SBI, PNB, BoB इस साल बेच सकते हैं शेयर, QIP के जरिये पूंजी जुटाने का ले सकते हैं फैसला

SBI, PNB, BoB इस साल बेच सकते हैं शेयर, QIP के जरिये पूंजी जुटाने का ले सकते हैं फैसला
एसबीआई समेत देश के 5 बड़े सरकारी बैंक वित्‍त वर्ष 2020-21 में पूंजी जुटाने के लिए अपने शेयर बेच सकते हैं.

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक (PSU Banks) क्‍वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (QIP) के जरिये पूंजी जुटाने को तरजीह दे सकते हैं. स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) समेत सरकारी बैंक (PSU Banks) दूसरी तिमाही के वित्तीय नतीजे (Results) को अंतिम रूप देने के बाद इस बारे में फैसला ले सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2020, 9:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. सार्वजनिक क्षेत्र के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI), बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) और पंजाब नेशनल बैंक (PNB) वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी छमाही में इंस्‍टीट्यूशनल इंवेस्‍टर्स को शेयरों की बिक्री कर सकते हैं. इनके अलावा यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (UBI) भी पूंजी जुटाने के लिए शेयर बेच सकता है. कोरोना संकट के कारण अर्थव्यवस्था पर पड़े खराब असर के बीच पूंजी आधार बढ़ाने के लिए देश के पांच बड़े बैंक शेयर बेचने का कदम उठ रहे हैं. मर्चेंट बैंकिंग से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, ये बैंक क्‍वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (QIP) के जरिये पूंजी जुटाने को तरजीह दे सकते हैं.

अक्‍टूबर 2020 के बाद शुरूहो सकती है शेयर बिक्री प्रक्रिया
एसबीआई समेत सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक (PSU Banks) दूसरी तिमाही के वित्तीय नतीजे (Financial Results) को अंतिम रूप देने के बाद इस बारे में फैसला ले सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक, अक्टूबर के अंत तक ही नॉन परफॉर्मिंग एसेट्स (NPA), कर्ज पुनर्गठन (Loan Re-Structuring) और रेटिंग (Rating) को लेकर तस्वीर साफ हो पाएगी. इसके बाद बैंक शेयर बिक्री के लिये समय, मात्रा, मर्चेंट बैंकरों की नियुक्ति समेत दूसरी औपचारिकताओं पर काम शुरू कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- SBI ने शुरू की नई ATM सर्विस, एक व्‍हाट्सऐप मैसेज पर आपके घर पहुंचेगा Cash
पीएनबी पहले ही दे चुका है शेयर बाजार में आने के संकेत


एसबीआई, पीएनबी, बीओबी और यूबीआई वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही या चौथी तिमाही के अंत तक पूंजी जुटाने की कोशिश शुरू करेंगे. पूंजी जुटाने के लिए बैंकों की ओर से बनाई गई योजना से नकदी की कोई तंगी खत्‍म होने के साथ ही घरेलू और वैश्विक निवेशकों के लिए विभिन्‍न क्यूआईपी में भागीदारी को लेकर पर्याप्त गुंजाइश भी बनेगी. पीएनबी पहले ही वित्त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही में शेयर बाजार में जाने के संकेत दे चुका है. बैंक ने संकेत दिए हैं कि वो अपनी वृद्धि संबंधी जरूरतों और नियामकीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए पूंजी जुटाने को शेयर बेच सकता है.

ये भी पढ़ें- रूस ने सऊदी अरब को दिया झटका, तेल उत्‍पादन में तीसरे नंबर पर धकेल दूसरे पायदान पर पहुंचा

निजी क्षेत्र के बैंकों ने पिछले तीन महीनों में जुटा ली है पूंजी
आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank), एक्सिस बैंक (Axis Bank) और कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra bank) समेत निजी क्षेत्र के बैंक क्यूआईपी के जरिये पिछले तीन महीनों में पूंजी जुटा चुके हैं. सार्वजनिक क्षेत्र के ज्यादातर बैंकों को चालू वित्त वर्ष में बॉन्ड और शेयर के जरिये पूंजी जुटाने की मंजूरी पहले ही शेयरधारकों से मिल चुकी है. चालू वित्त वर्ष के दौरान बैंकों को जोखिम भारांश संपत्ति (आरडब्ल्यूए) और मुनाफे में सुधार के लिये पूंजी जुटाने की जरूरत पड़ सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज