. इस में 5 ट्रांजैक्शन एसबीआई एटीएम और 3 ट्रांजैक्शन दूसरे बैंकों के एटीएम से कर सकते हैं. वहीं नॉन-मेट्रो सिटी के खाताधारक के लिए यह लिमिट 10 फ्री ट्रांजैक्शन प्रति महीने है. इस लिमिट के पार होने पर 5 रुपए (GST प्लस) से लेकर 20 रुपए (GST प्लस) का चार्ज देना पड़ता है.

ये भी पढ़ें-सरकारी बैंकों के खिलाफ ग्राहकों की शिकायत का लगा अंबार, 25 दिन में दर्ज हुई 35 हजार कंप्लेंट

(3) 10 फ्री ट्रांजैक्शन- 25,000 रुपये का मंथली एवरेज बैलेंस बरकरार रखने वाले एसबीआई खाताधाकरों को स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया ग्रुप के किसी भी एटीएम से प्रति महीने 10 फ्री ट्रांजैक्‍शंस की सुविधा मिलती है.
First published: July 19, 2019, 5:39 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...