कोरोना वैक्सीन ट्रायल रुकने की खबर से दुनियाभर के बाजारों में आई भारी गिरावट, भारतीय शेयर बाजार पर होगा सीधा असर

कोरोना वैक्सीन ट्रायल रुकने की खबर से दुनियाभर के बाजारों में आई भारी गिरावट, भारतीय शेयर बाजार पर होगा सीधा असर
अमेरिकी शेयर बाजार का प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स डाओ जोंस मंगलवार को 632 अंक गिरकर बंद हुआ.

Global Stock Market Crash- मंगलवार को अमेरिकी शेयर बाजारों में भारी गिरावट देखने को मिली है. इसी का असर आज एशियाई बाजारों पर दिख रहा है. जापान का बेंचमार्क इंडेक्स निक्केई 400 अंक, चीन और दक्षिण कोरिया बाजार 2 फीसदी से ज्यादा लुढ़क गए है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 9, 2020, 8:58 AM IST
  • Share this:
मुंबई. फार्मा कंपनी एस्ट्राज़ेनेका (AstraZeneca) और ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन (Oxford covid-19 Vaccine) के ह्यूमन ट्रायल में शामिल एक व्यक्ति के बीमार पड़ने के बाद इसे रोक दिया गया है. इस खबर के चलते अमेरिकी और यूरोपीय शेयर बाजारों में भारी गिरावट देखने को मिली. अमेरिकी शेयर बाजार का प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स डाओ जोंस मंगलवार को 632 अंक गिरकर बंद हुआ. वहीं, टेक्नोलॉजी शेयरों वाले इंडेक्स नैस्डैक में 4 फीसदी से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि इन संकेतों का असर आज घरेलू शेयर बाजार पर भी दिखेगा. भारतीय शेयर बाजार के प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स और निफ्टी में तेज गिरावट आ सकती है.

एशियाई बाजारों में आई भारी गिरावट- अमेरिकी शेयर बाजार में गिरावट के चलते एशियाई बाजारों में भी तेज बिकवाली देखने को मिल रही है. जापान के बेंचमार्क इंडेक्स निक्केई 1.50 फीसदी गिरकर 22922 के स्तर पर आ गया है. चीन का बेंचमार्क इंडेक्स शंघाई 1.30 फीसदी गिरकर 3273 के स्तर पर है.

भारत पर होगा बड़ा असर- एक्सपर्ट्स का कहना है कि चीन और भारत के बीच चल रही टेंशन की वजह से पहले ही भारतीय बाजारों पर दबाव दिख रहा है. अब इस खबर से तेज गिरावट आने की आशंका है. हालांकि, अच्छी खबर क्रूड कीमतों में गिरावट से आई है.



VIDEO- ग्लोबल शेयर बाजारों में गिरावट क्यों आई?


एस्ट्राज़ेनेका ने कहा कि यह एक रूटीन रुकावट है क्योंकि परीक्षण में शामिल व्यक्ति की बीमारी के बारे में अभी तक कुछ समझ में नहीं आ रहा है. ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में वैक्सीन के ट्रायल पर पूरी दुनिया की निगाहें टिकी हुईं हैं. इस वक्त दुनिया भर में क़रीब एक दर्जन जगहों पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है लेकिन जानकारों का मानना है कि ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी का ट्रायल सबसे आगे है.

ये दूसरी बार हुआ है जब ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में कोरोना वायरस के वैक्सीन के ट्रायल को रोका गया है. बड़े ट्रायल में ऐसा होना बहुत सामान्य बात है और जब कभी भी परीक्षण में शामिल किसी व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया जाता है और उसके बीमार पड़ने का कारण फौरन पता नहीं चल पाता है तो ट्रायल को रोक दिया जाता है.माना जा रहा है कि कुछ दिनों में ट्रायल दोबारा शुरू होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज