• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • PM माेदी की इस याेजना का लाभ उठाने वालाें में पुरुषों से आगे महिलाएं

PM माेदी की इस याेजना का लाभ उठाने वालाें में पुरुषों से आगे महिलाएं

जनधन अकाउंट भी सेविंग्स अकाउंट की तरह ही है. सरकारी गारंटी के साथ इसमें अलग से कुछ फायदे भी मिलते हैं.

PMJDY के तहत खुलने वाले खातों में मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने की जरूरत नहीं होती है. हालांकि, आप अगर चेकबुक की सुविधा चाहते हैं तो फिर आपको मिनिमम बैंलेंस मेंटेन करना रहता है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी की महत्वकांशी याेजनाओं में से एक का इस्तेमाल करने में भारत की महिलाओं ने पुरुषों काे भी पीछे छाेड़ दिया है. स्थिति यह है कि इस याेजना के तहत पूरे देश में लगभग ज्यादातर राज्याें में महिलाएं आगे है या फिर लगभग बराबरी पर. बात हाे रही है प्रधानमंत्री जनधन याेजना (Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana) की जिसमें बैंकाें में खाता खुलवाने के मामले में भी महिलाओं ने बाजी मारी है. ताजा आंकड़ाें के अनुसार प्रधानमंत्री जनधन याेजना में 27 जनवरी 2021 तक कुल 41 कराेड़ 75 लाख खाते खाेले जा चुके हैं. इसमें से आधे से ज्यादा खाते महिलाओं ने खुलवाए हैं.

    इस योजना में एक तरफ जहां पहले सरकार कई फायदे इन खाताें काे खुलवाने में दे रही है ताे वहीं हाल ही में भारत के सबसे बड़े बैंक एसबीआई (SBI) जनधन खाता धारकाें काे दाे लाख रुपये तक एक्सीडेंट इंश्याेरेंस कवर देने की घाेषणा की है. इस सुविधा का लाभ लेने के लिए आपकाे एसबीआई के रूपे जनधन कार्ड (SBI RuPay Jan Dhan Card ) के लिए आवेदन करना हाेगा. PMJDY के तहत खुलने वाले खातों में मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने की जरूरत नहीं होती है. हालांकि, आप अगर चेकबुक की सुविधा चाहते हैं तो फिर आपको मिनिमम बैंलेंस मेंटेन करना रहता है.

    ये भी पढ़ें- मालदीव से जुड़ेगा मुंबई, 3 मार्च से Vistara शुरू करेगी डायरेक्ट फ्लाइट

    PMJDY के तहत 27 जनवरी 2021 तक कुल 41 कराेड़ 75 लाख खाते खाेले जा चुके हैं जिसमें से महिलाओं के 23 कराेड़ 12 लाख 26 हजार 199 खाते हैं जबकि पुरुषाें के 18 कराेड़ 62 लाख 72 हजार 077 खाते हैं. देखा जाए ताे इस लिहाज से इस याेजना का लाभ लेने वालाें में महिलाओं की हिस्सेदारी पचास फीसदी से भी ज्यादा है.

    जनधन खातों में इतना पैसा
    बात करे इन जनधन खाताें में जमा पैसाें की ताे रिपाेर्ट के अनुसार 41 कराेड़ 75 लाख खाताें में 27 जनवरी 2021 तक कुल 1 लाख 37 हजार 755 कराेड़ रुपए की राशि जमा की गई है. इस खाते में न्यूनतम बैलेंस रखने की बाध्यता भी नहीं हाेती और भारत का हर नागरिक इस याेजना के तहत अपना खाता खुलवा सकता है. राष्ट्रीय वित्तीय समावेशन मिशन के तहत प्रधानमंत्री जन-धन योजना की शुरुआत अगस्त, 2014 में हुई थी.

    क्या है जनधन खाताें के फायदे
    जनधन अकाउंट भी सेविंग्स अकाउंट की तरह ही है. सरकारी गारंटी के साथ इसमें अलग से कुछ फायदे भी मिलते हैं. आप चाहे ताे अपना एक फॉर्म के जरिए आपका बैंक खाता जनधन खाते में कंवर्ट हो सकता है. जनधन खाते का एक बड़ा फायदा यह भी है कि आप ओवरड्रॉफ्ट के जरिए अपने खाते से अतिरिक्त 10,000 रुपए तक निकाल सकते हैं. हालांकि ये सुविधा जन धन खाते के कुछ महीनों तक सही से रखरखाव के बाद ही मिलती है. जन धन खाता खोलने वाले को रुपे डेबिट कार्ड दिया जाता है जिससे वह खाते से पैसे निकलवा सकता है या खरीददारी कर सकता है. इसके साथ ही जनधन खाते के जरिए बीमा, पेंशन प्रोडक्ट्स खरीदना आसान है.सरकारी योजनाओं के फायदों का सीधा पैसा खाते में आता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज