Home /News /business /

इन 50 बड़ी कंपनियों के स्टॉक नहीं दे पा रहे मुनाफा, देखें आपने भी तो नहीं लगा रखा है पैसा

इन 50 बड़ी कंपनियों के स्टॉक नहीं दे पा रहे मुनाफा, देखें आपने भी तो नहीं लगा रखा है पैसा

नए खुदरा निवेशकों के उच्च जोखिम वाले स्टॉक खरीदने से ब्लू चिप कंपिनयों पर पड़ा है असर

नए खुदरा निवेशकों के उच्च जोखिम वाले स्टॉक खरीदने से ब्लू चिप कंपिनयों पर पड़ा है असर

Nifty 50 Companies Stocks Underperformed : दो साल से इक्विटी बाजार में तेजी के बावजूद मार्केट कैप के लिहाज से टॉप-100 घरेलू कंपनियों के शेयरों में 50 का प्रदर्शन निफ्टी बेंचमार्क कम रहा है. तेजी के बावजूद इन कंपनियों के शेयर मुनाफा देने में नाकाम रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. पिछले दो साल से इक्विटी बाजार (Equity Market) में तेजी के बावजूद मार्केट कैप (Market Cap) के लिहाज से टॉप-100 घरेलू कंपनियों के शेयरों (Domestic Companies Stocks) में 50 का प्रदर्शन निफ्टी बेंचमार्क (Nifty Benchmark) से कम रहा है. बाजार में तेजी के बावजूद इन कंपनियों के शेयर मुनाफा देने में नाकाम रहे हैं. विश्लेषकों का मानना है कि निवेशक नए पब्लिक इश्यू (Public Issues), मिडकैप (Mid caps) और स्मॉलकैप (Small caps) पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं. इस वजह से इन ब्लू चिप (Blue chips) कंपनियों के शेयरों को लाइम लाइट नहीं मिल पा रही है. निवेशकों के दूरी बनाए रखने से इनमें से कुछ कंपनियों के शेयरों के मूल्यांकन पर भी असर पड़ सकता है.

इक्विनॉमिक्स रिसर्च एवं एडवाइजरी के सीईओ जी चोकालिंगम का कहना है कि मार्च, 2020 में महामारी के बाद से इक्विटी बाजारों में हाथ आजमाने वाले 3-4 करोड़ नए खुदरा निवेशक (Retail Investors) उच्च जोखिम वाले स्टॉक खरीद (Buying High Risk Stocks) रहे हैं. इसका असर इन ब्लू चिप कंपनियों के शेयर पर पड़ा है. इनमें से कुछ शेयरों का ही प्रदर्शन बेहतर रहा है.

ये भी पढ़ें- कार खरीदने के लिए अब नहीं लेना पड़ेगा Loan, बस करना होगा ये काम

ये कंपनियां, जिन्होंने निवेशकों की नहीं कराई कमाई
निफ्टी की जिन 50 कंपनियों का प्रदर्शन पिछले दो साल में बेहतर नहीं रहा है, उनमें एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank), एचयूएल (HUL), एचडीएफसी (HDFC), भारती एयरटेल (Bharti Airtel), कोटक बैंक (Kotak Bank), मारुति (Maruti), ओएनजीसी (ONGC) और नेस्ले (Nestle) शामिल हैं. आईटीसी (ITC), एक्सिस बैंक (Axis Bank), कोल इंडिया (Coal India), बीपीसीएल (BPCL), आईसीआईसीआई लोम्बार्ड (ICICI Lombard), कोलगेट (Colgate), पेट्रोनेट (Petronet), इंद्रप्रस्थ गैस (Indraprastha Gas) और फेडरल बैंक (Federal Bank) जैसी कंपनियों के शेयर तो पिछले दो साल से अपनी कीमतों से नीचे कारोबार कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- बस खत्म होने वाली Google और Apple की बादशाहत, स्मार्टफोन के लिए अब अपना ऑपरेटिंग सिस्टम बनाएगा भारत

130 फीसदी उछल चुका है निफ्टी
दरअसल, 25 जनवरी 2020 के बाद से निफ्टी (Nifty) में 42.57 फीसदी की तेजी देखने को मिली है. 23 मार्च 2020 के बाद से इंडेक्स (Index) 130 फीसदी तक उछल चुका है. एक समय यह महामारी के कारण तेज बिकवाली से चार साल के निचले स्तर 7511 पर पहुंच गया था.

ये भी पढ़ें- PMC बैंक का यूनिटी स्मॉल फाइनेंस में हुआ मर्जर, जानें ग्राहकों के पैसे का क्या होगा

ज्यादा मूल्यांकन ने भी डुबोया
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर का कहना है कि इन ब्लू चिप शेयरों में कइयों का प्रदर्शन इसलिए खराब रहा, क्योंकि इनका मूल्यांकन बहुत ज्यादा था. महामारी के प्रकोप की वजह से निवेशकों के भरोसे पर टिक न सके. इसकी शुरुआत अर्थव्यवस्था के कमजोर प्रदर्शन के बाद शुरू हुई. इसका असर कंपनियों की संपत्ति की गुणवत्ता, कर्ज में बढ़ोतरी, मूल्य निर्धारण और मुनाफे पर देखने को मिला. इसके अलावा, विदेशी निवेशकों की बिकवाली के कारण अक्टूबर 2021 से बैंकों की हालत बिगड़ी है. कई एफएमसीजी कंपनियों के शेयरों ने भी उच्च मूल्यांकन के कारण खराब प्रदर्शन किया.

Tags: Share market, Stock market, Stocks

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर