लाइव टीवी

SBI ग्राहकों के लिए बड़ी खबर! बैंक ने लोन से जुड़ी ये स्कीम वापस ली, अब होगा सीधा असर

News18Hindi
Updated: September 19, 2019, 5:49 PM IST
SBI ग्राहकों के लिए बड़ी खबर! बैंक ने लोन से जुड़ी ये स्कीम वापस ली, अब होगा सीधा असर
SBI ने रेपो रेट आधारित होम लोन स्कीम वापस लिया

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने जुलाई में रेपो रेट लिंक्ड (RLLR) होम लोन स्कीम को लॉन्च किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2019, 5:49 PM IST
  • Share this:
नई दि्ल्ली. देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने रेपो रेट से लिंक्ड (RLLR) होम लोन (Home Loan) स्कीम को वापस ले लिया है. एसबीआई (SBI) ने जुलाई में रेपो रेट से लिंक्ड होम लोन स्कीम को लॉन्च किया था. ट्विटर पर एक यूजर क्वेरी का जवाब देते हए बैंक ने ट्वीट किया है कि उसने रेपो रेट बेस्ड होम लोन स्कीम को वापस ले लिया है.

SBI ने ऐसे समय में रेपो रेट लिंक्‍ड होम लोन स्‍कीम वापस ली है जब RBI ने सभी बैंकों से कहा है कि वे नये फ्लोटिंग रेट होम लोन, ऑटो लोन को 1 अक्‍टूबर से एक्‍सटर्नल बेंचमार्क से जोड़ा हैं. फाइनेंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, बैंक ने एक हफ्ते पहले रेपो रेट लिंक्ड लोन स्कीम को अपनी वेबसाइट से हटा ली थी. अब बैंक सिर्फ मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट पर लोन दे रही है.

SBI रेपो लिंक्ड होम लोन पेश करने वाला पहला बैंक
बता दें कि SBI ने सबसे पहले रेपो रेट बेस्ड होम लोन देने की पेशकश की थी. इसके बाद अन्य बैंक इस तरह के लोन लेकर आए हैं. रेपो रेट लिंक्ड लेंडिंग रेट पर आधारित होम लोन स्कीम एक नया प्रॉडक्ट है. इसका मतलब है अगर केंद्रीय बैंक रेपो रेट घटाती है तो होम लोन ग्राहकों को भी कम ब्याज चुकाना होगा. इसके पीछे मकसद कस्टमर्स तक रेपो रेट में कटौती का फायदा जल्द से जल्द पहुंचाना था.

ये भी पढ़ें: शादीशुदा जोड़ों के लिए रेलवे का बड़ा तोहफा, ट्रेन में मनाएं करवा चौथ

फिलहाल सिर्फ नए ग्राहकों को मिल रहा है फायदा
इस साल जुलाई में SBI ने अपने नए होम लोन के लिए रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) का ऐलान किया था. जिसका फायदा सिर्फ नए ग्राहकों को दिया जाना था. इसका मतलब है अगर सरकार रेपो रेट घटाती है तो होम लोन ग्राहकों को भी कम ब्याज चुकाना होगा. हालांकि SBI के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि वो फिलहाल इसकी संभावनाएं तलाश रहे हैं कि पुराने ग्राहकों को इसका फायदा कैसे दिया जा सकता है.
Loading...

ये है गणित
SBI ने 2014 में जब मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (MCLR) आधारित ब्याज दर शुरू की तो दूसरे बैंकों ने भी बेस रेट का सिस्टम छोड़कर MCLR को अपना लिया. SBI का रेपो-लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) RBI के रेपो रेट से 2.25 फीसदी ऊपर रहता है. अभी रेपो रेट 5.40 फीसदी है तो SBI का RLLR 7.65 फीसदी है. इसके अलावा RLLR से ऊपर 0.40 फीसदी और 0.55 फीसदी का स्प्रेड होता है. इस हिसाब से नए होम लोन ग्राहक सालाना 8.05 फीसदी या 8.20 फीसदी पर होम लोन ले सकते हैं.

ये भी पढ़ें: ई-सिगरेट पर लगे बैन का लेकर वित्त मंत्री और बायोकॉन की मालकिन ट्विटर पर भिड़ी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2019, 5:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...