Home /News /business /

Stock Market Crash: इन 4 प्रमुख कारणों से शेयर बाजार में हाहाकार मचा, डिटेल में समझें सबकुछ

Stock Market Crash: इन 4 प्रमुख कारणों से शेयर बाजार में हाहाकार मचा, डिटेल में समझें सबकुछ

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज निफ्टी (NIFTY 50) भी करीब 300 अंकों की गिरावट के साथ 17,238.60 पर ट्रेड कर रहा था.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज निफ्टी (NIFTY 50) भी करीब 300 अंकों की गिरावट के साथ 17,238.60 पर ट्रेड कर रहा था.

Stock Market Update: कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वेरिएंट का असर भारतीय बाजार पर स्पष्ट रूप से देखने को मिल रहा है. भारतीय बाजारों में ऑटो, बैंक और ऊर्जा स्टॉक सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं. मुंबई शेयर बाजार संवेदी सूचकांक सेंसेक्स (BSE SENSEX) लगभग 1384.06 अंकों की गिरावट के साथ 57,428.83 के स्तर पर ट्रेड करता दिखाई दिया. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज निफ्टी (NIFTY 50) भी 394.90 अंकों की गिरावट के साथ 17,141 पर ट्रेड कर रहा था.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. भारत का स्टॉक मार्केट (Indian stock markets) में आज बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है. बाजार खुलते ही धड़ाम हो गया. इसके बाद तो शेयर बाजार में हाहाकार (Share Market Crash) मच गया. हर मिनट पर तेज उठापटक होने लगी. मुंबई शेयर बाजार संवेदी सूचकांक सेंसेक्स (BSE SENSEX) लगभग 1,300 अंकों की गिरावट के साथ 57,814 के स्तर पर ट्रेड करता दिखाई दिया. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज निफ्टी (NIFTY 50) भी करीब 300 अंकों की गिरावट के साथ 17,145 पर ट्रेड कर रहा था. मार्केट एक्सपर्ट बता रहे हैं कि दुनियाभर में कोरोना के नए वेरिएंट के एक्टिव होने से मची खलबली का असर बाजार पर भी देखने को मिल रहा है.

दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वेरिएंट (Covid-19 New Variant) के मामले मिलने के बाद दुनियाभर में खलबली मच गई है. दक्षिण अफ्रीका के वायरोलॉजिस्ट ट्यूलियो डी ओलिवेरा ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका (Covid strain in South Africa) में मल्टीपल म्यूटेशन वाला कोविड वेरिएंट सामने आया है. इसके बाद यूनाइटेड किंगडम (UK) ने 6 अफ्रीकी देशों (UK Bans Flights) से उड़ानों के अस्थायी निलंबन की घोषणा की है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वेरिएंट का असर भारतीय बाजार पर स्पष्ट रूप से देखने को मिल रहा है. भारतीय बाजारों में ऑटो, बैंक और ऊर्जा स्टॉक सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं. उप-सूचकांक (sub-indexes) 1.5 परसेंट और 1.7 परसेंट के बीच नीचे ट्रेड कर रहे हैं. निफ्टी फार्मा इंडेक्स एकमात्र सब-इंडेक्स था जिसने 2 फीसदी के उछाल के साथ काम कर रहा है.

गिरावट के बाद भी डॉ. रेड्डी में उछाल
सुबह 10.30 बजे बीएसई सेंसेक्स में दर्ज तमाम कंपनियां लाल निशान पर ट्रेड करती दिखाई दीं. केवल डॉक्टर रेड्डी (DRREDDY) का स्टॉक 2.71 फीसदी के उछाल के साथ 4717 ट्रेड कर रहा था.

Sensex

निफ्टी भी हुआ धड़ाम
निफ्टी में दर्ज 50 में से 47 स्टॉक में गिरावट देखने को मिली. यहां भी फार्मा कंपनियां डॉक्टर रेड्डी, सिप्ला और DIVILAB हरे निशान पर ट्रेड कर रहे थे.

Nifty

टाटा मोटर्स में बड़ी गिरावट
ऑटो कंपनियों के शेयर एक के बाद एक करके धड़ाम होते चले गए. सबसे ज्यादा गिरावट टाटा मोटर्स के स्टॉक में दर्ज की गई. TATAMOTORS का स्टॉक 5.33 फीसदी की गिरावट के साथ 466 पर ट्रेड करते देखे गए.

मारुति में 4.17 फीसदी तो ओएनजीसी में 4 फीसदी की गिरावट देखी गई. टाटा स्टील का स्टॉक 3.85 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1126 रुपये पर हिचकोले खा रहा था.

बाजार गिरने के मुख्य कारण
मार्केट एक्सपर्ट की मानें तो भारतीय बाजार के गिरने के पीछे कई इंटरनेशल कारण हैं. कोरोनावायरस का नया वेरिएंट (COVID threat), कच्चे तेल में गिरावट (crude oil slump), मैटल और फाइनेंशियल (metals and financials) बेंचमार्क का टूटना और एशियाई बाजारों को हुए नुकसान (losses in Asian bourses) का असर भारत के स्टॉक मार्केट पर देखने को मिल रहा है.

कोरोनावायरस का नया वेरिएंट (Fresh COVID worries)
विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organisation) ने दक्षिण अफ्रीका में वायरस के एक नए वेरिएंट का पता लगाया है. कोरोना का यह नया रूप (new variant of COVID-19 virus) पहले से कहीं ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है. और यह वेरिएंट तेजी से फैल रहा है.

स्वास्थ्य संगठन ने इस नए वेरिएंट पर चर्चा के लिए आपात बैठक बुलाई है. डब्ल्यूएचओ (WHO) का कहना है कि इस नए वेरिएंट पर कोविड का टीका भी बेअसर है.

कोविड के नए वेरिएंट को लेकर पूरी दुनिया में उथल-पुथल मच गई है. ब्रिटेन ने कई देशों से अपनी उड़ान सर्विस को बंद कर दिया है. यूके के स्वास्थ्य सचिव साजिद जाविद ने ट्वीट कर कहा, ‘स्वास्थ्य विभाग एक नए संस्करण की जांच कर रहा है और अधिक डेटा की आवश्यकता है लेकिन हम अभी सावधानी बरत रहे हैं.’ उन्होंने कहा, ‘शुक्रवार दोपहर से छह अफ्रीकी देशों को रेड लिस्ट में जोड़ा जाएगा. उड़ानों पर अस्थायी रूप से प्रतिबंध लगा दिया जाएगा और ब्रिटेन के यात्रियों को क्वारंटीन में रहना होगा.’

एशियाई बाजार में गिरावट (Asian markets Update)
यूरोप में कोरोना के फिर से सक्रिय होने के चलते फिर से हलचल मचनी शुरू हो गई है. यूरोप के कई देश अपने यहां उड़ानों पर रोक लगाने की तैयारी कर रहे हैं, जिसका सीधा असर कारोबार पर देखने को मिल रहा है. हवाई यात्राएं फिर से बाधित होने से निवेशक हताश हैं. निवेशकों की इस हताशा के चलते एशियाई बाजारों में बड़ी गिरावट देखी जा रही है.

जापानी निक्केई 225 (Japanese Nikkei 225) में 800 अंकों से ज्यादा की गिरावट देखी गई. निक्केई 225 आज 28,700 पर लाल निशान के साथ ट्रेड कर रहा था.

ऑस्ट्रेलियाई एसएंडपी एएसएक्स 200 (Australian S&P ASX) में भी बड़ी गिरावट देखी गई. ऑस्ट्रेलियाई बाजार 128 अंक नीचे था. और शंघाई कंपोजिट इंडेक्स (Shanghai Composite Index) 0.6 प्रतिशत गिरकर 3,562.09 अंक पर आ गया.

कच्चे तेल में गिरावट (Crude Oil price)
भारतीय बाजार पर कच्चे तेल की कीमतों का भी सीधा-सीधा असर पड़ता है. अमेरिका के नेतृत्व में प्रमुख तेल उपभोक्ताओं के बीच कच्चे तेल के भंडार को जारी किए जाने के बाद तेल की कीमतें शुक्रवार को एक प्रतिशत से अधिक गिर गईं. ब्रेंट क्रूड वायदा (Brent crude futures) 1.2 प्रतिशत गिरकर 81.26 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया. यूएस वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट (डब्ल्यूटीआई) क्रूड 1.35 डॉलर या 1.7 प्रतिशत की गिरावट के साथ 77.04 डॉलर प्रति बैरल पर था.

मेटल और फाइनेंशियल सेक्टर पर दबाव
निफ्टी मेटल इंडेक्स सुबह 10:40 पर 3 प्रतिशत नीचे था और इसमें शामिल सभी स्टॉक्स लाल रंग पर ट्रेड कर रहे थे. निफ्टी पर सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाले फाइनेंशियल्स में भी शुक्रवार को भारी बिकवाली देखी गई. शुक्रवार को निफ्टी बैंक इंडेक्स में 2.9 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार हुआ.

Tags: BSE Sensex, Nifty, Share market, Stock market

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर