RBI के बाद SBI दे सकता है ग्राहकों को बड़ा तोहफा- जल्द कम हो सकती है आपकी EMI

लोन ब्याज दरों में कर सकती है इतनी कटौती
लोन ब्याज दरों में कर सकती है इतनी कटौती

एसबीआई ने अब तक रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा नीतिगत ब्याज दरों में कटौती का पूरा लाभ ग्राहकों को दिया है. ऐसे में एसबीआई भी लोन ब्याज दर में 0.40 फीसदी की कटौती कर सकती है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI-State Bank of India) ने ग्राहकों को बड़ा तोहफा दे सकता है. रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार को रेपो रेट में 0.40 फीसदी की कटौती की है. एसबीआई ने अब तक रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा नीतिगत ब्याज दरों में कटौती का पूरा लाभ ग्राहकों को दिया है. ऐसे में एसबीआई भी लोन ब्याज दर में 0.40 फीसदी की कटौती कर सकती है. बता दें कि  RBI गवर्नर ने रेपो रेट में 0.40 फीसदी की कटौती की. इस कटौती के बाद रेपो रेट 4.40 फीसदी से घटकर 4 फीसदी हो गया. वहीं, रिवर्स रेपो में 0.40 फीसदी की कटौती हुई है. अब रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी पर आ गया. रेपो रेट में कटौती के बाद लोन की ईएमआई का बोझ कम होगा.

SBI के चेयरमैन रजीनश कुमार ने कहा कि आरबीआई के कदम से इंडस्ट्री और बैंक को मदद मिलेगी. लोन मोरेटोरियम से कैश फ्लो बनाए रखने में मदद मिलेगी. आरबीआई के फैसले से इकोनॉमी में जान आएगी.

इसके पहले, एसबीआई ने 27 मार्च को रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा नीतिगत ब्याज दरों में कटौती का पूरा लाभ ग्राहकों को दिया था. SBI ने एक्सटर्नल और रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट में भी 75-75 बेसिस प्वाइंट की कटौती की थी. SBI द्वारा एमसीएलआर में कटौती के बाद बैंक का एक साल का एमसीएलआर 7.75 फीसदी से घटकर 7.40 फीसदी पर आ गया था. अधिकांश रिटेल लोन के लिए एक वर्ष की अवधि के कर्ज पर दर को पैमाना माना जाता है.



लॉकडाउन के बाद से यह तीसरी बार राहत का ऐलान
लॉकडाउन के बाद से यह तीसरी बार है जब आरबीआई राहतों का ऐलान कर रहा है. सबसे पहले 27 मार्च को और उसके बाद 17 अप्रैल को RBI ने कई तरह की राहतों का ऐलान किया था, जिसमें EMI मोराटोरियम जैसे बड़े ऐलान किए गए थे.मौद्रिक नीति समिति (MPC) की अचानक हुई बैठक में वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए रेपो दर में कटौती का निर्णय सर्वसम्मति से लिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज