Home /News /business /

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े बैंक के साथ SBI का समझौता, ग्राहकों को सीधे मिलेगा ये फायदा

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े बैंक के साथ SBI का समझौता, ग्राहकों को सीधे मिलेगा ये फायदा

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े बैंक के साथ SBI का समझौता, ग्राहकों को सीधे मिलेगा ये फायदा

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े बैंक के साथ SBI का समझौता, ग्राहकों को सीधे मिलेगा ये फायदा

देश के सबसे बड़े बैंक SBI (स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) ने दुनिया के तीसरे सबसे बड़े बैंक Bank of China (बैंक ऑफ चाइना) के साथ करार किया है. इसके तहत दोनों बैंकों के ग्राहक को बड़ा फायदा मिलेगा.

    देश के सबसे बड़े बैंक SBI (स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) ने दुनिया के तीसरे सबसे बड़े बैंक Bank of China (बैंक ऑफ चाइना) के साथ करार किया है. इसके तहत दोनों बैंकों के ग्राहक एक दूसरे की सर्विसेज का फायदा उठा पाएंगे. बैंक की ओर जारी बयान में कहा गया है कि इस समझौते से एसबीआई तथा बीओसी दोनों को संबंधित बाजारों में सीधी पहुंच का फायदा होगा. एसबीआई की एक शाखा शंघाई में है जबकि बैंक ऑफ चाइना मुंबई में अपनी शाखा खोल रही है. आपको बता दें कि बैंक ऑफ चाइना के अलावा ईरान के तीन, साउथ कोरिया के दो, मलेशिया और नीदरलैंड के एक-एक बैंक ने भारत में बिजनेस शुरू करने के लिए आरबीआई से मंजूरी मांगी थी. इनमें से साउथ कोरिया और मलेशिया के बैंकों के आवेदन खारिज कर फिर से आवेदन के लिए कहा गया.

    भारत में विदेशी बैंकों की संख्या 46 हो जाएगी-इससे पहले इंडस्ट्रियल एंड कॉमर्शियल बैंक ऑफ चाइना इस साल जनवरी से भारत में बिजनेस शुरू कर चुका है. बैंक ऑफ चाइना समेत भारत में विदेशी बैंकों की संख्या 46 हो जाएगी. यूके का स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक भारत में सबसे ज्यादा 100 शाखाओं वाला विदेशी बैंक हैं. (ये भी पढ़ें-SBI का होली ऑफर! IRCTC से बुक करें ट्रेन टिकट, मिलेगा इतने रुपये का गिफ्ट)



    दोनों देशों के बीच समझौता-एसबीआई की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस फैसले से व्यापार अवसरों को बढ़ावा देने के लिये बैंक आफ चाइना के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किये. भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने एक नोटिफिकेशन में कहा कि एसबीआई ने बैंक आफ चाइना के साथ सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये. इसका मकसद दोनों बैंकों के बीच व्यापार में तालमेल बढ़ाना है. पूंजी आकार के मामले में बैंक आफ चाइना (बीओसी) दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा बैंक जबकि चीन के प्रमुख बैंकों में से एक है.

    ये भी पढ़ें-SBI ने दी खास सुविधा, अब ATM से भी निकाल सकते हैं FD में जमा पैसा

    ग्राहकों को मिलेगा फायदा- एसबीआई के अनुसार इस समझौते से एसबीआई और बीओसी दोनों को संबंधित बाजारों में सीधी पहुंच का लाभ होगा. एसबीआई की एक शाखा शंघाई में है जबकि बैंक ऑफ चाइना मुंबई में अपनी शाखा खोल रही है.(ये भी पढ़ें-SBI की खास सर्विस, अब बिना कार्ड भी निकाल सकेंगे पैसा)



    दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा बैंक- मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से बैंक ऑफ चाइना (बीओसी) दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा बैंक है.

    बैंक ऑफ चाइना को लेकर चिंताएं- आरबीआई के पूर्व डेप्युटी गवर्नर पी. के. चक्रवर्ती के अनुसार बैंक ऑफ चाइना के भारत में दस्तक देने की खबर इसलिए अहम बनी है कि चीन के साथ भारत के राजनीतिक रिश्तों में अस्थिरता है. यह विश्व का तीसरा बड़ा बैंक है. कहने को तो चीन के बैंक को भारत में बैंकिंग सेक्टर के लिए तय नियमों के अनुसार काम करना होगा लेकिन चीन अपनी आक्रामक कारोबारी नीति के लिए जाना जाता है. चीन के पास जो भी रिसोर्स हैं, उसको वह बड़े अग्रेसिव तरीके से इस्तेमाल करता है. वह मार्केट में हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए ऐसी रणनीति बनाने में माहिर है, जो दूसरों को चौंका सकता है. हमें यह देखना होगा कि चीन की रणनीति भारतीय बैंकिंग सेक्टर में कैसी रहती है और सरकारी बैंकों के लिए यह कैसी साबित होती है. रिसोर्स, टेक्नॉलजी और अग्रेसिव रणनीति के मामले में हमारे सरकारी बैंक अभी पीछे हैं. अगर उनका मार्केट शेयर गिरा तो यह देश की इकॉनमी के लिए ठीक नहीं होगा.

    Tags: Sbi, SBI Bank, SBI has slashed charges, SBI loan, SBI PO Jobs, SBI Quick, Sbi share price

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर