Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    कभी स्टील किंग लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई ने बेटी की शादी पर खर्च किए थे 500 करोड़, अब हुए कंगाल

    प्रमोद मित्तल ब्रिटेन के सबसे दिवालिया व्यक्ति बन गए है.
    प्रमोद मित्तल ब्रिटेन के सबसे दिवालिया व्यक्ति बन गए है.

    प्रमोद मित्तल ब्रिटेन (Britain) के सबसे दिवालिया व्यक्ति (Bankrupt person) बन गए है. प्रमोद मित्तल के ऊपर इस समय करीब 2.5 अरब पाउंड (लगभग 24 हजार करोड़ रुपये) का कर्ज है और इसे चुकाने के लिए उनके पास फूटी कौड़ी भी नहीं है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 22, 2020, 5:28 PM IST
    • Share this:
    लंदन. दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में शामिल लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल ब्रिटेन के सबसे दिवालिया व्यक्ति बन गए है. प्रमोद मित्तल के ऊपर इस समय करीब 2.5 अरब पाउंड (लगभग 24 हजार करोड़ रुपये) का कर्ज है और इसे चुकाने के लिए उनके पास फूटी कौड़ी भी नहीं है. आपको बता दे एक समय ऐसा भी था जब 2013 में प्रमोद मित्तल ने अपनी बेटी की शादी डच मूल के इन्वेस्टमेंट बैंकर गुलराज बहल के साथ की थी. इस शादी में प्रमोद मित्तल ने 500 करोड़ रुपये खर्च किए थे. वहीं इसी दौरान लक्ष्मी निवास मित्तल ने अपनी बेटी की शादी पर 400 करोड़ रुपये खर्च किए थे.

    केवल 1.5 करोड़ रुपये की संपत्ति के मालिक है प्रमोद मित्तल- प्रमोद मित्तल के अनुसार उनके पास अब सिर्फ 1,10,000 पाउंड यानी 1.5 करोड़ रुपये की संपत्ति है. प्रमोद मित्तल ने कहा, उनके पास 7000 पाउंड की ज्वैलरी, 66,669 पाउंड के शेयर और दिल्ली में 45 पाउंड की जमीन है. जबकि उन्हें अपने 94 वर्षीय पिता को 17 करोड़ पाउंड (करीब 16 अरब 27 करोड़ रुपये), अपनी पत्नी संगीता को 11 लाख पाउंड (करीब साढ़े 10 करोड़ रुपये), अपने 30 वर्षीय बेटे दिव्येश को 24 लाख पाउंड (करीब 23 करोड़ रुपये) और अपने 45 वर्षीय बहनोई अमित लोहिया को 11 लाख पाउंड (करीब साढ़े 10 करोड़ रुपये) लौटाने हैं. इससे अलावा कंपनियों का उन पर अरबों रुपए का बकाया है.

    यह भी पढ़ें: सड़क पर आए दिवालिया कंपनी Cox & Kings के कर्मचारी, सब्जी बेचने को मजबूर



    14 साल पहले का एक निर्णय बना परेशानी का सबब- 14 साल पहले प्रमोद मित्तल ने बोस्नियाई कोक निर्माता कंपनी के लोन का गारंटर बनने की सहमति जताई थी. इसके बाद से ही प्रमोद मित्तल को लगातार नुकसान झेलना पड़ रहा है. उनकी कंपनी ग्लोबल स्टील होल्डिंग्स, जीआईकेआईएल के लिए गारंटर बनी और बाद में यह कंपनी दिवालिया हो गई और मूरगेट इंडस्ट्रीज से लिया गया कर्ज नहीं लौटा सकी. जब प्रमोद मित्तल तय डेडलाइन पर मूरगेट इंडस्ट्रीज का पैसा नहीं लौटा सके तब उनकी कंपनी के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू की गई.
    यह भी पढ़ें: SEBI ने किर्लोस्कर फैमिली पर लगाया 31 करोड़ का जुर्माना, बाजार में कारोबार पर भी लगी रोक

    मूरगेट इंडस्‍ट्रीज के पक्ष में कोर्ट ने सुनाया फैसला- 2017 में आर्बिटरेशन कोर्ट ने एक अन्य बोस्नियाई दिवालिया कंपनी के मामले में फैसला मूरगेट इंडस्‍ट्रीज के पक्ष में सुनाया. तब प्रमोद मित्तल ही इस कंपनी के भी लोन गारंटर थे और उसका कर्ज भी इनके माथे ही आया. इसके बाद मूरगेट इंडस्‍ट्रीज कोर्ट चली गई और जून 2020 में कोर्ट ने प्रमोद मित्तल के खिलाफ दिवालिया आदेश दिया. कोर्ट ने प्रमोद मित्तल को 139,786,656 पाउंड यानी करीब 14,000 करोड़ रुपये के अलावा 10,000 करोड़ रुपये का ब्याज नहीं चुकाने पर दिवालिया आदेश सुनाया. अब प्रमोद मित्‍तल कह रहे हैं कि लेनदारों को उनके द्वारा दिए गए हर पाउंड के लिए 0.18 पेंस वापस लेकर एक समझौते पर सहमत हो जाना चाहिए.

    लक्ष्मी निवास मित्तल ने किया किनारा- प्रमोद मित्तल के बड़े भाई लक्ष्मी मित्तल उनकी मदद नहीं कर रहे हैं. इससे पहले लक्ष्मी निवास मित्तल अपने भाई की दो बार मदद कर चुके है. एक बार प्रमोद मित्तल को धोखाधड़ी के मामले में फंसने के बाद बचाया था और दूसरी बार 84 करोड़ रुपये के संदिग्ध निकासी का आरोप में 92 करोड़ रुपये की जमानत राशि अदा करके रिहा कराया था
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज